कोरोना से जंग जीतने में दिल्ली देश में अव्वल, फिर क्यों केजरीवाल सरकार को लग रहा है डर?
Delhi-Ncr News in Hindi

कोरोना से जंग जीतने में दिल्ली देश में अव्वल, फिर क्यों केजरीवाल सरकार को लग रहा है डर?
केजरीवाल सरकार को आने वाले दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने का अंदेशा का डर सता रहा है.

राजधानी दिल्ली (Delhi) में बीते 10 दिनों में चार से पांच बार ऐसा हुआ है जब कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या 1000 से कम आए हैं. इसके बावजूद दिल्ली सरकार (Delhi Government) कोरोना मरीजों की संख्या को लेकर क्यों चिंतित है?

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 11, 2020, 9:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोविड-19 (Covid-19) रिकवरी रेट पहली बार 90% के पार हुआ है. साथ ही मृत्यु दर में भी काफी कमी आई है. मंगलवार को दिल्ली में कोरोना से सिर्फ 8 लोगों को ही मौत हुई है. राजधानी में बीते 10 दिनों में चार से पांच बार कोरोना के मामले 1000 से कम रहे हैं. इन सबके बावजूद भी दिल्ली सरकार (Delhi Government) कोरोना को लेकर चिंतित नजर आ रही है. देश में सबसे ज्यादा रिकवरी रेट होने के बावजूद केजरीवाल सरकार को आने वाले दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने का अंदेशा है. दो दिन पहले ही दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Health Minister Satyendra Jain) ने आने वाले दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने को लेकर बड़ा इशारा किया था. जैन ने इसके लिए तर्क भी दिए थे. आइए समझते हैं कि सत्येंद्र जैन के तर्क में कितना दम है?

दिल्ली में कोरोना को लेकर किसका मैनेजमेंट कारगर?
हाल के दिनों में कोरोना मरीजों में कमी आने पर दिल्ली बीजेपी और आप में क्रेडिट लेने की होड़ मच गई थी. हालाकि, जानकारों की राय में अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना की स्थिति को काफी बेहतर तरीके से हैंडल किया है. इसी का नतीजा है कि आज दिल्ली में स्थिति काफी हद तक सुधर गई है. इसके बावजूद बीते दो-तीन दिनों से कोरोना के एक्टिव केस की संख्या में थोड़ी तेजी आ गई है. हालांकि, यह मामूली है लेकिन दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसको लेकर सचेत किया है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर घटने के बाद फिर से कोविड मरीजों की संख्या क्यों बढ़ने लगी है?

delhi government, kejariwal government, covid-19, coronavirus infection in delhi, health minister satyendra jain, BJP, AAP, Delhi patients recovered from covid 19, delhi top news, delhi coronavirus cases, coronavirus case in delhi, Delhi news, New Delhi City, अरविंद केजरीवाल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, बीजेपी, आदेश गुप्ता, दिल्ली से बाहर कोरोना के कितने मरीज, कोरोना मरीज, एलएनजेपी अस्पताल, डॉ नरेश कुमार, AMIT SHAH ARVIND KEJRIWAL, arvind kejriwal government tops the country in winning the battle with Corona yet why afraid nodrss
कोरोना मरीजों में कमी आने पर दिल्ली बीजेपी और आप में क्रेडिट लेने की होड़ मच गई थी.

स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा था


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने रविवार को एक बयान दिया था. जैन ने कहा था कि काफी बड़ी संख्या में लोग दिल्ली से बाहर जैसे गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद जैसी जगहों से आकर दिल्ली में टेस्ट करा रहे हैं. उनके टेस्ट कराने की वजह से संख्या बढ़ जाती है.

स्वास्थ्य मंत्री के बयान से बीजेपी नाराज
जैन के बयान पर बीजेपी ने तुरंत पलटवार किया. दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार अपनी नाकामी का ठीकरा बाहरी राज्यों से आने वाले मरीजों पर फोड़ने का काम करती आई है. दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या में पिछले दिनों के मुकाबले बढ़ोतरी जरूर हुई है लेकिन, गनीमत ये है कि रिकवरी रेट काफी अच्छे स्तर पर अब भी बना हुआ है.

delhi government, kejariwal government, covid-19, coronavirus infection in delhi, health minister satyendra jain, BJP, AAP, Delhi patients recovered from covid 19, delhi top news, delhi coronavirus cases, coronavirus case in delhi, Delhi news, New Delhi City, अरविंद केजरीवाल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, बीजेपी, आदेश गुप्ता, दिल्ली से बाहर कोरोना के कितने मरीज, कोरोना मरीज, एलएनजेपी अस्पताल, डॉ नरेश कुमार,
गाजियाबाद, नोएडा और फरीदाबाद जैसी जगहों से आकर दिल्ली में टेस्ट करा रहे हैं.


क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स और डॉक्टर्स
एलएनजेपी अस्पताल के पल्मोनरी मेडिसिन के विभागाध्यक्ष डॉ. नरेश कुमार कहते हैं, 'देखिए इसके कई कारण हैं. हम अब दवाओं से भी बेहतर तरीके से लैस हो गए हैं. लोकिन, अभी भी गंभीर मरीज आ रहे हैं. हमारे पास रेमडेसिविर (Remdesvir) और टोसिलीज़ुमाब (Tocilizumab) जैसी दवाई पर्याप्त मात्रा हैं, जो कोरोना मरीजों पर कारगर साबित हो रही हैं. पिछले कुछ दिनों की आंकड़े देखने से लगता है कि इस बीमारी पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है. हालांकि, यह बोलना अभी थोड़ी जल्दबाजी होगी. नए मामले आने कुछ कम हो गए हैं. पुराने मरीज भी अब ज्यादा स्वस्थ्य हो रहे हैं. अगर रिकवरी रेट की बात करें तो 15 जून के आस-पास तक 39 प्रतिशत रिकवरी रेट थी. 15 जुलाई तक रिकवरी रेट का प्रतिशत लगभग 81 प्रतिशत तक पहुंच गया और अब देखिए बीते सोमवार को यह 91 प्रतिशत तक पहुंच चुका है.'

दो महीने पहले और अब में कितना फर्क आया
डॉ नरेश कुमार आगे कहते हैं, 'मरीजों के कमी के कई कारण हैं. शुरुआती दौर में व्यवस्थाएं बनाने में थोड़ा वक्त लग गया था. शुरुआती दिनों में दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के पास सिर्फ 134 एंबुलेंस थी जो बढ़ कर अब 650 के आस-पास पहुंच गई है. इसी तरह दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों को मिला दें तो कोविड बेड की संख्या 3700 के आस-पास थी जो अब बढ़ कर तकरीबन 14 हजार के आस-पास तक पहुंच गया है. इसी तरह आईसीयू बेड की संख्या 300 से भी कम थी जो अब बढ़ कर 2200 से भी ज्यादा हो गई है. इसके बावजूद अभी कुछ कहना जल्दबाजी है. क्योंकि दिल्ली से सटे राज्यों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. बाहरी मरीज भी भारी संख्या में एलएनजेपी अस्पताल में आ रहे हैं.'

cm arvind kejriwal,home minister amit shah, arvind kejriwal letter to amit shah, Delhi Corona Update, Delhi NCR, Covid 19, Corona Virus, Corona Positive, Corona Infection, Manish sisodia, anil baijal, lnjp hospital, lok nayak hospital delhi, दिल्‍ली, दिल्‍ली न्‍यूज, दिल्‍ली न्‍यूज अपडेट, दिल्‍ली कोरोना अपडेट, दिल्‍ली एनसीआर, कोविड 19, कोरोना वायरस, कोरोना पॉजिटिव, कोरोना संक्रमण, अरविंद केजरीवाल, छतरपुर कोविड केयर सेंटर, कोविड 19 सेंटर में सेना के डॉक्टर, अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, अनिल बैजलकई दिनों बाद राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है.
कई दिनों बाद राजधानी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है.(फाइल फोटो)


ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने इन राज्यों से कहा- बाढ़ और बारिश से त्रस्त लोगों के लिए राशन की डोर डिलीवरी व्यवस्था शुरू की जाए

गौरतलब है कि मंगलवार को दिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने जो हेल्थ बुलेटिन जारी किया है उसमें पिछले 24 घंटे में 1257 मरीज कोरोना पॉजिटिव के पाए गए हैं. 727 कोविड मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं. वहीं जून के बाद पहली बार इतने कम 8 लोगों की मौत हुऊ है. दिल्ली में अब तक कुल 1 लाख 47 हजार 391 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. अब तक 1 लाख 32 हजार 384 लोग कोरोना को मात दे चुके हैं. वहीं मंगलवार तक 4139 लोगों की मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज