जानकर होगा आश्‍चर्य, दिल-फेफड़े नहीं आपके इन अंगों को भी बीमार कर सकता है प्रदूषण

वायु प्रदूषण सिर्फ फेफड़ो और दिल को ही नहीं पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाता है. (नीदलैंड्स कैंसर इंस्टिट्यूट द्वारा जारी इमेज.)
वायु प्रदूषण सिर्फ फेफड़ो और दिल को ही नहीं पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाता है. (नीदलैंड्स कैंसर इंस्टिट्यूट द्वारा जारी इमेज.)

वायु प्रदूषण (Air Pollution) गर्भावस्‍था (Pregnancy) को प्रभावित करने के साथ ही गर्भ धारण करने की क्षमता और प्रक्रिया पर भी असर डालता है. जिसके चलते सुरक्षित गर्भ को नुकसान होता है और मिसकैरेज (Miscarriage) होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 12:38 PM IST
  • Share this:

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली-एनसीआर के साथ ही देशभर में जहरीली हवा बह रही है. वायु प्रदूषण (Air Pollution) का ग्राफ दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है. एनसीआर के साथ ही कई शहरों की हवा की गुणवत्‍ता (Air Quality) बहुत खराब स्थिति में पहुंच गई है और एयर क्‍वालिटी इंडेक्‍स 350 से भी ऊपर दर्ज किया जा रहा है. ऐसे में प्रदूषण की जद में रह रहे लोगों को शायद ही अंदाजा हो कि प्रदूषण उनके शरीर के हर एक अंग को नुकसान पहुंचा सकता है. विशेषज्ञों की मानें तो एक बार प्रदूषण की चपेट में आए लोगों को गंभीर बीमारियां होने के साथ ही इसका प्रभाव जीवनभर रह सकता है. साथ ही यह शरीर के उन अंगों को भी नुकसान पहुंचा सकता है, जिनके बारे में आमतौर पर लोगों को जानकारी नहीं होती.


सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट में वायु प्रदूषण विशेषज्ञ विवेक चट्टोपाध्‍याय बताते हैं कि पिछले साल ही द फॉरम ऑफ इंटरनेशनल रेस्पिरेटरी सोसायटीज के वैज्ञानिकों की ओर से द जर्नल चेस्‍ट में दो रिव्‍यू पेपर्स प्रकाशित किए गए थे. जिनमें वायु प्रदूषण से शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में बहुत बारीकी से बताया गया था. पेपर्स में कहा गया था कि वायु प्रदूषण हमारे शरीर के हर एक अंग को प्रभावित करता है. यहां तक कि यह मानव शरीर की सभी सेल्‍स को नुकसान पहुंचाता है. रिसर्च बताता है कि जहरीली हवा शरीर के अंदर पहुंचकर सर से लेकर पैर के अंगूठे तक, दिल, फेफड़े, लिवर, ब्‍लैडर, हड्डियों, त्‍वचा डैमेज तक कर सकती है.

प्रदूषण के ये बेहद महीन कण सबसे पहले श्‍वास के माध्‍यम से फेफड़ों (Lungs) में पहुंचते हैं जहां से सेल इन्‍हें उठा लेती हैं और फिर ये खून के माध्‍यम से पूरे शरीर की कोशिकाओं तक पहुंच जाते हैं. वायु प्रदूषण का फेफड़े और दिल पर नुकसान सिर्फ एक छोटा हिस्‍सा भर है, जबकि इससे शरीर की हर एक कोशिका पर पड़ने वाला प्रभाव काफी खतरनाक है.

विवेक बताते हैं कि डब्‍ल्यूएचओ (WHO) भी मानता है कि तंबाकू, धूम्रपान करने वालों की अपेक्षा वायु प्रदूषण से मरने वालों की संख्‍या कहीं ज्‍यादा है. डब्‍ल्‍यूएचओ ने इसे साइलेंट किलर (Silent Killer) का भी नाम दिया है जो चुपके से हमारे शरीर में प्रवेश कर नुकसान पहुंचाता रहता है. वहीं हजारों की संख्‍या में हुई रिसर्च भी यही कहती हैं कि मानव शरीर पर वायु प्रदूषण का प्रभाव बहुत खराब पड़ता है.
इन अंगों पर पड़ता है प्रभाव, जानकर हो जाएंगे हैरान



सांस के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश करने वाले प्रदूषित कणों (Pollutants) को लेकर अभी तक यही कहा जाता है कि यह फेफड़ों और दिल को खासा नुकसान पहुंचाता है. यहां तक कि अस्‍थमा से लेकर फेफड़ों के कैंसर (Lung Cancer) और आर्टरी ब्‍लॉक होने से हर्ट डिजीज या हर्ट अटैक (Heart Attack) का भी खतरा वायु प्रदूषण के प्रभाव में आने से बहुत ज्‍यादा होता है. रिसर्च बताती हैं कि वायु प्रदूषण मस्तिष्‍क, इम्‍यून सिस्‍टम (Immune System), पेट के सभी अंग जैसे किडनी (Kidney), पैनक्रियाज, ब्‍लैडर, गर्भावस्‍था (Pregnancy), गर्भ धारण करने की क्षमता, हड्डियों, त्‍वचा पर पड़ता है. इससे रेस्पिरेटरी डिजीज मृत्‍यु दर (Death Rate) बढ़ जाती है. इसके अलावा यह कई प्रकार के कैंसर और सिन्‍ड्रोम (Syndrome), न्‍यूमोनिया, हाई ब्‍लड प्रेशर, दोनों प्रकार की डायबिटीज आदि बीमारियों का जन्‍मदाता है.

मस्तिष्‍क (Brain) और दिमाग (Mind) पर पड़ता है खतरनाक प्रभाव

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज