• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • 'महागठबंधन' पर तंज क्यों कस रही आम आदमी पार्टी?

'महागठबंधन' पर तंज क्यों कस रही आम आदमी पार्टी?

न्यूज18 इंडिया की ‘बैठक’ में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया

न्यूज18 इंडिया की ‘बैठक’ में दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया

अरविंद केजरीवाल के खास साथी मनीष सिसोदिया ने क्यों कहा 'महागठबंधन सिर्फ टीवी में होता दिख रहा है. महागठबंधन में महान लोग हैं, हम कहां से आ गए?'

  • Share this:
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले के खिलाफ 4 अगस्त को जंतर-मंतर पर हुए आरजेडी धरना-कैंडल मार्च में आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल पहुंचे जरूर थे, लेकिन राहुल गांधी के आने से पहले वे निकल गए. इसके राजनीतिक मायने निकाले गए. अब केजरीवाल के सबसे खास साथी दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया 'महागठबंधन' पर तंज कस रहे हैं. इन दोनों बातों को महज संयोग नहीं माना जा सकता. आखिर सिसोदिया क्यों कह रहे हैं 'महागठबंधन सिर्फ टीवी में होता दिख रहा है. हम महागठबंधन में नहीं हैं. महागठबंधन में महान लोग हैं, हम कहां से आ गए?'

NEWS18 इंडिया की 'बैठक' में सिसोदिया ने कहा, "अखिलेश-मायावती, कांग्रेस-आरजेडी अगर महागठबंधन है तो अच्छी बात है. फिलहाल महागठबंधन राज्यों में ही हो रहा है. हम महागठबंधन में आने की हैसियत नहीं रखते. यह महागठबंधन अभी जमीन पर तो नहीं सिर्फ टीवी पर ही नजर आता है. राजनीति में कुछ भी तय नहीं होता. इस महागठबंधन का भविष्य समय बताएगा."

महागठबंधन, अखिलेश यादव, मायावती, कांग्रेस, आरजेडी, अरविंद केजरीवाल, ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी, मनीष सिसोदिया, Mahagathbandhan, Akhilesh Yadav, Mayawati, Congress, RJD, Arvind Kejriwal, Mamta Banerjee, Aam Aadmi Party, Manish Sisodia, बैठक, न्यूज18 इंडिया, Baithak, News18India, AAP, आप       अरविंद केजरीवाल (File Photo)

सवाल ये उठता है कि आम आदमी पार्टी क्यों मोदी विरोधी महागठबंधन का हिस्सा नहीं बनना चाहती है. जो लोग एकजुट दिख रहे हैं उन पर भी तंज क्यों कस रही है? जबकि उसके नेता हर बात के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना लगाते रहते हैं. क्या उसे राहुल गांधी, मायावती या ममता बनर्जी में से कोई भी विपक्ष के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी के तौर पर मंजूर नहीं है? क्या केजरीवाल प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं? इन सवालों का जवाब सिसोदिया के बयान में मिल जाएगा. उन्होंने कहा, "केजरीवाल की जिद ही उनकी ताकत है. मैं तो चाहता हूं कि अरविंद केजरीवाल प्रधानमंत्री बन जाएं."

राजनीतिक विश्लेषक आलोक भदौरिया का मानना है कि महागठबंधन पर तंज कसने और राहुल गांधी के साथ मंच न शेयर करने के पीछे सिर्फ एक ही बात है. वह है आम आदमी पार्टी के वजूद का एहसास कराना. ताकि चुनाव पूर्व और बाद में पार्टी के नेता केजरीवाल को बड़ी भूमिका मिल जाए.

 महागठबंधन, अखिलेश यादव, मायावती, कांग्रेस, आरजेडी, अरविंद केजरीवाल, ममता बनर्जी, आम आदमी पार्टी, मनीष सिसोदिया, Mahagathbandhan, Akhilesh Yadav, Mayawati, Congress, RJD, Arvind Kejriwal, Mamta Banerjee, Aam Aadmi Party, Manish Sisodia, बैठक, न्यूज18 इंडिया, Baithak, News18India, AAP, आप         लोकसभा चुनाव में किसके साथ होगी 'आप'? 

भदौरिया के मुताबिक “ये आम आदमी पार्टी के अपने स्टैंड का प्री लांच भी हो सकता है. दरअसल,  ‘आप’ का जनाधार दिल्ली और पंजाब के अलावा कहीं नहीं बचा है. केजरीवाल जो नए तरह की राजनीति करना चाहते थे वह किसी मुकाम तक पहुंचती नहीं दिख रही है. ऐसे में ‘आप’ भी पारंपरिक राजनीति के दलदल में फंस गई है. इसलिए उसके नेता विपक्षी दलों के बीच अपने वजूद का एहसास नहीं करवाएंगे तो क्या करेंगे?”

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज