होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत: सीबीआई का तिहाड़ जेल उपाधीक्षक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का आरोपपत्र

गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत: सीबीआई का तिहाड़ जेल उपाधीक्षक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का आरोपपत्र

गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत के मामले में सीबीआई ने आरोप पत्र कोर्ट में दाखिला किया है. (फाइल फोटो)

गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत के मामले में सीबीआई ने आरोप पत्र कोर्ट में दाखिला किया है. (फाइल फोटो)

अंति गुर्जर की संदिग्‍ध मौत के मामले में सीबीआई की लगातार जांच चल रही है, जेल उपाधीक्षक नरेंद्र मीणा के साथ ही 6 अन्य आरोपी भी न्यायिक हिरासत में हैं.

नई दिल्ली. तिहाड़ जेल एक बार फिर चर्चा में है. 2021 में तिहाड़ जेल में हुई गैंगस्टर अंकित गुर्जर की मौत के मामले में सीबीआई ने बड़ा कदम उठाते हुए जेल के उपाधीक्षक नरेंद्र मीणा पर गैर इरादतन हत्या का आरोप लगाया है और इसको लेकर कोर्ट में आरोप पत्र भी दाखिल कर दिया गया है. सीबीआई के अधिकारियों ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि जांच के दौरान नरेंद्र मीणा की भूमिका संदिग्‍ध मिली जिसके बाद ये कार्रवाई की गई है.
जांच एजेंसी ने मई 2022 में ही नरेंद्र मीणा को मामले में गिरफ्तार भी किया था. आगे की जांच करने के बाद सीबीआई ने नरेंद्र मीणा के बाद तिहाड़ जेल के पांच अन्य अधिकारियों को भी गिरफ्तार किया था. सहायक अधीक्षक दीपक डबास और हेड वार्डर दिनेश चिकारा को 27 जुलाई को हिरासत में लिया गया था, जबकि एक अन्य सहायक अधीक्षक राम अवतार मीणा और वार्डर हरफूल मीणा और विनोद मीणा को तीन अगस्त को गिरफ्तार किया गया था.

न्यायिक हिरासत में आरोपी
सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सभी छह आरोपी अभी न्यायिक हिरासत में हैं. सीबीआई की विशेष अदालत के समक्ष दायर अपने आरोपपत्र में एजेंसी ने कहा है कि नरेंद्र मीणा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत आरोपपत्र की जांच पूरी हो चुकी है, जबकि शेष अधिकारियों के खिलाफ जांच चल रही है.

सीबीआई के अधिकारियों की मानें तो मामले में गिरफ्तार जेल के अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ भी जल्द ही जांच पूरी करने के बाद कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा. फिलहाल मामले में अभी जांच जारी है. साथ ही आरोपियों से लगातार पूछताछ भी की जा रही है. वहीं सूत्रों के अनुसार इस मामले में जांच के बाद किसी बड़ी साजिश का भी खुलासा हो सकता है. इसको लेकर लगातार जेल के अधिकारियों से पूछताछ की जा रही है.

Tags: CBI investigation, Tihar jail

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर