Farmers Protest: किसानों का कल भारत बंद! रेल, सड़क, मार्केट सभी रहेंगी बंद, दिल्ली बॉर्डर के खुले मार्ग भी बंद करने का ऐलान

किसान संयुक्त मोर्चा ने कल 26 मार्च को भारत बंद का ऐलान किया है. (File Photo)

किसान संयुक्त मोर्चा ने कल 26 मार्च को भारत बंद का ऐलान किया है. (File Photo)

Farmers Protest: दिल्ली की जिन सीमाओं पर किसानों का लंबे समय से धरना चल रहा है, वह सड़कें पहले से ही बंद हैं. लेकिन इस दौरान वैकल्पिक रास्ते खुले हुए थे. उन्होंने कहा कि कल के भारत बंद के दौरान सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक इन वैकल्पिक रास्तों को भी बंद किया जाएगा. इसका मतलब दिल्ली के जो रास्ते खुले हुए हैं. उनका आवागमन बंद होने की वजह से लोगों को कल भारी परेशानी का सामना उठाना पड़ सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 8:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ संघर्ष के 4 माह पूरे होने पर अब किसान संयुक्त मोर्चा ने कल 26 मार्च को भारत बंद का ऐलान किया है. कल शुक्रवार को सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक यह बंद रहेगा.

इस दौरान देश भर की सभी दुकानें, मॉल, बाजार और संस्थान सभी बंद रहेंगे. साथ ही सभी छोटी व बड़ी सड़कें और ट्रेनों को जाम करने करने का भी ऐलान किया गया है. किसानों ने सिर्फ एंबुलेंस व अन्य आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी को बंद रखने का फैसला किया है.

संयुक्त किसान मोर्चा के डॉ. दर्शन पाल सिंह के मुताबिक दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के संघर्ष को कल 26 मार्च को 4 माह पूरे हो रहे हैं. इस पर किसान मोर्चा ने किसान विरोधी सरकार के खिलाफ भारत बंद का ऐलान किया है.

मोर्चा के आह्वान पर देश के तमाम किसान, मजदूर व छात्र संगठनों, बार संघ, राजनीतिक दलों और अन्य राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों ने इस बंद को समर्थन देने का ऐलान भी किया है.
दर्शन पाल ने कहा है कि तमाम छोटी और बड़ी सड़कों के बंद रखने के साथ-साथ ट्रेनों को भी जाम किया जाएगा. वहीं उन्होंने यह भी साफ किया है कि भारत बंद का प्रभाव दिल्ली के भीतर भी नजर आएगा.

उन्होंने कहा है कि दिल्ली की जिन सीमाओं पर किसानों का लंबे समय से धरना चल रहा है, वह सड़कें पहले से ही बंद हैं. लेकिन इस दौरान वैकल्पिक रास्ते खुले हुए थे. उन्होंने कहा कि कल के भारत बंद के दौरान सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक इन वैकल्पिक रास्तों को भी बंद किया जाएगा. इसका मतलब दिल्ली के जो रास्ते खुले हुए हैं. उनका आवागमन बंद होने की वजह से लोगों को कल भारी परेशानी का सामना उठाना पड़ सकता है.

डॉ. पाल ने बताया कि जिन मांगों को लेकर भारत बंद किया जा रहा है उनमें तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने, एमएसपी व खरीद पर कानून बनाने, किसानों पर किए गए सभी पुलिस केस रद्द करने, बिजली बिल और प्रदूषण बिल वापस कराने और डीजल पेट्रोल गैस की कीमतों को कम करने की मांगे प्रमुख रूप से शामिल हैं.



मोर्चा ने सभी प्रदर्शनकारी नागरिकों से यह भी अपील की है कि वह इस दौरान शांति बनाकर बंद को सफल बनाएं. किसी प्रकार की अनावश्यक बहस में ना पड़ें. उन्होंने कहा कि यह किसानों के सब्र का ही परिणाम है कि आंदोलन इतना लंबा चला है. उन्होंने कहा कि हमें निरंतर इस संघर्ष में सफलता मिल रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज