दिल्‍ली: कोरोना पर मंथन, बुधवार को केजरीवाल समेत 7 राज्‍यों के CM के साथ बात करेंगे PM मोदी

सीएम अरविंद केजरीवाल कोरोना को लेकर पीएम को देंगे जानकारी.
सीएम अरविंद केजरीवाल कोरोना को लेकर पीएम को देंगे जानकारी.

दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. इस बीच, बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) के साथ दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)की अहम मीटिंग होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 11:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते ग्राफ के कारण स्थिति अब भी चिंताजनक बनी हुई है. प्रतिदिन 4000 से ज्यादा नए केस का आंकड़ा सामने आ रहा है. वहीं, मौजूदा समय में 32 हजार से अधिक कोरोना के एक्टिव मरीज दिल्ली में हैं. एक तरफ कोरोना की लगातार संख्‍या बढ़ती जा रही है, तो दूसरी तरफ कोरोना के कारण लोगों की मौत भी हो रही है. इस बीच, 23 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) के साथ दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की महत्वपूर्ण मीटिंग होने वाली है. हालांकि इस दौरान कई और राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों के साथ भी पीएम की बातचीत होगी.

वर्चुअल होगी मीटिंग
23 सितंबर को होने वाली मीटिंग वर्चुअल होगी.ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी मीटिंग का हिस्सा बनेंगे. आपको बता दें कि इस मीटिंग में दिल्ली के साथ उत्‍तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब सहित 7 प्रदेशों के मुख्‍यमंत्री भी शामिल होंगे. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल इस मीटिंग में पीएम मोदी को दिल्ली की स्थिति की जानकारी देंगे. हालांकि दिल्ली की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है, लेकिन दिल्ली सरकार का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है.

दिल्ली में बढ़ाई गई है टेस्टिंग
आपको बता दें कि दिल्ली की मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री लगातार यह बात कह रहे हैं कि दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग डबल की गई है और ज्यादा से ज्यादा लोगों के टेस्ट किए जा रहे हैं. उनका मानना है कि टेस्ट ज्यादा होने से केस भी ज्यादा आ रहे हैं.



बीजेपी ने लगातार केजरीवाल सरकार पर साधा निशाना
दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों पर दिल्ली बीजेपी लगातार अरविंद केजरीवाल सरकार को घेर रही है. दिल्ली बीजेपी के नेताओं का कहना है कि जून महीने में भी जब दिल्ली की स्थिति खराब हुई थी, तब केंद्र सरकार और गृह मंत्री के दखल के बाद स्थिति पर नियंत्रण पाया गया था. कोरोना से निपटने में दिल्ली सरकार पूरी तरीके से फेल रही है. दिल्ली बीजेपी के नेताओं का यह भी कहना है कि सिर्फ अरविंद केजरीवाल विज्ञापनों के जरिए दिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि दिल्ली की स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन जमीनी तौर पर हकीकत सबके सामने है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज