Ghaziabad: श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के लिए लाशों की लंबी वेटिंग, नगर निगम ने बताई ये वजह

गाजियाबाद के श्मशान घाट पर लाशें वेटिंग में

गाजियाबाद के श्मशान घाट पर लाशें वेटिंग में

Ghaziabad Surge in COVID-19 Cases: गाजियाबाद नगर निगम के एक अधिकारी का कहना है कि यह आश्चर्यजनक नहीं है. मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए हमेने टोकन सिस्टम की व्यवस्था की है. जिसकी वजह से लोगों को अपने परिजनों का अंतिम संस्कार के लिए इन्तजार करना पड़ रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 18, 2021, 9:07 AM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. लखनऊ (Lucknow) और वाराणसी (Varanasi) के बाद अब दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) में श्मशान घाट (Crematorium) पर अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग चल रही है. नगर  निगम का कहना है कि टोकन सिस्टम की वजह से लोगों को इंतजाम करना पड़ रहा है. दरअसल, गाजियाबाद में भी कोरोना की दूसरी लहर का कहर देखने को मिल रहा है. लगातार बढ़ रहे संक्रमण की वजह से लोगों की सांसें थम रही है. आलम ये है कि श्मशान घाट लाशें वेटिंग पर हैं और टोकन व्यवस्था के तहत अंतिम संस्कार किया जा रहा है. लेकिन अगर सरकारी आंकड़ों की बात करें शनिवार को  जिले में एक भी मौत कोरोना की वजह से नहीं हुई. हालांकि श्मशान घाट की तस्वीर अलग ही कहानी बयां कर रही है.

गाजियाबाद के श्मशान घाट पर शनिवार को लाशें की कतारें देखने को मिली. एक तरफ कोरोना प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी तो वहीं दूसरी तरफ एम्बुलेंस लंबी लाइन लगी थी. श्मशान घाट के संचालक मानते हैं कि जहां आम दिनों में 10-20 लाशें अंतिम संस्कार के लिए सुबह आती थीं, बीते दो तीन दिन से यहां 30 से 40 लाशें आ रही हैं.



नगर निगम ने बताई ये वजह
हालांकि गाजियाबाद नगर निगम के एक अधिकारी का कहना है कि यह आश्चर्यजनक नहीं है. मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए हमेने टोकन सिस्टम की व्यवस्था की है. जिसकी वजह से लोगों को अपने परिजनों का अंतिम संस्कार के लिए इन्तजार करना पड़ रहा है. गौरतलब है कि शनिवार को गाजियाबाद में 250 नए संक्रमित मरीज मिले जबकि 62 अन्य ठीक होकर डिस्चार्ज हुए. शनिवार को एक भी मरीज की मौत कोरोना से नहीं हुई. लेकिन श्मशान घाट पर कोरोना प्रोटोकॉल के तहत लाशों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज