अरविंद केजरीवाल का ट्वीट- दिल्ली के सबसे बड़े Covid अस्पताल में सोमवार को नहीं हुई एक भी मौत
Delhi-Ncr News in Hindi

अरविंद केजरीवाल का ट्वीट- दिल्ली के सबसे बड़े Covid अस्पताल में सोमवार को नहीं हुई एक भी मौत
दिल्ली के सबसे बड़े कोविड अस्पताल एलएनजेपी में पिछले 24 घंटे में एक भी मौत नहीं हुई है.

दिल्ली के सबसे बड़े कोविड अस्पताल एलएनजेपी (LNJP Hospital) में पिछले 24 घंटे में एक भी मौत नहीं हुई है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने ट्वीट करते हुए यह जानकारी साझा की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के सबसे बड़े कोविड अस्पताल एलएनजेपी (LNJP Hospital) में पिछले 24 घंटे में एक भी मौत नहीं हुई है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने ट्वीट करते हुए यह जानकारी साझा की है. हालांकि, दिल्ली के अन्य अस्पतालों में पिछले 24 घंटे में 28 मरीजों की कोरोना से मौत हुई है. पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या में भी काफी कमी आई है. एक्टिव केस की संख्या लगातार हजार के आस-पास रह रही है.

सोमवार को एलएनजेपी में एक भी मौत कोरोना से नहीं
बता दें कि दिल्ली के जिस कोविड अस्पताल में रोजाना 10 से 12 कोरोना मरीजों की मौत हो रही थी, वहां पर पिछले 24 घंटे में एक भी मौत नहीं हुई है. इससे दिल्ली में कोरोना की सुधरती स्थिति का अंदाजा लगाया जा रहा है. जहां देश के दूसरे राज्यों में कोरोना से हो रही मौत की संख्या में तेजी आ रही है, वहीं दिल्ली में यह अच्छी खबर है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल को कोरोना महामारी शुरू होते ही कोविड अस्पताल में परिवर्तित कर दिया था. इस अस्पताल में फिलहाल सिर्फ और सिर्फ कोरोना मरीजो का इलाज चल रहा है.





पिछले दिनों ही दिल्ली सरकार ने मृत्यु दर कम करने के लिए अस्पतालों में आईसीयू बेड (Intensive Care Unit Bed) की संख्या बढ़ाने का फैसला किया था. अगले कुछ दिनों में राजधानी के तीन बड़े कोविड अस्पताल एलएनजेपी, जीटीबी और राजीव गांधी सुपरस्पेशिलिटी अस्पतालों में 600 बेड बढ़ाए जाएंगे. दिल्ली सरकार ने 31 जुलाई तक दिल्ली के इन तीन बड़े अस्पतालों में 2700 आईसीयू बेड करने का फैसला किया है. दिल्ली के इन तीन अस्पतालों में फिलहाल 2110 आईसीयू बेड हैं.

दो कोरोना वॉरियर्स की हो चुकी है मौत
एलएनजेपी अस्पताल के डाक्टरों का भी मानना है कि दिल्ली में अगर मृत्यु दर कम करना है तो आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाना जरूरी है. फिलहाल दिल्ली में पर्याप्त आईसीयू बेड्स हैं, लेकिन अगर स्थिति थोड़ी भी गंभीर होती है तो यह उपाए पहले कर लेने में ही भलाई है. अगर आने वाले दिनों में मरीजों की संख्या बढ़ेगी तो ये उपाए काम आएंगे.'

ये भी पढ़ें: Corona के खिलाफ केजरीवाल सरकार की लड़ाई तेज, दिल्‍ली के दो बड़े अस्पतालों में बढ़ाई ICU बेड की संख्या

बता दें कि कोरोना की लड़ाई में एलएनजेपी अस्पताल ने अपने दो कोरोना वॉरियर्स को खोया है. सबसे पहले लैब इंचार्ज चरण सिंह और फिर बाद में डॉक्टर असीम गुप्ता की मौत कोरोना से लड़ते-लड़ते हो गई थी. चरण सिंह और डॉ असीम गुप्ता के परिवारवालों को दिल्ली सरकार ने एक करोड़ रुपये का चेक सौंपा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading