देशभर में प्याज कारोबारियों के 100 ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमारी

हर साल त्योहारी सीजन से पहले बढ़ जाते हैं प्याज के दाम.
हर साल त्योहारी सीजन से पहले बढ़ जाते हैं प्याज के दाम.

नासिक (Nashik) का लासालगांव बाजार प्याज (onion) का बड़ा बाजार कहा जाता है. देशभर में यहां से दूसरे बाजारों को प्याज सप्लाई होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2019, 3:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देशभर में हर रोज प्याज (Onion) के दाम ऊपर-नीचे हो रहे हैं. रिटेल में प्याज के दाम 100 रुपये किलो तक पहुंच गए हैं. रविवार को भी दिल्ली (Delhi) के बाजारों में 80 से 100 रुपये किलो तक प्याज बिक रही थी. प्याज बाजार में कालाबाजारी (black marketing) की आशंका के चलते सोमवार को देशभर में प्याज कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई. इनकम टैक्स की टीमों ने 100 से अधिक ठिकानों पर एक साथ छापे मारे.

कारोबारियों के इन ठिकानों पर मारे गए छापे
इनकम टैक्स मुख्यालय की मानें तो देशभर में इनकम टैक्स की अलग-अलग टीमों ने दिल्ली, राजस्थान, गुजरात, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, नागपुर, नासिक और मुंबई आदि में प्याज कारोबारियों के ठिकाने पर छापे मारे हैं. छापे में कारोबारियों के प्याज स्टाक चेक किए गए.

देशभर में छापेमारी का ये है मकसद
जानकारों की मानें तो इनकम टैक्स की छापेमारी का मकसद बाजार में प्याज के स्टाक को चेक करना है. प्याज के हर रोज घटते-बढ़ते दामों पर लगाम लगाना है. सूत्र बताते हैं कि इनकम टैक्स विभाग छापेमारी से ये पता करना चाहता है कि प्याज के थोक कारोबारियों के पास प्याज का कितना स्टाक है और रिटेल विक्रेताओं के पास कितनी प्याज है. विभाग को आशंका है कि बाजार में प्याज स्टाक किया जा रहा है और उसे दाम बढ़ाकर बेचा जा रहा है.



नासिक के लासालगांव बाजार में भी छापेमारी
विभाग के जानकारों का कहना है कि नासिक का लासालगांव बाजार प्याज का बड़ा बाजार कहा जाता है. देशभर में यहां से दूसरे बाजारों को प्याज सप्लाई होती है. सोमवार की दोपहर लासालगांव के बाजार में भी छापेमारी हुई. सभी थोक कारोबारियों के स्टाक खंगाले गए.

ये भी पढ़ें-

सामने आई पाक पीएम इमरान और पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह की बातचीत, चर्चा में है बस यात्रा
JNU: फीस इजाफे के खिलाफ पुलिस से भिड़े छात्र, अंदर उपराष्ट्रपति मौजूद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज