लाइव टीवी

Anaj Mandi Fire: CM केजरीवाल ने दिए जांच के आदेश, 10-10 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 12:23 PM IST

Delhi Anaj Mandi Fire: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने मृतकों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है. साथ ही घायलों के लिए एक लाख रुपए देने की घोषणा की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 12:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की अनाज मंडी (Anaj Mandi) में लगी आग से अबतक 43 लोगों की मौत हो चुकी है. 20 लोगों की हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है. अधिकारियों का कहना है कि मौत का आंकड़ा बढ़ सकता है. 59 लोगों को रेस्क्यू किया गया है. घटनास्थल का जायजा लेने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) फिल्मीस्तान पहुंचे हैं. उन्होंने मृतकों के परिजनों के लिए 10 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है. साथ ही घायलों के लिए एक लाख रुपए की घोषणा की है. अनाज मंडी में मीडिया से बात करते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, 'मैंने मजिस्ट्रेट इंक्वायरी का आदेश दिया है और सात दिन में रिपोर्ट देने की बात कही है.'

घटना की होगी जांच, दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई
दिल्ली के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने अनाज मंडी क्षेत्र स्थित फैक्ट्री में लगी आग के मद्देनजर रविवार को कहा कि आग लगने की इस घटना की जांच की जाएगी और इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी. उन्होंने ट्वीट किया, 'यह दुखद घटना है. घटना की जांच की जाएगी और इसके लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.'

New Delhi: Fire tenders on their way to a factory at Rani Jhansi Road, where a major fire broke out, in New Delhi, Sunday morning, Dec. 8, 2019. Atleast 35 people were killed and several others injured in the mishap. (PTI Photo) (PTI12_8_2019_000011B)
आग पर काबू पाने के लिए जाती हुईं दमकल की गाडियां.


दिल्ली का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन
इस आग में घायल हुए लोगों का हिंदू राव अस्पताल, आरएमएल, लेडी हार्डिंग और एलएनजेपी में इलाज चल रहा है. घटनास्थल पर एनडीआरएफ की टीम पहुंच चुकी है. जानकारी के मुताबिक, आग लगने की यह घटना बैग बनाने वाली एक फैक्‍ट्री में हुई. अभी तक आग लगने की वजहों का पता नहीं चल सका है. कहा जा रहा है कि ज्यादातर लोगों की मौत दम घुटने के कारण हुई है. दमकल विभाग का कहना है कि यह दिल्ली का अब तक का सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन है.

पांच मंजिला इमारत में चलती थी फैक्ट्रीअग्निकांड के शिकार हुए लोगों को LNJP में इलाज के लिए लाया गया है. यहां परिजनों की भीड़ लग गई है. उन्‍होंने बताया कि डॉक्‍टरों की पूरी टीम घायलों के इलाज में जुटी है. वहीं, बताया जा रहा है कि गलियां संकरी होने की वजह से एंबुलेंस को मौके पर पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ा. मिली जानकारी के मुताबिक, जिस इमारत में आग लगी थी, वह यामीन के नाम पर है. इसमें कई फैक्ट्री चलती है. इनमें काम करने वाले मजदूर इसी घर में सो जाते थे. यह पांच मंजिला इमारत है. आग लगभग साढे चार बजे के आसपास लगी थी.


 

ये भी पढ़ें-

Delhi Fire: PM मोदी ने जताया दुख, AAP सरकार बोली- दोषियों को बख्‍शेंगे नहीं

Delhi Fire: अनाज मंडी में लगी भीषण आग, 43 लोगों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 11:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर