Home /News /delhi-ncr /

air pollution nitin gadkari says rs 62000 crore being spent to boost road infrastructure reduce pollution in delhi nodvm

Delhi Air Pollution: दिल्ली में प्रदूषण से मिलेगी मुक्ति, 62 हजार करोड़ रुपये की परियोजना पर चल रहा है काम

नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए 62 हजार करोड़ की परियोजना पर काम चल रहा है.

नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए 62 हजार करोड़ की परियोजना पर काम चल रहा है.

Delhi Air Pollution: सड़क संपर्क में बेहतरी को रेखांकित करते हुए गडकरी ने कहा कि अब दिल्ली से मेरठ जाने में सिर्फ 40 मिनट लगते हैं जबकि पहले चार घंटे लगते थे. उन्होंने कहा कि हमारा मकसद निर्माण की लागत को कम करना है और गुणवत्ता को बेहतर बनाना है. नितिन गडकरी ने कहा कि अब प्रतिदिन 38 किलोमीटर की दर से सड़कों का निर्माण किया जा रहा है जो एक रिकॉर्ड है.

अधिक पढ़ें ...

दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण  (Delhi Air Pollution) एक बड़ी समस्या बन चुकी है. दिल्लीवासी जहरीली हवा में सांस लेने के लिए मजबूर हैं. हालांकि, इस दिशा में कई जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. मंगलवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण की समस्या से निपटने और रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण के लिए 62 हजार करोड़ रुपये की परियोजना पर काम चल रहा है. लोकसभा में ‘वर्ष 2022-23 के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों’ पर चर्चा का जवाब देते हुए गडकरी ने राष्ट्रीय राजधानी में लगने वाले जाम का उल्लेख करते हुए बताया कि किस प्रकार से उन्हें और अन्य लोगों को पहले यहां हवाई अड्डा जाने और वहां से आने के क्रम में धौलाकुआं में यातायात जाम का सामना करना पड़ता था.

सड़क संपर्क में बेहतरी को रेखांकित करते हुए गडकरी ने कहा कि अब दिल्ली से मेरठ जाने में सिर्फ 40 मिनट लगते हैं जबकि पहले चार घंटे लगते थे. उन्होंने कहा कि हमारा मकसद निर्माण की लागत को कम करना है और गुणवत्ता को बेहतर बनाना है. नितिन गडकरी ने कहा कि अब प्रतिदिन 38 किलोमीटर की दर से सड़कों का निर्माण किया जा रहा है जो एक रिकॉर्ड है. उन्होंने यह भी साफ किया कि इस मामले में सड़क की लंबाई उसी तरह मापी जाती है जिस तरह संप्रग सरकार के समय किया जाता था.

पेट्रोल बचता है और प्रदूषण भी कम होता है
गडकरी ने कहा कि आज देश की सबसे बड़ी समस्या लॉजिस्टिक लागत है, रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण कच्चे तेल के दाम फिर बढ़ गए हैं और इसके कारण चीजों की कीमत भी बढ़ रही हैं। मंत्री ने कहा कि लॉजिस्टिक की लागत चीन में 8 से 10 प्रतिशत है, जबकि अमेरिका एवं यूरोपीय देशों में यह 12 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि कम दूरी के मार्ग बनने से कोई ट्रक अगर दिल्ली से मुंबई 50 घंटे की जगह 22 घंटे में पहुंचेगा, तो इससे समय बचेगा और डीजल बचेगा. गडकरी ने कहा कि यात्रा में कम समय लगने से पेट्रोल बचता है और प्रदूषण भी कम होता है.

22 ग्रीन एक्सप्रेस हाइवे बन रहे
नितिन गडकरी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए निर्यात बढ़ाना होगा और इसके लिए अंततरराष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धी बनना होगा और लॉजिस्टिक लागत कम करनी होगी. उन्होंने कहा कि इस दिशा में ग्रीन एक्सप्रेस हाईवे से जाम कम होगा, लॉजिस्टिक लागत कम होगी और ईंधन बचेगा. उन्होंने कहा कि ऐसे 22 ग्रीन एक्सप्रेस हाइवे बन रहे हैं.

 (भाषा इनपुट के साथ ) 

Tags: Air pollution, Delhi pollution, Union Minister Nitin Gadkari

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर