• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Dengue Fever: आयुष मंत्रालय की सलाह, व्रत और प्राणायाम से ऐसे करें डेंगू बुखार का इलाज

Dengue Fever: आयुष मंत्रालय की सलाह, व्रत और प्राणायाम से ऐसे करें डेंगू बुखार का इलाज

आयुष मंत्रालय ने प्राकृतिक चिकित्‍सा और प्राणायाम से डेंगू का इलाज घर पर करने की सलाह दी है.

आयुष मंत्रालय ने प्राकृतिक चिकित्‍सा और प्राणायाम से डेंगू का इलाज घर पर करने की सलाह दी है.

Ayush Ministry Guidelines for Dengue Fever: आयुष मंत्रालय की ओर से बताए गए उपचार के तरीकों में प्राकृतिक चिकित्‍सा और योग के माध्‍यम से डेंगू मरीज का इलाज करने के लिए गाइडलाइंस दी गई हैं. जिसमें बताया गया है कि प्राकृतिक चिकित्‍सा या नेचुरोपैथी के अनुसार डेंगू होने पर घबराने की जरूरत नहीं है. मरीज को घर पर रखकर भी डेंगू का इलाज किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. कोरोना से जूझ रहे भारत में अब डेंगू (Dengue) और मौसमी बुखार अपना कहर बरपा रहा है. सैकड़ों की संख्‍या में डेंगू और वायरल फीवर से पीड़‍ित मरीज अस्‍पतालों में भर्ती हैं. अभी तक यूपी, बिहार, हरियाणा, एमपी सहित कई राज्‍यों में 100 से ज्‍यादा डेंगू मरीजों की मौत (Death of Dengue Patients) हो चुकी है. इनमें बच्‍चों की संख्‍या काफी ज्‍यादा है. अभी तक डेंगू का कोई सटीक इलाज न होने और लक्षणों आधार पर उपचार होने के चलते केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय (Ayush Ministry) की ओर से भी इस बीमारी के मरीजों के इलाज के लिए प्राकृतिक चिकित्‍सा (Naturopathy) और योग (Yoga) को अपनाने की सलाह दी गई है.

    आयुष मंत्रालय की ओर से बताए गए उपचार के तरीकों में प्राकृतिक चिकित्‍सा और योग के माध्‍यम से डेंगू मरीज का इलाज करने के लिए गाइडलाइंस दी गई हैं. जिसमें बताया गया है कि प्राकृतिक चिकित्‍सा या नेचुरोपैथी के अनुसार डेंगू होने पर घबराने की जरूरत नहीं है. मरीज को घर पर रखकर भी डेंगू का इलाज (Dengue Tratment) किया जा सकता है. इस चिकित्‍सा के अनुसार बुखार शरीर के लिए अलार्मिंग लक्षण की तरह है जो यह बताता है कि शरीर के अंदर कुछ गलत हो रहा है जिसे सही करने की जरूरत है. डेंगू बुखार में शरीर का तापमान (Body Temperature) सबसे बड़ी वजह होता है. ऐसे में इसे संतुलित रखना जरूर है. लिहाजा आयुष मंत्रालय ने इलाज के ये तरीके बताए हैं.

    व्रत रखने से डेंगू में मिलेगी राहत

    आयुष की ओर से डेंगू होने पर मरीज को व्रत (Fast) रखने से फायदा होता है. यह डेंगू के असर को घटाने वाला उपचार है. हालांकि सिर्फ सादा पानी पीकर रखा गया व्रत नुकसानदेह हो सकता है. व्रत में मरीज फलों का जूस या कोई भी लिक्विड डाइट (Liquid Diet) ले सकता है. खाने में सुपाच्‍य खुराक भी ले सकता है. हालांकि व्रत के दौरान कोई भी ऐसा भोजन नहीं करना है जिसे पचाना मुश्किल हो. इसके अलावा सादा गुनगुना पानी ज्‍यादा से ज्‍यादा मात्रा में पीएं. फलों और सब्जियों के जूस के साथ ही नारियल पानी, नीबू और शहद का पानी और गेंहू की घास का जूस दे सकते हैं. इससे मरीज जल्‍दी ठीक होने लगेगा.

    बर्फ की सिकाई और योग से मिलेगा आराम

    डेंगू के बुखार की स्थिति में लगातार बर्फ या ठंडे पानी के पैकेट को मरीज के माथे और पेट पर बारी बारी से रखें. ऐसा करीब 20 मिनट तक करें. वहीं इस प्रक्रिया को हर दो घंटे में दोहराते रहें. ऐसा तब तक करें जब तब कि मरीज का बुखार उतर न जाए और वह सामान्‍य तापमान पर न आ जाए. इसके अलावा मरीज के पैरों को गर्म पानी में रखने के साथ ही उसके माथे पर गीली पट्टी रखें. इससे शरीर का तापमान कम होने लगेगा.

    डेंगू में मरीज को नाड़ीशुद्धि या अनुलोम विलोम प्राणायाम (Anuloma-Viloma), शीतली और शीतकारी व भ्रामरी प्रणायाम कराना लाभदायक रहेगा. दिन में दो बार इन्‍हें नौ बार करना है. मंत्रालय का कहना है कि ये उपचार दवाओं के साथ भी किया जा सकता है लेकिन अगर बुखार बहुत तेजी से न बढ़ रहा हो तो दवा न लेना और भी बेहतर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज