दिल्ली में दशहरे के जश्न के बाद दोगुना हुआ वायु प्रदूषण, आतिशबाजी बनी वजह

दिल्ली (Delhi) का वायु प्रदूषण (Air Pollution) भारत के सबसे खराब शहरों के प्रदूषण में से एक है.
दिल्ली (Delhi) का वायु प्रदूषण (Air Pollution) भारत के सबसे खराब शहरों के प्रदूषण में से एक है.

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) का स्तर बढ़ गया है. दशहरा (Dussehra) पर्व पर पटाखे जलने के बाद वायु प्रदूषण बढ़ा बताया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 1:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण (Air Pollution) का स्तर बढ़ गया है. दशहरा (Dussehra) पर पटाखे जलने के बाद वायु प्रदूषण के स्‍तर में काफी वृद्धि हुई है. बीते रविवार की शाम 6 बजे के बाद प्रदूषण मापने के पांच निगरानी केन्द्रों पर प्रदूषकों की सांद्रता दोगुनी हो गई. प्रदूषण के स्तर में वृद्धि को पांच निगरानी स्टेशनों पर हवा की गति के आधार पर मापा गया. बता दें कि त्‍योहार के मौके पर दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ने का खतरा रहता है.

दिल्ली के पटपड़गंज, इंडिया गेट, द्वारका, नजफगढ़ और मुंडका में प्रदूषण नियंत्रण के पांच मॉनिटरिंग स्टेशन हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यहां रविवार की शाम को दशहरा उत्सव के तहत पटाखे जलाने व रावण दहन के बाद अचानक पीएम 2.5 और 10 माइक्रोमीटर (पीएम 2.5, पीएम 10) के कण में अचानक बढ़ोत्‍तरी दर्ज की गई. इसकी वजह आतिशबाजी को बताया जा रहा है.


कम जले पुतले
बता दें कि इस साल कोरोनो वायरस महामारी के कारण दिल्ली में दशहरा उत्सव अपेक्षाकृत कम स्‍तर पर आयोजित किए गए. पिछले साल की तुलना में इस बार दशहरे पर कम रावण के पुतलों का दहन किया गया और कम पटाखे जलाए गए. हालांकि, अधिकारियों ने कहा कि पटाखे एकमात्र अतिरिक्त वायु प्रदूषण स्रोत थे, जो रविवार शाम 6 बजे के बाद दिल्ली में पाए गए. इससे साफ है कि दशहरा उत्सव में पटाखे जलाने के बाद प्रदूषण के स्तर में वृद्धि हुई.





दोगुना हुआ प्रदूषण
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बीते रविवार को दशहरा उत्सव के बाद सोमवार की सुबह दिल्ली की हवा 'गंभीर' श्रेणी में पहुंच गई है. दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी द्वारा जारी डाटा के मुताबिक सोमवार की सुबह दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 405 रहा. इस सीजन में यह पहली बार है जब दिल्ली की हवा का AQI 405 के पार कर गया है. इससे पहले यानी रविवार को दिल्ली में हवा की गुणवत्ता का स्तर 352 AQI था. विभाग के अधिकारियों के मुताबिक भी कहा कि शहर के अन्य निगरानी स्टेशनों, जैसे बवाना और मंदिर मार्ग ने भी शाम 6 बजे से 9 बजे के बीच प्रदूषण के स्तर में वृद्धि दर्ज की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज