होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, सुपरसिटी बिल्डर के ऑफिस को किया सील, जानें वजह

गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, सुपरसिटी बिल्डर के ऑफिस को किया सील, जानें वजह

UP रेरा की RC (रिकवरी सर्टिफिकेट) पर कार्रवाई हुई है.

UP रेरा की RC (रिकवरी सर्टिफिकेट) पर कार्रवाई हुई है.

Noida News: बिल्डर पर करीब सवा दो करोड़ रुपए का बकाया है. वहीं, कार्रवाई के बाद बिल्डर ने दूसरा ऑफिस शुरू कर दिया है. इस नए ऑफिस से वह काम कर रहा है. बिल्डर ने सील हुई ऑफिस का मखौल बनाया है. बाहर प्लाई बोर्ड लगाकर दूसरी जगह ऑफिस खोला है. ऐसे में कहा जा सकता है कि रेजिडेंट्स का आरोप महज खानापूर्ति हुई.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है. कहा जा रहा है कि बकाया नहीं देने पर गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने सुपरसिटी बिल्डर का कार्यालय सील कर दिया है. UP रेरा की RC (रिकवरी सर्टिफिकेट) पर कार्रवाई हुई है. बिल्डर पर करीब सवा दो करोड़ रुपए का बकाया है. वहीं, कार्रवाई के बाद बिल्डर ने दूसरा ऑफिस शुरू कर दिया है. इस नए ऑफिस से वह काम कर रहा है. बिल्डर ने सील हुई ऑफिस का मखौल बनाया है. बाहर प्लाई बोर्ड लगाकर दूसरी जगह ऑफिस खोला है. ऐसे में कहा जा सकता है कि रेजिडेंट्स का आरोप महज खानापूर्ति हुई.

बता दें कि गौतम बुद्ध नगर प्रशासन इन दिनों एक्शन मुड में है. पिछले महीने नोएडा और ग्रेटर नोएडा के 32 बिल्डर्स को बड़ा झटका लगा था. गौतम बुद्ध नगर प्रशासन ने बिल्डर्स की 300 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति को सीज कर दिया था. इस महीने सीज संपत्ति की ऑनलाइन (Online) नीलामी की जाएगी. बिल्डर्स के खिलाफ यह कार्रवाई उत्तर प्रदेश भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण (UP Rera) की लिखा-पढ़ी के बाद हुई थी. बड़ी संख्या में फ्लैट खरीदारों को यह बिल्डर्स या तो फ्लैट पर कब्जा नहीं दे रहे थे या उनके रुपये नहीं लौटा रहे थे. रेरा ने भी बिल्डर्स को दर्जनों लैटर लिखे थे. लेकिन रेरा की इस कार्रवाई को बिल्डर्स ने गंभीरता से नहीं लिया था, जिसका नतीजा यह निकला कि मंगलवार को डीएम (DM) सुहास एलवाई के निर्देश पर बिल्डर्स (Builders) के खिलाफ संपत्ति सीज (Property Seizure) करने की कार्रवाई को अंजाम दिया गया था.

सीज की गई संपत्ति की कुल कीमत 500 करोड़ रुपये से कम नहीं है
जानकारों की मानें तो गौतम बुद्ध नगर प्रशासन ने 32 बिल्डर्स की करीब 300 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति को सीज किया था. सीज संपत्ति में 162 फ्लैट, 6 प्लाट, 5 दुकानें और 28 लग्जरी विला बताए जा रहे थे. हालांकि चर्चा यह भी थी कि बाजार रेट के हिसाब से बिल्डर्स की सीज की गई संपत्ति की कुल कीमत 500 करोड़ रुपये से कम नहीं है.

Tags: Noida Authority, Noida news, Noida Police

अगली ख़बर