भाजपा ने AAP सरकार पर लगाए आरोप, कहा- BJP विधायकों के क्षेत्र में नहीं खोले गए वैक्सीनेशन सेंटर, MCD के सेंटर भी बंद किये

दिल्ली सरकार की हालत यह है कि वह कई विधानसभा क्षेत्रों में तो एक-एक केंद्र भी नहीं खोल पाई. 
(सांकेतिक फौटो)

दिल्ली सरकार की हालत यह है कि वह कई विधानसभा क्षेत्रों में तो एक-एक केंद्र भी नहीं खोल पाई. (सांकेतिक फौटो)

दिल्ली सरकार ने कई विधानसभा क्षेत्रों में तो एक भी वैक्सीनेशन केंद्र नहीं खोला है. आप सरकार ने यह कोशिश की है कि जिन क्षेत्रों में भाजपा विधायक हैं, वहां केंद्र न खोले जाएं. लक्ष्मी नगर और गांधी नगर विधानसभा क्षेत्र इसके साफ उदाहरण हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) का थर्ड फेज शुरू हो गया है. थर्ड फेज में 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन डोज दी जा रही है. लेकिन दिल्ली भर में बनाये गये वैक्सीनेशन सेंटर (Vaccination Centre) को लेकर विपक्ष सवाल खड़ा करने लगा है.

दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी (Ramvir Singh Bidhuri) ने आरोप लगाया है कि दिल्लीवालों को जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगाने की बजाय दिल्ली सरकार ओछी राजनीति कर रही है. महामारी के इस दौर में भी अरविंद केजरीवाल (Arvind Government) सरकार महामारी से लड़ने की बजाय भाजपा से राजनीति करने में जुटी हुई है.

बिधूड़ी ने कहा है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि अगर केंद्र सरकार (Central Government) वैक्सीन मुहैया करा दे तो हम पूरी दिल्ली को एक महीने में वैक्सीन लगा देंगे. उन्होंने यह भी दावा किया था कि हम घर-घर जाकर लोगों को टीका लगाएंगे. अब यह एक महीने का वादा तीन महीने में बदल गया है.

लेकिन जिस तरह से दिल्ली सरकार काम कर रही है. उसे देखते हुए तो लगता है कि उसका लक्ष्य दिल्ली को वैक्सीन लगाना नहीं बल्कि भाजपा के साथ अपनी प्रतिद्वंद्विता को ही पूरा करना है. घर-घर टीकाकरण की बात तो हवा-हवाई हो चुकी है.
पहली मई से दिल्ली में युवा वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ है. लेकिन दिल्ली सरकार की हालत यह है कि वह कई विधानसभा क्षेत्रों में तो एक-एक केंद्र भी नहीं खोल पाई.

खासतौर पर आप सरकार ने यह कोशिश की है कि जिन क्षेत्रों में भाजपा विधायक (BJP MLA) हैं, वहां केंद्र न खोले जाएं. लक्ष्मी नगर (Laxmi Nagar) और गांधी नगर (Gandhi Nagar) विधानसभा क्षेत्र इसके साफ उदाहरण हैं.

आप सरकार ने जानबूझ कर इन इलाकों को छोड़ दिया है. यही नहीं, तीनों नगर निगमों (MCD) में भाजपा का शासन है तो आप सरकार उन्हें भी वेक्सीनेशन के काम से दूर रखने की कोशिश कर रही है.



तीनों निगमों के इलाकों में 30 वेक्सीन सेंटर बंद किये 

दिल्ली सरकार ने तीनों नगर निगमों के इलाकों में 30 वेक्सीन सेंटर बंद कर दिए हैं. यह स्थिति तो तब है जब नगर निगमों ने अपने इलाकों में 100 और केंद्र खोलने की अनुमति मांगी है. नए केंद्र खोलने की अनुमति देना तो दूर, दिल्ली सरकार पुराने केंद्रों को ही बंद कर रही है.

45 से अधिक उम्र के टीकाकरण का काम निगम को सौंपा जाए

बिधूड़ी ने सुझाव दिया है कि दिल्ली सरकार 18 से 44 वर्ष तक की उम्र के लोगों के टीकाकरण की जिम्मेदारी ले क्योंकि दिल्ली सरकार ने इस वर्ग के लिए मुफ्त टीकाकरण का ऐलान किया है. 45 से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण का काम नगर निगम को सौंप देना चाहिए क्योंकि केंद्र सरकार इस वर्ग के लिए मुफ्त वैक्सीन मुहैया करा रही है. इस प्रकार दोनों ही अपना-अपना काम तेजी से कर सकेंगे.

दिल्ली भर में अब तक 35,52,037 को दी जा चुकी है कोरोना की डोज 

बताते चलें कि बृहस्पतिवार को भी पिछले 24 घंटे में 68,205 लोगों को कोरोना वैक्सीन के डोज दिए गए. इनमें पहली डोज वालों की संख्या 56,857 रिकॉर्ड की गई. वहीं 11,348 को कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज दी गई. अब तक पहली डोज लेने वालों की संख्या 27,76,649 हो चुकी है. वहीं, दूसरी डोज लेने वालों का आंकड़ा 7,75,388 हो चुका है. अब तक 35,52,037 लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज