लाइव टीवी

लॉकडाउन को लेकर केजरीवाल सख्त, कहा- नहीं किया पालन तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 7:05 PM IST
लॉकडाउन को लेकर केजरीवाल सख्त, कहा- नहीं किया पालन तो कार्रवाई के लिए तैयार रहें
केजीराल ने साफ कर दिया है कि लोगों की जान बचाने के लिए अगर दिल्ली में सख्ती करने की नौबत आई तो मैं उससे पीछे नहीं हटूंगा.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है लेकिन समय रहते सावधानी नहीं बरती गई तो ये भयानक हो सकता है. इसलिए यदि लोगों ने लॉकडाउन का पालन नहीं किया तो सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहें. दूसरों को बचाने के लिए ऐसा करना जरूरी होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 7:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप से बचाने के लिए दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) लगातार प्रयासरत है. लेकिन इस दौरान लॉकडाउन नहीं मानने वाले लोगों को लेकर अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सख्ती दिखाने के संकेत दिए हैं. केजरीवाल ने साेमवार को कहा कि दिल्ली में अब तक कोरोना के 30 मामले सामने आए हैं. इनमें से 23 लोग वे थे जो विदेश से लौटे थे, इन्हीं के संपर्क में आने के कारण अन्य 7 और लोग संक्रमित हो गए. उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है लेकिन समय रहते सावधानी नहीं बरती गई तो ये भयानक हो सकता है. इसलिए यदि लोगों ने लॉकडाउन का पालन नहीं किया तो सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहें. दूसरों को बचाने के लिए ऐसा करना जरूरी होगा.

मंगलवार से होगी और सख्ती
अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'दूसरे देशों से पता चलता है कि अगर अभी सख्ती नहीं की तो स्थिति और बेकाबू हो सकती है. सभी को लॉकडाउन का पालन करना ही होगा. इटली में आज से एक महीना पहले 23 फरवरी को केवल 100 केस थे. आज एक महीने में इटली में 40 हजार से ज्यादा केस सामने आ गए हैं और 5 हजार से ज्यादा लोगों की एक महीने में मौत हो चुकी है. अमेरिका में भी 29 फरवरी को केवल 68 केस थे और एक आदमी की मौत हुई थी, लेकिन आज अमेरिका में 35 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं और 418 लोगों की मौत हो चुकी है. केजरीवाल ने कहा कि कोई ये नहीं सोचे कि इससे वायरस से हम बच जाएंगे. इसको फैलने से रोकने के लिए एकमात्र तरीका है कि अपने-अपने घरों में थोड़े-थोड़े दिनों के लिए बैठा जाए. इसलिए हमलोगों को दिल्ली को लॉकडाउन करना पड़ा. दिल्ली सरकार, कई राज्य सरकारें और केंद्र सरकार कोरोना वायरस से निपटने के लिए कारगर कदम उठा रही है. ’

दिल्ली में अब तक कोरोना के 30 मरीज



केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस की वजह से गरीबों की मार बहुत पड़ रही है इसलिए दिल्ली के 72 लाख लोगों को अब राशन फ्री में देंगे. 30 मार्च तक राशन दुकानों में राशन पहुंच जाएगा. इसके साथ ही 8.5 लाख बुजर्गों, विधवाओं को 4000 से 5000 हजार रुपये की पेंशन देंगे. ये पेंशन 7 अप्रैल तक उनके अकाउंट में पहुंच जाएगी. दिल्ली में जितने भी रैन बसेरे हैं उनमें लंच और डिनर का फ्री में इंतजाम कर लिया है. जिसको भी खाने की दिक्कत है वह रैन बसेरे में जा कर खाना खा सकते हैं. मिड डे मिल भी बच्चों के घर पर पहुंचाएंगे. इससे गरीब लोगों को मदद मिलेगी. जो मास्क और सेनिटाइजर प्रोडक्ट का मैनुफेक्चरिंग करते हैं वह अपना काम पहले की तरह ही चालू रखें उनको किसी तरह के दिक्कत नहीं होगी. इसके साथ ही जो घर, फेक्ट्री, ठेकेदारी या डेली वेजेज मजदूरों को पैसा नहीं काटे. अगर इस तरह की शिकायत मिलेगी तो उस पर कार्रवाई करेंगे. में काम करने वाले हैं.

बता दें कि सोमवार से दिल्ली की सीमाएं भी सील कर दी गई हैं, जिसके चलते कोई भी ट्रक, बस या अन्य वाहन राजधानी में प्रवेश नहीं कर सकेगा. केवल अनिवार्य और आपातकालीन वस्तुओं को लाने वाले वाहनों को ही प्रवेश दिया जाएगा. रेलवे और मेट्रो की सेवाएं भी इस दौरान पूरी तरह से बंद रहेंगी. इसके साथ ही कंस्ट्रक्‍शन के सभी कामों पर रोक लगा दी गई है. सभी मंदिर व मस्जिद श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे.

ये भी पढ़ें:  Coronavirus से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने किया बड़ा ऐलान, 53 करोड़ रुपये की राशि मंजूर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 6:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर