दिल्ली में रविवार तक खराब श्रेणी में पहुंच सकती है 'वायु गुणवत्ता', फिलहाल मध्यम

पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सीमा से लगते पड़ोसी क्षेत्रों में खेतों में पराली जलाने से वायु गुणवत्ता खराब होने लगी. (फाइल फोटो)
पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सीमा से लगते पड़ोसी क्षेत्रों में खेतों में पराली जलाने से वायु गुणवत्ता खराब होने लगी. (फाइल फोटो)

वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air quality index) 0 से 50 के बीच 'अच्छा', 51 से 100 के बीच 'संतोषजनक' (Satisfactory) , 101 से 200 के बीच 'मध्यम', 201 से 300 के बीच 'खराब' (bad) और 301 से 400 के बीच 'बहुत खराब' और 401 से 500 के बीच को 'गंभीर' श्रेणी (Serious' category) में माना जाता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता शनिवार सुबह 'मध्यम' श्रेणी में दर्ज की गई और तापमान गिरने तथा हवा की गति कम रहने से इसके रविवार को 'खराब' श्रेणी में पहुंचने की संभावना है. एक सरकारी पूर्वानुमान एजेंसी ने यह जानकारी दी है. दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर 182 दर्ज किया गया, जो कि मध्यम श्रेणी में आता है. शुक्रवार को वायु गुणवत्ता का औसत 180 रहा था.

वायु गुणवत्ता सूचकांक 0 से 50 के बीच 'अच्छा', 51 से 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 से 200 के बीच 'मध्यम', 201 से 300 के बीच 'खराब' और 301 से 400 के बीच 'बहुत खराब' और 401 से 500 के बीच को 'गंभीर' श्रेणी में माना जाता है. वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान एवं अनुसंधान प्रणाली (सफर) ने बताया है कि, रविवार को वायु की गुणवत्ता खराब श्रेणी में पहुंचने की आशंका है.

यह भी पढ़ें: शोपियां फर्जी मुठभेड़ : मारे गये लोगों के शव कब्र से निकाल कर परिवार को सौंपे



पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सीमा से लगते पड़ोसी क्षेत्रों में खेतों में पराली जलाने के मामले बढ़े हैं और ऐसे में आने वाले दिनों में इसका असर दिल्ली की वायु गुणवत्ता पर पड़ सकता है. दिल्ली में न्यूनतम तापमान में भी कमी दर्ज की गई है.

शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 20.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जो कि सामान्य तापमान से दो डिग्री सेल्सियस कम है और बुधवार तक यह 19 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है. तापमान कम होने और हवा में ठहराव की वजह से प्रदूषक कण जमीन के निकट ही तैरते रहते हैं, जिससे वायु की गुणवत्ता पर असर पड़ता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज