लाइव टीवी

JNU हिंसा और CAA पर केजरीवाल की चुप्पी पर सिब्बल का निशाना, कहा- उन्हें वोट बैंक जाने का डर
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 20, 2020, 12:59 PM IST
JNU हिंसा और CAA पर केजरीवाल की चुप्पी पर सिब्बल का निशाना, कहा- उन्हें वोट बैंक जाने का डर
कपिल सिब्बल ने साधा अरविंद केजरीवाल पर निशाना

सिब्बल (kapil Sibal) ने कहा कि इन मामलों पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) की ‘कमजोर’ प्रतिक्रिया से ‘अवसरवादिता की बू’ आती है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल (kapil Sibal) ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को लेकर हंगामा एवं जामिया-जेएनयू (JNU) हिंसा पर केजरीवाल की प्रतिक्रिया पर निशाना साधा है. सिब्बल ने कहा कि इन मामलों पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की ‘कमजोर’ प्रतिक्रिया से ‘अवसरवादिता की बू’ आती है. सिब्बल ने कहा कि कांग्रेस दिल्ली चुनाव में ‘अहम’ भूमिका निभाएगी. उन्होंने भरोसा जताया कि पार्टी को पर्याप्त सीटें मिल सकती हैं, जिनके बल पर वह सरकार गठन में ‘निर्णायक भूमिका’ निभा सकती है.

'केजरीवाल ने खुलकर बयान नहीं दिए'
सिब्बल ने मीडिया से कहा, ‘वह (केजरीवाल) जामिया (मिल्लिया इस्लामिया) में नहीं आए, वह जेएनयू (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) में नहीं आए. उन्होंने पर्याप्त रूप से बार-बार, मजबूत और खुलकर बयान नहीं दिए.’ उन्होंने कहा कि आस-पास जो कुछ हो रहा है, उसे लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की कुछ हद तक ‘कमजोर’ प्रतिक्रिया ने सही संकेत नहीं भेजे हैं. राज्यसभा सांसद एवं दिल्ली चुनाव में कांग्रेस की चुनाव एवं प्रचार समितियों के सदस्य सिब्बल ने कहा, ‘इससे अवसरवादिता की बू आती है’.

'अभी तक जेएनयू नहीं गए केजरीवाल'

यह पूछे जाने पर कि क्या संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर व्यापक हंगामा और विश्वविद्यालय परिसरों में हिंसा चुनाव में बड़ा कारक साबित होंगे, सिब्बल ने ‘हां’ में जवाब दिया. उन्होंने कहा, ‘केजरीवाल ने किया क्या है? केजरीवाल अभी तक परिसरों में नहीं गए, वे जेएनयू भी नहीं गए, क्योंकि यह राजनीति है,’

'केजरीवाल को है वोट बैंक चले जाने का डर'
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘जब राजनीतिक दल सही मकसद के लिए नहीं, बल्कि केवल चुनाव के लिए कोई रुख अपनाते हैं, तब यह समस्या होती है, लोगों को सब दिखाई देता है.’ सिब्बल ने यह भी आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) वह वोट बैंक चले जाने के डर से सीएए, एनपीआर और एनआरसी के बारे में अधिक बात नहीं कर रही, जिसकी उसे ‘सख्त जरूरत’ है.कांग्रेस के ‘आप’ को कड़ी चुनौती पेश करने संबंधी एक प्रश्न के उत्तर में सिब्बल ने कहा कि उनकी पार्टी की दिल्ली विधानसभा में कोई सीट नहीं है इसलिए सत्तारूढ़ पार्टी के पास निश्चित ही बढ़त है.



उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि उन्होंने (आप ने) जमीनी स्तर पर जो किया है, वे उससे अधिक दावा करते हैं. उनकी मीडिया प्रचार मुहिम शानदार है. यह कुछ हद तक हमारे प्रधानमंत्री की मीडिया प्रचार मुहिम की तरह है. वह भी वास्तविकता में किए अपने काम से अधिक का दावा करते हैं. मुझे लगता है कि लोगों को वास्तविकता पता है. देखते हैं कि क्या होता है.’

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 7:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर