एम्स की टीम ने किया सुप्रीम कोर्ट कैंपस का दौरा, बार निकाय चुनाव ऑनलाइन कराने की दी सलाह

एससीबीए हर साल कार्यकारी समिति के सदस्यों के चुनने के लिए मतदान कराता है.

एससीबीए हर साल कार्यकारी समिति के सदस्यों के चुनने के लिए मतदान कराता है.

सहायक रजिस्ट्रार श्रीकांत जी पई ने एससीबीए के मानद सचिव (कार्यवाहक) को पत्र लिखकर 30 जनवरी को एम्स की स्वास्थ्य परामर्श समिति की रिपोर्ट के बारे में सूचित किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) की रजिस्ट्री ने सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (SCBA) को सूचित किया कि एम्स (AIIMS) की स्वास्थ्य सलाहकार टीम ने अपनी रिपोर्ट में बड़े पैमाने पर भीड़ जुटने की संभावना के कारण कोविड-19 (Covid-19) फैलने की आशंका को देखते हुए बार निकाय का चुनाव (body elections) केवल ऑनलाइन (online) कराने का सुझाव दिया है. सहायक रजिस्ट्रार श्रीकांत जी पई ने एससीबीए के मानद सचिव (कार्यवाहक) को पत्र लिखकर 30 जनवरी को एम्स की स्वास्थ्य परामर्श समिति की रिपोर्ट के बारे में सूचित किया है.

एम्स की टीम ने वकीलों और अधिकारियों से चर्चा की

स्वास्थ्य परामर्श टीम ने कहा, ‘उच्चतम न्यायालय के अतिरिक्त रजिस्ट्रार द्वारा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली के निदेशक को लिखे पत्र का संदर्भ लेते हुए एम्स की टीम ने उच्चतम न्यायालय परिसर का दौरा किया और मामले पर वकीलों और अदालत के अधिकारियों से चर्चा की.’ टीम ने कहा, ‘बड़े पैमाने पर लोगों के इकट्ठा होने के मद्देनजर कोविड-19 का प्रसार होने की आशंका और ऑनलाइन माध्यम के सुरक्षित होने की व्यावहारिकता को देखते हुए यह अनुशंसा की जाती है कि चुनाव केवल ऑनलाइन माध्यम से हों.’

चुनाव कराने से पहले स्वास्थ्य विशेषज्ञों की राय पर गौर करने की सलाह
प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे ने इससे पहले एससीबीए के प्रतिनिधियों से चुनाव कराने से पहले स्वास्थ्य विशेषज्ञों की राय पर गौर करने का आह्वान किया था. बार एसोसिएशन के कुछ नेताओं ने ऑनलाइन चुनाव का विरोध किया था और वे ऑनलाइन के साथ मतपत्र से भी मतदान करने का विकल्प चाहते हैं. उल्लेखनीय है कि एससीबीए हर साल कार्यकारी समिति के सदस्यों के चुनने के लिए मतदान कराता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज