अपना शहर चुनें

States

रविदास मंदिर हटाने के खिलाफ दिल्‍ली पहुंची भीम आर्मी, सड़कों पर उतरे लोग

तुगलकाबाद में रविदास मंदिर हटाने के खिलाफ दिल्‍ली पहुंची भीम आर्मी, प्रदर्शन जारी.
तुगलकाबाद में रविदास मंदिर हटाने के खिलाफ दिल्‍ली पहुंची भीम आर्मी, प्रदर्शन जारी.

हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं. हाल ही में दिल्‍ली के सामाजिक कल्‍याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने आरोप लगाया था कि दिल्‍ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने पिछले शनिवार को पुलिस की मौजूदगी में रविदास मंदिर को गिरा दिया और प्रतिमा को ले गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 12:41 PM IST
  • Share this:
दिल्ली के तुगलकाबाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रविदास मंदिर (Ravidas Temple) हटाए जाने के खिलाफ भीम आर्मी (Bhim Army) दिल्‍ली पहुंच गई है. रामलीला मैदान सहित अन्‍य जगहों पर उतरे भीम आर्मी के लोग मंदिर हटाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं. इस प्रदर्शन में न केवल भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर मौजूद हैं बल्कि दिल्‍ली सरकार में सामाजिक कल्‍याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम और आम आदमी पार्टी (AAP) के कई विधायक भी श‍ामिल हैं.

इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट ने राजनीति न करने की हिदायत दी थी. बावजूद इसके हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं. हाल ही में दिल्‍ली के सामाजिक कल्‍याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने आरोप लगाया था कि दिल्‍ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने पिछले शनिवार को पुलिस की मौजूदगी में मंदिर को गिरा दिया और प्रतिमा को ले गए. हालांकि, प्राधिकरण ने मंदिर शब्‍द का इस्‍तेमाल न करते हुए कहा कि उसने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर स्‍ट्रक्‍चर को हटाया.

इससे पहले दलित समुदाय ने बंद रखा पंजाब, किया विरोध प्रदर्शन
रविदास मंदिर को हटाने को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद मंगलवार को दलित समुदाय ने पंजाब में बंद रखा था. इस दौरान ज्‍यादातर दुकानें और व्‍यावसायिक प्रतिष्‍ठान बंद रहे. प्रदर्शनकारियों ने जालंधर-दिल्‍ली राजमार्ग समेत कुछ जगह सड़क पर जाम लगाया. जाम के कारण लोगों को काफी समस्‍या का सामना करना पड़ा. दलित समुदाय के लोगों ने कुछ जगह विरोध मार्च निकाला तो कई जगह धरना-प्रदर्शन कर पुतले जलाए और सड़कों पर टायर जलाए.
सुप्रीम कोर्ट ने कहा प्रदर्शन है न्‍यायालय की अवमानना


वहीं विरोध प्रदर्शनों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा था कि शीर्ष अदालत आदेश के खिलाफ प्रदर्शनों को गंभीरता से ले रही है. इस तरह की हर गतिविधि को अदालत के आदेश की अवमानना माना जाएगा. हर व्‍यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से मामले में सहायता मांगी है. इस पर वेणुगोपाल ने सहमति दे दी है. इस बीच डीडीए ने कोर्ट को बताया कि उसके आदेश के मुताबिक अवैध स्‍ट्रक्‍चर को हटा दिया गया.

विजय गोयल ने की थी एक माह का वेतन देने की घोषणा
तुगलकाबाद (Tughlakabad) में संत रविदास मंदिर (Ravidas Mandir) के तोड़े जाने पर पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद विजय गोयल (Vijay Goel) ने कहा कि संत रविदास जी के मंदिर को दोबारा बनाया जाना चाहिए. इसके लिए गोयल ने ‘गुरू रविदास जयंती समारोह समिति’ को कहा कि इस मंदिर के निर्माण के लिए वह अपना एक माह का सांसद का वेतन देंगे और मंदिर निर्माण के लिए अन्य लोगों को भी प्रेरित करेंगे.

ये भी पढ़ें

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज