एयरहोस्‍टेस बनवाने का झूठा सपना दिखाकर एयरलाइन कर्मी ने की लाखों रुपए की धोखाधड़ी

एयरहोस्‍टेस बनाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गो एयरवेज कर्मी राहुल सिंह को दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.
एयरहोस्‍टेस बनाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गो एयरवेज कर्मी राहुल सिंह को दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

  • News18India
  • Last Updated: October 1, 2019, 2:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. एयरलाइन (Airline) में काम करने वाली युवतियों की ग्‍लैमर भरी जिंदगी से प्रेरित होकर न जाने कितनी लड़कियों ने एयरहोस्‍टेस (airhostess) बनने की चाहत अपने दिल में पाल रखी हैं. एयरहोस्‍टेस बनने की चाहत रखने में तो कोई बुरी बात नहीं है, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो इन युवतियों की इसी चाहत का फायदा अपनी जेबों को भरने के लिए उठा रहे हैं.

एक ऐसा ही मामला दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट (Indira Gandhi International Airport) से आया है, जहां गो एयरवेज (Go Air) में कार्यरत एक युवक ने कई युवतियों को एयरहोस्‍टेस (airhostess) के तौर पर नौकरी (Job) दिलाने का सब्‍जबाग दिखाकर लाखों रुपए की धोखाधड़ी की है. यहां खास बात यह है कि गो एयर में कार्यरत इस युवक ने अपनी नौकरी भी फर्जी दस्‍तावेजों की मदद से हासिल की थी.

दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस (Delhi Airport Police) ने एयरलाइन की तरफ से शिकायत मिलने के बाद आरोपी एयरलाइन कर्मी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच (investigation) शुरू कर दी है. दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस यह भी पता लगाने का प्रयास कर रही है कि आरोपी युवक अब तक एयरलाइन (Airline) में नौकरी दिलाने के नाम पर अब तक कितने लोगों को अपना शिकार बना चुका है.



कुछ यूं हुआ पूरे मामले का खुलासा
बीते दिनों, एक विसल ब्लोअर (whistle blower) ने गो एयरवेज प्रबंधन को मेल के जरिए कुछ दस्‍तावेज उपलब्‍ध कराए. इन दस्‍तावेजों में कथित तौर पर गो एयरवेज (Go Air) की तरफ से जारी किए गए कुछ अप्‍वाइंटमेंट लेटर (appointment letter) भी शामिल थे. विसल ब्लोअर (whistle blower) ने एयरलाइन प्रबंधन को यह भी जानकारी दी कि राहुल सिंह नामक एक शख्‍स की तरफ से सभी अप्‍वाइंटमेंट लेटर जारी किए गए हैं.

राहुल सिंह नामक इस शख्‍स ने अप्‍वाइंटमेंट लेटर के एवज में लाखों रुपए वसूले हैं. विसल ब्लोअर (whistle blower) ने उस बैंक एकाउंट की जानकारी भी एयरलाइन प्रबंधन को दी, जिसमें अप्‍वाइंटमेंट लेटर (appointment Letter) हासिल करने वाले युवक और युवतियों ने रुपए जमा कराए थे. इसी बीच, सुशील और आकांक्षा नामक दो युवक- युवती गो एयर (Go Airways) के दिल्‍ली (Delhi) स्थित कॉरपोरेट दफ्तर में पहुंचे.

इन दोनों ने एयरलाइंस अधिकारियों को बताया कि उनका चयन गो एयरवेज में हो चुका है, लेकिन अभी तक उनका अप्‍वाइंटमेंट लेटर घर नहीं पहुंचा है. जांच में पता चला कि दोनों ने इंटरब्‍यू तो दिया था लेकिन दोनों का नाम चयनित लोगों की सूची में शामिल नहीं है. बातचीत में पता चला कि दोनों को भी राहुल सिंह ने अपनी ठगी का शिकार बनाया था. इन दोनों ने बताया कि राहुल सिंह ने इस गो एयरवेज में नौकरी के एवज में 1-1 लाख रुपए वसूल किए थे.

इसी बीच, रुचि दयाल नामक तीसरी युवती सामने आई. जिसने एयरलाइन से शिकायत कर बताया कि राहुल सिंह ने उससे 2.5 लाख रुपए लेकर गो एयरवेज का फर्जी अप्‍वाइंटमेंट लेटर थमा दिया था. इस पूरे मामले में फ्लाई एंजो एविएशन लिमिटेड कंपनी ने भी राहुल सिंह के खिलाफ फर्जी अप्‍वाइंटमेंट लेटर देकर 6.5 लाख रुपए वसूलने की शिकायत एयरलाइन को दी है.

एयरलाइन कर्मी निकला आरोपी शख्‍स
इतनी सारी शिकायतों के सामने आने के बाद एयरलाइन ने इस मामले की आतंरिक जांच शुरू की. अपनी जांच में एयरलाइन ने पाया कि धोखाधड़ी करने वाला शख्‍स कोई और नहीं, बल्कि एयरलाइंस ने बतौर कस्‍टम सर्विस एग्‍जक्‍यूटिव तैनात राहुल कुमार है. आरोपी राहुल कुमार 8 जुलाई 2019 में गो एयरवेज ज्‍वाइन की थी. जिसके बाद, उसे ट्रेनिंग पर मुंबई भेज दिया गया. राहुल सिंह फिलहाल हैदराबाद एयरपोर्ट पर तैनात है.

जांच में यह बात भी सामने आई है कि राहुल सिंह ने अपनी नौकरी भी फर्जी दस्‍तावेजों के आधार पर हासिल की थी. उसने नौकरी के आवेदन के दौर बीबीए का फर्जी सर्टिफिकेट एयरलाइन को दिया था. इन सभी तथ्‍यों के सामने आने के बाद गो एयरवेज ने दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस को शिकायत दे दी. वहीं, दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने इस बाबत एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

ये भी पढ़ें:

SC/ST एक्ट: सुप्रीम कोर्ट ने सरकार की बात मानी, अब फिर से पहले की तरह तुरंत होगी गिरफ्तारी
अरुण जेटली के परिवार को नहीं चाहिए पेंशन, पत्नी ने जरूरतमंद कर्मचारियों के लिए की दान

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज