Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली में वायु प्रदूषण के चलते किन चीजों पर पाबंदी और कहां राहत, यहां जानें सब कुछ

दिल्ली में वायु प्रदूषण के चलते किन चीजों पर पाबंदी और कहां राहत, यहां जानें सब कुछ

दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली में कुछ चीजों को अस्थाई रूप से बैन कर दिया है. demo pic

दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली में कुछ चीजों को अस्थाई रूप से बैन कर दिया है. demo pic

Delhi-NCR Pollution News: दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण के असर को देखते हुए 15 साल पुराने डीजल और पेट्रोल के वाहनों पर भी रोक लगा दी गई है. दिल्ली की सड़कों पर चलने वाले ऐसे वाहनों का चालान काटा जा रहा है. वाहनों को सीज भी किया जा रहा है. इतना ही नहीं जिन वाहनों की उम्र अभी 15 साल से कम है और वो प्रदूषण फैला रहे हैं व् उनकी प्रदूषण जांच नहीं कराई गई है और उनके पास पीयूसीसीएल सर्टिफिकेट भी नहीं है तो उनका 10 हजार रुपए का चालान काटा जा रहा है. वायु प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए दिल्ली सरकार के साथ ही केन्द्र सरकार ने भी ये कदम उठाया है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. अक्टूबर से ही वायु प्रदूषण दिल्ली-एनसीआर वालों को परेशान करने लगता हैं. अस्पतालों तक में भीड़ बढ़ जाती है. आंखों में जलन और गले में खराश होने लगती है. इसी के चलते दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली में कुछ चीजों को अस्थायी रूप से बैन कर दिया है. वहीं सरकारी आदेश का पालन नहीं करने और वायु प्रदूषण फैलाने वालों पर जुर्माना लगाया जा रहा है. जब वायु प्रदूषण का स्तर घटता है तो बैन में कुछ राहत भी दी जाती है.

    दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ते ही दिल्ली सरकार ने स्कूल-कॉलेज बंद करने का आदेश जारी कर दिया. स्कूली बच्चों पर प्रदूषण का असर न हो इसके लिए 26 नवंबर तक के लिए स्कूल बंद कर दिए गए. ऑनलाइन क्लास चलाने की बात कही गई. वहीं वायु प्रदूषण बढ़ाने में शामिल सबसे बड़े कारणों में से एक निर्माण कार्य पर भी रोक लगा दी गई थी लेकिन शनिवार और रविवार को जैसे ही वायु प्रदूषण का स्तर कुछ कम हुआ तो निर्माण कार्य करने के लिए कुछ राहत दे दी गई. लेकिन इस राहत के साथ 14 पाइंट की गाइड लाइन भी जारी की गई है. गाइड लाइन का पालन करते हुए ही दिल्ली में निर्माण कार्य कराया जा सकेगा. अगर किसी भी एक नियम का पालन नहीं किया गया तो जुर्माना भरना होगा.

    ट्रकों की एंट्री पर रहेगा बैन, लेकिन इन्हें मिलेगी छूट

    दिल्ली में अगले आदेश तक के लिए ट्रकों की एंट्री बैन कर दी गई है. गैर जरूरी सामान लेकर आने वाले ट्रकों को एंट्री नहीं दी जाएगी. डीजल से चलने वाले ट्रकों को किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जा रही है. सीएनजी से चलने वाले कर्मिशियल वाहनों को जरूर कुछ छूट दी गई है. लेकिन दिल्ली में उन्हीं ट्रक को एंट्री दी जा रही है जो खाने-पीने का जरूरी सामान लेकर आ रहे हैं. गौरतलब रहे कि वायु प्रदूषण में पीएम 2.5 बढ़ाने में वाहनों से निकला धुआं भी एक बड़ा कारण होता है.

    सुपरटेक के ट्वीन टावर गिराने में बचे हैं सिर्फ 8 दिन, नोएडा अथॉरिटी ने उठाया ये कदम

    50 फीसद छूट के साथ दिए वर्क फ्रॉम होम के आदेश

    लोग अपने वाहन लेकर सड़कों पर कम निकलें, इसके लिए दिल्ली सरकार ने 50 फीसद छूट के साथ वर्क फ्राम होम के आदेश जारी किए हैं. सभी आफिस को आदेश देते हुए कहा गया है कि अपने-अपने आफिस की कुल संख्या के कर्मचारियों की 50 फीसद संख्या से घर पर और बाकी बची 50 फीसद से आफिस में काम कराया जाए.

    जनरेटर और कूड़ा-करकट जलाने पर भी रहेगी रोक

    धुआं उगलने वाले जनरेटर चलाने पर भी दिल्ली सरकार ने रोक लगा दी है. बाजारों में, होटल-रेस्टोरंट में, शादी-विवाह समारोह में और खासतौर पर रेजीडेंट सोसाइटियों में बड़े-बड़े जनरेटर चलाए जाते हैं. हजारों लीटर डीजल इस दौरान जलकर धुआं छोड़ता है. इसी को देखते हुए जनरेटर पर रोक लगाई गई है. इसके साथ ही सार्वजनिक जगह और सड़क के आसपास कूड़ा-करकट जलाने पर भी रोक लगाने के साथ ही जुर्माने का नियम भी रखा गया है. अभी तक कई जगहों पर खुले में कूड़ा-करकट जलाने पर जुर्माना वसूला गया है.

    Tags: Air pollution, Delhi Government, Delhi-NCR News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर