लाइव टीवी

बार काउंसिल ने दिखाई सख्ती, कहा- हिंसा करने वाले वकीलों पर होगी कार्रवाई

News18Hindi
Updated: November 5, 2019, 3:39 PM IST
बार काउंसिल ने दिखाई सख्ती, कहा- हिंसा करने वाले वकीलों पर होगी कार्रवाई
साकेत कोर्ट में पुलिसकर्मी की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद फिर भड़का मामला.

साथ ही हड़ताल (Strike) कर रहे वकीलों (Lawyers) को भी चेताते हुए काम पर लौटने का दिया आदेश, कहा- नहीं खत्म की हड़ताल तो उठाएंगे कड़े कदम.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2019, 3:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. वकीलों (Lawyers) और पुलिस (Police) के बीच शनिवार को हुई झड़प का मामला मंगलवार को एक बार फिर सुलग गया. पुलिस मुख्यालय (Police headquarters) पर प्रदर्शन करने जुटे पुलिसकर्मियों ने कमिश्नर अमूल्य पटनायक (Amulya Patnayak) की बात भी नहीं मानी और प्रदर्शन को जारी रखा. साथ ही पटनायक के इस्तीफे की भी मांग कर दी. इसी बीच बार काउंसिल ऑफ इंडिया (Bar Council Of India) भी हरकत में आया और वकीलों को कड़ी चेतावनी दे डाली. बार काउंसिल ने कहा कि रोहिणी और साकेत कोर्ट में हिंसा करने वाले वकीलों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. बार काउंसिल ने वकीलों को चेताया कि वे हड़ताल खत्म कर तत्काल काम पर लौटें नहीं तो इसके खिलाफ भी काउंसिल को कदम उठाना पड़ेगा.

बार काउन्सिल ऑफ इंडिया ने बार संगठनों को पत्र लिखकर गुंडागर्दी में संलिप्त वकीलों की पहचान करने का अनुरोध किया है. इस संस्था ने वकीलों से अपना विरोध खत्म करने का आग्रह किया है क्योंकि यह संस्थान को बदनाम कर रहा है. बार काउन्सिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा ने इस तरह के उपद्रवी तत्वों को बख्शने से संस्थान की छवि खराब कर रही है और बार संगठनों की यही निष्क्रियता तथा सहनशीलता ऐसे वकीलों का हौसला बढ़ाती है. अंत में इसकी परिणति उच्च न्यायालयों या उच्चतम न्यायालय में अवमानना कार्यवाही के रूप में होती है.

मिश्रा ने अपने पत्र में कहा, दिल्ली उच्च न्यायालय के शानदार कदम के बाद भी जिस तरह से कुछ वकीलों ने आचरण कर रहे हैं, कुछ वकीलों के कल (चार नवंबर) के आचरण ने हमें विचलित किया है. अदालत से अनुपस्थित रहने या हिंसा का सहारा लेना हमारे लिये मददगार नहीं होगा बल्कि ऐसा करके हम अदालतों, जांच कर रहे न्यायाधीशी, सीबीआई, गुप्तचर ब्यूरो और सतर्कता विभाग की सहानुभूति भी खो रहे हैं. यहां तक कि आम जनता की राय भी हमारे विरूद्ध जा रही है. इसके नतीजे खतरनाक हो सकते हैं.

साकेत कोर्ट का वीडियो वायरल होने के बाद बढ़ा मामला

इस पूरे मामले से संबंधित एक वीडियो सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. साकेत कोर्ट के इस वीडियो में तीन चार वकीलों ने मोटरसाइकिल पर सवार एक पुलिसकर्मी को कोर्ट परिसर में घेर लिया. इसके बाद उनमें से एक वकील ने पुलिसकर्मी पर जमकर थप्पड़ और घूंसे बरसाए. जब वह पुलिसकर्मी वहां से जाने लगा तो उसने पीछे से उस पर हेल्मेट भी फेंका. इस दौरान वहां मौजूद अन्य वकील पुलिसकर्मी को अपशब्द कहते रहे.

पुलिसकर्मियों ने की दोषी वकीलों का लाइसेंस रद्द करने की मांग
इस बीच प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मियों ने दोषी वकीलों के खिलाफ कार्रवई की मांग की. पुलिसकर्मियों ने कहा कि दोषी पाए जाने वाले वकीलों का लाइसेंस रद्द किया जाए और उन पर कानूनी कार्रवाई की जाए. इसके बाद ही बार काउंसिल का कार्रवाई संबंधी बयान आया.
Loading...

की गई है एफआईआर
इस बीच पुलिस कमश्निर अमूल्य पटनायक ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि दोनों पक्षों की तरफ से मामला दर्ज करवाया गया है. आरोपी वकीलों के खिलाफ भी एफआईआर की गई है. इनको जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा और दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

कमिश्नर ने बुलाई बैठक
वहीं दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने बिगड़ते हालात पर पुलिस के आला अधिकारियों की बैठक बुलाई है. यह बैठक दिन में करीब 3.45 बजे शुरू हुई. बैठक के दौरान नाराज पुलिसकर्मियों को मनाने और बिगड़ते हालात पर काबू करने को लेकर गहन चर्चा चल रही है.

ये भी पढ़ेंः Delhi Police Protest: कमिश्नर की बात भी नहीं माने पुलिसकर्मी, अब गृहमंत्रालय ने एलजी को दी जिम्मेदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 3:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...