श्मशान घाट तक शव ले जाने पर एंबुलेंस वसूल रहीं 20 हजार, BJP बोली-राजस्थान की तर्ज पर फ्री हो ये सेवा

भाजपा ने शव एम्बुलेंस वालों द्वारा मचाई जा रही लूट की ओर सीएम अरवि‍ंद केजरीवाल को पत्र लि‍खकर अवगत कराया है.

भाजपा ने शव एम्बुलेंस वालों द्वारा मचाई जा रही लूट की ओर सीएम अरवि‍ंद केजरीवाल को पत्र लि‍खकर अवगत कराया है.

भाजपा ने मुख्यमंत्री का ध्यान शव एम्बुलेंस वालों द्वारा मचाई जा रही लूट की ओर आकर्षित किया है. अलग-अलग मामलों अस्पताल से श्मशान घाट तक शव ले जाने के 10 से 20,000 रूपए तक ले रहे हैं, जो निंदनीय है. राजस्थान सरकार का अनुसरण करते हुये अस्पताल से श्मशान घाट तक की एम्बुलेंस सेवा नि:शुल्क करें.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोराेना (Corona) काल में कोविड मरीजों को एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल तक लाने ले जाने वाली एंबुलेंस के भारी-भरकम चार्ज को लेकर अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) में रेट फिक्स किए हैं. लेकिन यह रेट भी साधारण दिनों में लगने वाले एंबुलेंस चार्ज से भी दोगुने तय किए गए हैं. विपक्ष ने निर्धारित किए गए एंबुलेंस चार्ज (Ambulance Charges) को कम करने की मांग की है.

दिल्ली भाजपा (BJP) के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा कि दिल्ली सरकार के द्वारा कल शाम घोषित एम्बुलेंस चार्ज से लोगों को कुछ राहत तो मिली है. लेकिन अधिकांश लोग इन्हे अभी भी ज्यादा मान रहे हैं.

प्रवक्ता ने इस संदर्भ में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को पत्र भी लिखा है. पत्र के जरिये मांग की है कि सरकार एम्बुलेंस चार्ज की कल घोषित कैपिंग पर पुनर्विचार विचार करके चार्ज को कम करके आधा करे.

पत्र में कहा गया है कि कोविड काल से पहले दिल्ली में 10 किलोमीटर तक साधारण एम्बुलेंस के 600 तो विशेष के 1,000 एवं अतिविशेष सेवा के 2,000 रूपए लगते थे जिन्हे सरकार ने कल दोगुना कर दिया है जो गलत है. इसको वापस लिया जाना चाहिए.

Youtube Video

भाजपा प्रवक्ता ने मुख्यमंत्री का ध्यान शव एम्बुलेंस वालों द्वारा मचाई जा रही लूट की ओर आकर्षित किया है जो अलग-अलग मामलों अस्पताल से श्मशान घाट तक शव ले जाने के 10 से 20,000 रूपए तक ले रहे हैं, जो निंदनीय है.

कपूर ने मांग की है कि दिल्ली सरकार राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) का अनुसरण करे और अस्पताल से श्मशान घाट तक की एम्बुलेंस सेवा नि:शुल्क करे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज