दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का आरोप- कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने से रोक रहा गृह मंत्रालय
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का आरोप- कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने से रोक रहा गृह मंत्रालय
सत्येंद्र जैन ने केंद्र को लिखा पत्र

सत्येंद्र जैन (Satyender Jain) ने कहा ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसा सवाल ही नहीं उठता, जब मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने आदेश दे दिया तो उसकी अप्रूवल MHA से ली जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 1:18 PM IST
  • Share this:
दिल्ली. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyender Jain) ने प्रिसिंपल सेक्रेटरी हेल्थ पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने  शुक्रवार को एक चिट्ठी जारी करते हुए कहा है कि दिल्ली के प्रिसिंपल सेक्रेटरी हेल्थ ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) द्वारा टेस्टिंग बढ़ाये जाने के आदेश के बाद MHA से इसकी परमिशन ली जो कि ग़लत है. सीएम के आदेश को लागू करने के लिये MHA से परमिशन लेने के ज़रूरत नहीं थी सत्येन्द्र जैन ने कहा कि इससे साफ़ पता चलता है कि कैसे टेस्टिंग बढ़ाने के आदेश को रोकने की कोशिश की गई.

सत्येंद्र जैन ने कहा कि ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसा सवाल ही नहीं उठता, जब मुख्यमंत्री ने आदेश दे दिया तो उसकी अप्रूवल MHA से ली जाय. ये किसी भी तरह से उचित नहीं है. कुल मिलाकर ऐसा लगता था कि दिल्ली में टेस्टिंग को ना बढ़ाया जाए. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने 3 दिन पहले मीटिंग की थी जिसमें टेस्टिंग डबल करने की बात कही थी.

होम मिनस्ट्री की तरफ से डाला गया दबाव!



उन्होंनें आरोप लगाया कि होम मिनिस्ट्री की तरफ़ से ऑफ़िसर को दबाव डाला गया कि इस टेस्टिंग को ना किया जाए. हमारे यहां से होम मिनिस्टरी से लिखित में परमिशन मांगी गई कि टेस्टिंग बढ़ानी है कि नहीं और बढ़ानी है तो कितनी बढ़ानी है दिल्ली के अंदर अगर टेस्टिंग बढ़ाई जा रही तो इस पर उनको आपत्ति नहीं होनी चाहिये. मुझे ख़ुशी है कि कल मेरे पत्र लिखने के बाद उन्होंने क्लियर कर दिया, अब उम्मीद है कि टेस्टिंग बढ़ा दी जायेगी.
एक हफ्ते के अंदर किए जाएं 40 हजार टेस्ट

जैन ने कहा कि अभी तक दिल्ली में कोरोना की स्थिति से निपटने के लिए हमारी ये नीति रही है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग करके मरीजों को चिन्हित करके आइसोलेट किया जाए. इसी नीति के तहत मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है कि अभी दिल्ली में जो प्रतिदिन 20,000 टेस्ट हो रहे हैं, उनको डबल करके 1 हफ्ते के अंदर 40000 टेस्ट किए जाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज