होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

UP Election 2022- गाजियाबाद में अमित शाह ने सपा पर तो मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना

UP Election 2022- गाजियाबाद में अमित शाह ने सपा पर तो मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना

पहले चरण में होना है मतदान. .

पहले चरण में होना है मतदान. .

गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह और बसपा सुप्रीमों मायावती दोनों गाजियाबाद में रहे. अमित शाह ने सपा पर तो मायावती ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और पार्टी उम्‍मीदवारों को जिताने की अपील की. एक दिन पूर्व सपा प्रमुख अखिलेश यादव और आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी भी गाजियाबाद में पार्टी उम्‍मीदवारों का प्रचार कर चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. उत्‍तर प्रदेश विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly Elections) के पहले चरण में मतदान वाले क्षेत्रों पर चुनाव पूरा जोरों पर है. गाजियाबाद उन 11 जिलों में शामिल है, जहां पर 10 फरवरी को चुनाव होने हैं. इसलिए सभी प्रमुख पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक रखी है. गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और बसपा सुप्रीमों मायावती (BSP chief Mayawati) गाजियाबाद में रहे. अमित शाह ने सपा पर तो मायावती ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और पार्टी उम्‍मीदवारों को जिताने की अपील की. एक दिन पूर्व सपा प्रमुख अखिलेश यादव और आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी भी गाजियाबाद में पार्टी उम्‍मीदवारों का प्रचार कर चुके हैं. इसके साथ प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह समेत कई बड़े नेता सभा और जनसंपर्क कर चुके हैं.

    गृहमंत्री अमित शाह भाजपा उम्‍मीदवार के समर्थन में लोनी पहुंचे. सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज प्रदेश को विकसित बनाने का चुनाव है. सपा पर निशना साधते हुए कहा कि आज गुंडा सिर्फ तीन जगह हैं, यूपी के बाहर, सपा के प्रत्याशी लिस्ट में और जेल में हैं. उन्‍होंने कहा कि अखिलेश के गुंडों ने नामांकन पर ही तांडव किया है. लेकिन, गुंडों सतर्क हो जाओ अभी भाजपा की सरकार है. पिछले पांच साल में गुंडों को चुन चुनकर बाहर निकालने का काम किया है. उन्‍होंने कहा कि चाहे तैमूर के सामने या मुगलों से लड़ना हो, इस भूमि के लोगों ने बहादुरी से सामना किया. आज लोनी वाले और पश्चिम उत्‍तर प्रदेश के लोग सुन लें. ये चुनाव विधायक या मंत्री बनाने का नहीं, माफियाओं को चुन चुन कर खत्म करने का है. यहां हर चुनाव में भाजपा की झोली भरी है.

    दूसरी ओर शहर के कविनगर रामलीला मैदान में बसपा सुप्रीमों मायावती पहुंची. उन्‍होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गलत नीतियों के कारण कांग्रेस केंद्र और यूपी की सत्ता से बाहर हो गई है. उन्‍होंने कहा कि सपा, भाजपा और कांग्रेस को नहीं बसपा को वोट देने की अहमियत समझें. कांग्रेस पार्टी शुरू से जातिवादी और दलित विरोधी रही है. बाबा साहब को भारत रत्‍न नहीं दिया. इतना ही नहीं कांग्रेस ने तो कांशीराम के निधन पर एक दिन का राजकीय अवकाश भी घोषित नहीं किया. उन्होंने बीपी सिंह सरकार की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने बाबा साहब को भारत रत्‍न से सम्मानित किया, जिसके वह असली हकदार थे. मायावती ने कहा कि बसपा उत्‍तर प्रदेश में अपने दम पर चुनाव लड़ रही है. पार्टी 2007 की तरह इस बार भी अकेले दम पर सरकार बनाएगी. किसी की मदद लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

    Tags: Uttar pradesh assembly election, Uttar Pradesh Elections

    अगली ख़बर