Delhi: 21 अक्टूबर से 'रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ' कैंपेन की होगी शुरुआत, तैनात होंगे 2500 मार्शल

दिल्ली में 21 अक्टूबर से प्रदूषण को लेकर एक कैंपेन की शुरुआत होगी.
दिल्ली में 21 अक्टूबर से प्रदूषण को लेकर एक कैंपेन की शुरुआत होगी.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने कहा, 'युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध अभियान के तहत 'Red light On, Gaadi Off' कैंपेन आगामी 21 अक्टूबर से 15 नवंबर तक चलेगा. दिल्ली के 100 व्यस्ततम चौराहों पर 2500 पर्यावरण मार्शल की तैनाती होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 4:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में वायु प्रदूषण (Air Pollution) के बढ़ते स्तर को देखते हुए दिल्ली सरकार (Delhi Government) एक के बाद एक कदम उठा रही है. सोमवार को भी दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने गाड़ियों से निकलने वाले प्रदूषण को लेकर बड़ा कदम उठाया. गोपाल राय ने कहा, 'युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध अभियान के तहत 'Red light On, Gaadi Off' कैंपेन आगामी 21 अक्टूबर से 15 नवंबर तक चलेगा. यह अभियान मुख्य रूप से भीड़ वाले 100 रेड लाइट चौराहों पर चलाया जाएगा. यह कैंपेन लोगों को जागरूक करने के लिए किया जा रहा है.' बता दें कि दिल्‍ली सरकार ने वायु प्रदूषण से निपटने के लिए 'एंटी डस्‍ट कैंपेन' (Anti Dust Campaign) भी चला रही है.

प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार ने उठाया ये कदम
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, 'रेड लाइट पर गाड़ी बंद न होने पर बड़ी मात्रा में धुआं निकलता है. इसे रोकने के लिए रेड लाइट ऑन, व्‍हीकल ऑफ कैंपेन शुरू की जा रही है. इस कैंपेन के जरिए दिल्ली सरकार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी. कोविड के समय में जिंदगी बचाने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे. हमने दिल्ली में पराली को गलाने के लिये बॉयो डिकम्पोज़र का छिड़काव का काम शुरू किया है. अब 21 अक्टूबर से दिल्ली में रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ कैंपेन लांच होगा. ये दिल्ली के 2 करोड़ लोगों का कैंपेन है. इसमे सभी को अपनी इच्छा से योगदान करना है. सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक यह कैंपेन चलेगा.'
जन आंदोलन बनाने के लिए दिल्ली सरकार ने शुरू की मुहिमइस अभियान को एक जन आंदोलन बनाने के लिए दिल्ली के सभी सांसद, विधायक और पार्षदों को पत्र लिखा जाएगा कि वो अपने अपने इलाकों में लोगों को जागरूक करें. गोपाल राय ने कहा कि सभी पार्टियों को, RWA, मार्किट एसोसिएशन, औद्योगिक संगठन, एनजीओ (NGO), ऑफिसर्स एसोसिएशन, ट्रेड यूनियन को दिल्ली सरकार की ओर से पत्र जाएगा कि इस कैम्पेन में शामिल हों और लोगों को जागरूक करें. इस कैंपेन के जरिए 15-20% व्हीकल पोल्यूशन कम किया जा सकता है. दिल्ली में ऑनलाइन क्लासेज चल रहे हैं, टीचर्स के माध्यम से बच्चों को भी जागरूक करेंगे.  इसको लेकर केजरीवाल ने भी ट्वीट किया है.




100 व्यस्ततम चौराहों पर मार्शल तैनात होंगे
राय ने कहा कि दिल्ली के 100 व्यस्ततम चौराहों की लिस्ट ट्रैफिक पुलिस ने हमें दी है. इस कैंपेन को चलाने के लिए दिल्ली सरकार ने 2500 पर्यावरण मार्शल की नियुक्त की है. हर चौराहे पर 2 शिफ्ट में मार्शल की नियुक्ति होगी. पहली शिफ्ट 8-2 के बीच होगी, जिसमें 10 मार्शल होंगे. दूसरी शिफ्ट 2-8 की होगी. जो बड़े चौराहे होंगे, जैसे ITO इन पर मार्शल की संख्या दोगुनी होगी. 10 चौराहों पर एक्स्ट्रा 200 मार्शल लगाए जाएंगे. 300 मार्शल को रिजर्व में रखा जाएगा. सारे चौराहे 11 जिलों में बंटे हैं. जिले के एसडीएम के दिशा-निर्देश में कल सभी मार्शल्स की ट्रेनिंग का काम पूरा कर लिया गया है.

ये भी पढ़ें: दुनिया के इन 15 देशों में आप भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस से चला सकते हैं गाड़ी, जानें इसके बारे में सबकुछ

दिल्ली सरकार के मुताबिक, इस कैंपेन की मॉनिटरिंग के लिए SDM, ट्रैफिक पुलिस के एसीपी (ACP) और जरूरत पड़ने पर एनफोर्समेंट के लोगों को भी लगाया जाएगा. सभी मार्शल टीशर्ट, कैप और स्टैंडी लेकर खड़े होंगे. शुरुआती 3 दिनों तक ये मार्शल गाड़ी न बंद करने वालों को गुलाब का फूल देकर गांधीगिरी के माध्यम से लोगों को समझाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज