दिल्ली में बिहार बीजेपी सांसदों की बैठक, नड्डा ने कहा - सहयोगी दल के उम्मीदवारों को भी जीत दिलाने की करें कोशिश
Patna News in Hindi

दिल्ली में बिहार बीजेपी सांसदों की बैठक, नड्डा ने कहा - सहयोगी दल के उम्मीदवारों को भी जीत दिलाने की करें कोशिश
भाजपा की बैठक में जेपी नड्डा ने सहयोगी पार्टी की मदद का भी निर्देश दिया. (फाइल फोटो)

नड्डा ने पिछले हफ्ते बिहार बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में भी अपने अलावा सहयोगी दल के उम्मीदवारों के लिए काम करने का निर्देश दिया था. अब वही टास्क सांसदों को दिया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 29, 2020, 9:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली स्थित भारतीय जनता पार्टी (BJP) के मुख्यालय (Headquarter) में बिहार बीजेपी के सभी सांसदों (MPs) की बैठक हुई. पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) के साथ हुई बैठक में प्रभारी भूपेंद्र यादव (Bhupendra Yadav) के अलावा बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल (Sanjay Jaiswal) और बिहार के संगठन मंत्री नागेंद्र (Nagendra) भी मौजूद थे. संजय जायसवाल ने कहा कि बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष की तरफ से सभी सांसदों को कार्य दिए गए हैं. अब सभी सांसद लोकसभा के सभी मंडलों में वर्चुअल बैठक (Virtual meeting) करेंगे. इसके अलावा जिले के सभी पार्टी पदाधिकारियों के साथ भी बैठक करेंगे. इस बैठक में तय किया गया कि सभी सांसद सितंबर महीने में हर रोज दो पंचायत में जाएंगे और लोगों से मिलेंगे. यानी पूरे सितंबर में 60 पंचायत में एक सांसद जाएंगे.

घटक दलों की जीत भी सुनिश्चित करें सांसद

राष्ट्रीय अध्यक्ष का निर्देश है कि सभी सांसद की जिम्मेदारी अपने अलावा घटक दल को भी जीत दिलाने की होगी. गौरतलब है कि जेपी नड्डा ने पिछले हफ्ते बिहार बीजेपी कार्यसमिति की बैठक में भी अपने अलावा सहयोगी दल के उम्मीदवारों के लिए काम करने का निर्देश दिया था. अब वही टास्क सांसदों को दिया जा रहा है. हालांकि आज की बैठक में बिहार से आने वाले बीजेपी कोटे के केंद्रीय मंत्री नहीं थे. इसपर जायसवाल ने कहा कि उनके साथ अलग से बात हुई है और राष्ट्रीय अध्यक्ष ने उन्हें काम सौंपा है.



सीट शेयरिंग पर नहीं हुई चर्चा
उन्होंने सीट शेयरिंग पर किसी भी तरह की आज चर्चा की बात से इनकार किया. लेकिन जीतन राम मांझी की संभावित एंट्री पर उन्होंने कहा, नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व को स्वीकार कर कोई अगर एनडीए में आता है, तो उसका स्वागत है. बीजेपी की बातों से साफ है कि मांझी की एंट्री से उसे कोई परहेज और परेशानी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज