Home /News /delhi-ncr /

Air Pollution: द‍िल्‍ली में एंट्री करने वाले मैनुअल चेक‍िंग 10 टोल नाको पर लगेंगी RFID ड‍िवाइस, आयोग ने द‍िए आदेश

Air Pollution: द‍िल्‍ली में एंट्री करने वाले मैनुअल चेक‍िंग 10 टोल नाको पर लगेंगी RFID ड‍िवाइस, आयोग ने द‍िए आदेश

वर्तमान में 10 प्रवेश स्थलों पर हाथों से चलने वाले डिवाइस के जरिए वाहनों का टोल टैग की जांच की जाती है. (File Photo)

वर्तमान में 10 प्रवेश स्थलों पर हाथों से चलने वाले डिवाइस के जरिए वाहनों का टोल टैग की जांच की जाती है. (File Photo)

Air Pollution in Delhi NCR: वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने स‍िव‍िक एजेंस‍ियों को इन बाकी दस एंट्री प्‍वाइंट्स पर RFID लगाने के ल‍िए निर्देश जारी की है. इनमें नोएडा, लोनी, ढांढसा बार्डर, कुंडली-2, न्यू सीमापुरी, बजघेड़ा, न्यू कोंडली, चंदर नगर, झड़ौदा व प्रहलादपुर प्रमुख रूप से शाम‍िल हैं. वर्तमान में इन प्रवेश स्थलों पर हाथों से चलने वाले डिवाइस के जरिए वाहनों का टोल टैग की जांच की जाती है. द‍िल्‍ली के 13 प्रमुख बार्डरों के टोल नाकाओं पर RFID टैग वाले सिस्टम लगे हुए हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. द‍िल्‍ली NCR में बढ़ते वायु प्रदूषण (Air Pollution) को कम करने के ल‍िए हरसंभव प्रयास क‍िए जा रहे हैं. वहीं सुप्रीम कोर्ट और केंद्रीय वायु गुणवत्‍ता प्रबंधन आयोग ने भी स‍िव‍िक एजेंस‍ियों को राजधानी के दस एंट्री प्‍वाइंट्स पर ऑटोमेट‍िक आरएफआईडी (RFID) लगाने के सख्‍त न‍िर्देश द‍िए गए हैं. मौजूदा समय में इन दस बार्डर एंट्री प्‍वाइंट्स पर मैनुअल टोल स‍िस्‍टम काम कर रहा है.

    बताते चलें के द‍िल्‍ली-एनसीआर (Delhi NCR) में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण को कम कराने और सख्‍त कदम उठाने के ल‍िए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पूरी तरह से गंभीर है. उन्‍होंने राज्‍य सरकारों को भी फटकार लगाई और प्रदूषण से न‍िपटने के ल‍िए क‍िए गए इंतजामों को नाकाफी बताते हुए सख्‍त कदम उठाने के आदेश भी द‍िए हैं. वहीं वायु प्रदूषण (Air Pollution) को लेकर क‍िए जा रहे इंतजामों की मॉनीटर‍िंग के ल‍िए गठि‍त वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (AQMC) भी काफी गंभीर है.

    ये भी पढ़ें: Air Pollution: पेट्रोल भरवाने जा रहे हैं तो संभलकर जाएं, कहीं कट ना जाए 10 हजार का चालान

    इस द‍िशा में और सख्‍त कदम उठाते हुए वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने स‍िव‍िक एजेंस‍ियों को इन बाकी दस एंट्री प्‍वाइंट्स पर रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेटिफिकेशन डिवाइस (RFID) लगाने के ल‍िए निर्देश जारी की है. इनमें नोएडा, लोनी, ढांढसा बार्डर, कुंडली-2, न्यू सीमापुरी, बजघेड़ा, न्यू कोंडली, चंदर नगर, झड़ौदा व प्रहलादपुर प्रमुख रूप से शाम‍िल हैं. वर्तमान में इन प्रवेश स्थलों पर हाथों से चलने वाले डिवाइस के जरिए वाहनों का टोल टैग की जांच की जाती है. इसकी वजह से वाहनों को टोल नाकों पर काफी देर रूकना भी पड़ता है, जिससे जाम की स्थिति बनी रहती है.

    ये भी पढ़ें: Pollution In Delhi: दिल्ली-NCR में अगले आदेश तक स्कूल-कॉलेज बंद, ट्रकों की एंट्री बैन 

    जानकारी के मुताब‍िक द‍िल्‍ली के 13 प्रमुख बार्डरों के टोल नाकाओं पर RFID टैग वाले सिस्टम लगे हुए हैं. इन सभी पर इस टैग के जर‍िए ही टोल टैक्स की चेक‍िंग होती है. इन बॉर्डरों से आरएफआईड टैग वाले कमर्श‍ियल व्‍हीकल एंट्री करते हैं. वहीं अब आयोग ने उन जगहों पर भी यह RFID डिवाइस लगाने का आदेश दिया है जहां मैनुअल तरीके से टोल चेक‍िंग होती है. इससे प्रदूषण के लेवल को कम करने में मदद म‍िल सकेगी और बॉर्डरों पर जाम की स्‍थ‍ित‍ि नहीं बनेगी.

    Tags: Air pollution, Delhi MCD, Delhi-NCR News, Delhi-NCR Pollution, MCD, Toll plaza

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर