Home /News /delhi-ncr /

Delhi School News: सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, कल से अगले आदेश तक स्‍कूल बंद

Delhi School News: सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला, कल से अगले आदेश तक स्‍कूल बंद

दिल्ली सरकार ने शुक्रवार से सभी स्‍कूल बंद करने का ऐलान किया है.

दिल्ली सरकार ने शुक्रवार से सभी स्‍कूल बंद करने का ऐलान किया है.

Delhi School News: दिल्‍ली सरकार ने वायु प्रदूषण के कहर के बीच 29 नवंबर को फिर से स्‍कूल और कॉलेज खोले थे. वहीं, आज यानी गुरुवार को प्रदूषण को लेकर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने दिल्‍ली सरकार को स्कूल खोलने पर जमकर फटकार लगाई. इसके बाद सरकार ने कल यानी शुक्रवार से स्‍कूल बंद करने का फैसला किया है. अब दिल्‍ली के सभी स्‍कूल अगले आदेश तक के लिए स्कूल बंद रखे जाएंगे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्ली में लगातार बिगड़ती हवा की गुणवत्ता पर सुप्रीम कोर्ट के (Supreme Court) सख्त रुख अपनाया है. वहीं, कोर्ट से फटकार खाने के बाद दिल्‍ली सरकार ने कल यानी शुक्रवार से सभी स्‍कूल बंद (Delhi School Closed) करने का फैसला किया है. इस बाबत दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, ‘सरकार ने निर्णय लिया है कि दिल्ली में कल से सभी स्कूल बंद कर दिए जाएंगे. दरअसल दिल्ली में स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान 13 नवंबर से बंद थे, लेकिन उन्हें सोमवार (29 नवंबर) से खोल दिया गया था.

    इसके साथ राय ने कहा कि प्रदूषण बढ़ रहा है जिस कारण से ये निर्णय लिया गया. अगले आदेश तक के लिए स्कूल बंद रखे जाएंगे. इससे पहले सीजेआई एनवी रमण ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाई कि आपने स्कूल नहीं बंद किए. छोटे बच्चे स्कूल जा रहे हैं, अखबारों में आ रहा है. वहीं, आप सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करा रहे हैं और बच्चे स्कूल भेजे जा रहे हैं.

    वहीं, दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्रदूषण के मद्देनजर दिल्ली के सभी स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे. हालांकि बोर्ड से सम्बंधित परीक्षाएं पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही चलेंगी.

    बता दें कि दिवाली के बाद से दिल्‍ली में वायु प्रदूषण बेहद गंभीर श्रेणी में बना हुआ है. इस वजह से दिवाली के बाद दिल्ली सरकार ने स्कूलों में फिजिकल क्लासेज बंद कर दी थीं, लेकिन 29 नवंबर से स्कूल फिर से खोल दिये गये और ऑफलाइन क्लास शुरू हो गईं. यही नहीं, इस दौरान कई स्कूलों में परीक्षाएं संचालित की जा रही थीं. अब 3 दिसंबर से फिर से स्कूल बंद रहेंगे, तो ऑफलाइन क्लासेज भी नहीं होंगी.

    दिल्‍ली सरकार को इस वजह से भी लगी फटकार
    यही नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ मुहिम को लेकर दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए गुरुवार को कहा कि यह लोकलुभावन नारा होने के अलावा और कुछ नहीं है. प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण, न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति सूर्यकांत की विशेष पीठ ने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार ने पिछली सुनवाई में घर से काम करने, लॉकडाउन लागू करने और स्कूल एवं कॉलेज बंद करने जैसे कदम उठाने के आश्वासन दिए थे, लेकिन इसके बावजूद बच्चे स्कूल जा रहे हैं और वयस्क घर से काम कर रहे हैं.

    पीठ ने कहा, ‘बेचारे युवक बैनर पकड़े सड़क के बीच खड़े होते हैं, उनके स्वास्थ्य का ध्यान कौन रख रहा है? हमें फिर से कहना होगा कि यह लोकलुभावन नारे के अलावा और क्या है?’

    वहीं, दिल्ली सरकार की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने हलफनामे का हवाला देते हुए कहा कि सरकार ने विभिन्न कदम उठाए हैं. इस पर पीठ ने टिप्पणी करते हुए कहा कि यह प्रदूषण का एक और कारण है, रोजाना इतने हलफनामे. इसके अलावा पीठ ने कहा, ‘हलफनामे में क्या यह बताया गया है कि कितने युवक सड़क पर खड़े हैं? प्रचार के लिए? एक युवक सड़क के बीच में बैनर लिए खड़ा है. यह क्या है? किसी को उनके स्वास्थ्य का ख्याल करना होगा.’

    इसके जवाब में सिंघवी ने कहा कि ये ‘लड़के’ नागरिक स्वयंसेवक हैं. बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 21 अक्टूबर से 15 नवंबर तक के लिए ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ मुहिम शुरू करते हुए कहा था कि यदि शहर में 10 लाख वाहन इस मुहिम में शामिल हो गए, तो एक साल में पीएम10 का स्तर 1.5 टन और पीएम 2.5 का स्तर 0.4 टन कम हो जाएगा. इस पहल के तहत, परिवहन विभाग के सरकारी अधिकारी, स्वयंसेवक और यातायात पुलिकर्मी यात्रियों से अनुरोध करते हैं कि वे हरी बत्ती जलने का इंतजार करते समय वाहन बंद कर दें. सरकार ने इस मुहिम की अवधि बढ़ाकर 30 नवंबर कर दी थी.

    Tags: Air pollution, Air pollution in Delhi, Delhi air pollution, Delhi Government, Delhi School, Delhi School Reopen Guidelines, Delhi Schools Reopening Rules, Gopal Rai, Supreme Court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर