• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Mission Admission 2021: सरकारी स्‍कूलों में दाखिले में हो रही परेशानी, छात्रों के लिए हेल्‍पलाइन लांच

Mission Admission 2021: सरकारी स्‍कूलों में दाखिले में हो रही परेशानी, छात्रों के लिए हेल्‍पलाइन लांच

सरकारी स्‍कूलों में दाखिले में आ रही परेशानियों को लेकर ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन ने हेल्‍पलाइन जारी की है.

सरकारी स्‍कूलों में दाखिले में आ रही परेशानियों को लेकर ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन ने हेल्‍पलाइन जारी की है.

Mission Admission 2021: ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन की ओर से छात्रों की मदद के लिए गूगल डॉक पर बनी इस हेल्‍पलाइन की लिंक यह https://forms.gle/EGTBiWeJe7hPiDNE6 है. इसके अलावा छात्र इन नंबरों 981101923 और 9662778086 पर भी संपर्क कर सकतें हैं.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. देशभर में सरकारी स्‍कूलों में दाखिले के लिए अड़चनों का सामना कर रहे छात्रों और उनके अभिभावकों के लिए हेल्‍पलाइन लांच की गई है. ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन की ओर से लांच की गई इस हेल्‍पलाइन के माध्‍यम से न केवल एडमिशन के दौरान आ रही परेशानियों का समाधान किया जाएगा बल्कि जरूरत पड़ने पर कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया जाएगा.

    ऑल इंडिया पेरेंट्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष और एजुकेशन एक्टिविस्‍ट एडवोकेट अशोक अग्रवाल और एडवोकेट कुमार उत्‍कर्ष की ओर से यह हेल्‍पलाइन बनाई गई है. मिशन एडमिशन 2021 को लेकर आईपा की इस हेल्‍पलाइन पर देशभर से कोई भी छात्र और अभिभावक सरकारी स्‍कूलों में दाखिले संबंधी शिकायतें दे सकता है. गूगल डॉक पर बनी इस हेल्‍पलाइन की लिंक यह https://forms.gle/EGTBiWeJe7hPiDNE6 है. इसके अलावा छात्र इन नंबरों 981101923 और 9662778086 पर भी संपर्क कर सकतें हैं.

    इस हेल्‍पलाइन में शिकायत करने और मदद के लिए छात्रों को अपना नाम,लिंग, जन्‍म की तारीख, कक्षा जिसमें प्रवेश लेना है, स्‍कूलों की ओर से प्रवेश से इनकार करने का कारण, स्‍कूल का नाम जहां प्रवेश लेना है, माता पिता का नाम, पूरा पता और संपर्क के लिए नंबर दर्ज कराना है. यह जानकारी देने के बाद हेल्‍पलाइन का संचालन कर रहे एडवोकेट अशोक और कुमार बच्‍चों से संपर्क करेंगे और समाधान की कोशिश करेंगे.

    इस बारे में एडवोकेट अशोक ने बताया कि देशभर में सरकारी स्‍कूलों में दाखिले के लिए बच्‍चों को परेशान किया जा रहा है. दिल्ली के सरकारी स्‍कूलों से ही कई शिकायतें दाखिला न देने की मिल चुकी हैं जिन पर नोटिस भी भेजे गए हैं. कहीं छात्रों से टीसी मांगी जा रही है तो कहीं किसी नोटिफिकेशन का हवाला देकर छात्रों को लौटाया जा रहा है.

    अशोक कहते हैं कि पहले ही कोरोना के कारण करीब 30 फीसदी बच्‍चे सरकारी स्‍कूलों को छोड़ चुके हैं वहीं करीब 15 फीसदी बच्‍चों ने प्राइवेट स्‍कूलों से ड्रापआउट किया है. इसके बावजूद ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं जब सरकारी स्‍कूलों में भी बच्‍चों को किसी न किसी वजह से प्रवेश नहीं मिल रहा है. इसी के लिए ऑल इंडिया लेवल पर हेल्‍पलाइन तैयार की गई है. इसमें जो भी शिकायत आएगी उसका समाधान किया जाएगा.

    वे कहते हैं कि अगर स्‍कूलों को नोटिस देने या किसी अन्‍य तरह से भी दाखिला प्रक्रिया नहीं होती है तो कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जाएगा. ताकि बच्‍चों का भविष्‍य बर्बाद न हो. कोरोना महामारी के कारण बहुत सारे ऐसे अभिभावक हैं जो अपने बच्‍चों को प्राइवेट से सरकारी में ले जाना चाहते हैं लेकिन अभी उसमें भी परेशानियां आ रही हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज