BJP ने केजरीवाल सरकार पर लगाए आरोप, कहा- वैक्सीनेशन सेंटर्स पर नहीं वैक्सीन की कमी

कोरोना रोकथाम के लिए वैक्सीनेशन का अभियान जोर शोर से चल रहा है (File Photo)

कोरोना रोकथाम के लिए वैक्सीनेशन का अभियान जोर शोर से चल रहा है (File Photo)

भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि लोगों में कोविशील्ड के प्रति विश्वास की कमी है. दिल्ली सरकार के टीकाकरण केंद्रों पर कोविशील्ड वैक्सीन उपलब्ध है. लेकिन इन सेंटरों पर लोग वैक्सीनेशन के लिए नहीं पहुंच रहे हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) रोकथाम के लिए वैक्सीनेशन (Vaccination) का अभियान जोर शोर से चल रहा है लेकिन दिल्ली सरकार (Delhi Government) की ओर से वैक्सीन की कमी को लेकर लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं और लगातार सेंटरों को बंद करने की बात भी कही जा रही है.

ऐसे में भाजपा ने केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government)  पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि लोगों में कोविशील्ड (Covishield) के प्रति विश्वास की कमी है. दिल्ली सरकार के टीकाकरण केंद्रों (Vaccination Centres) पर कोविशील्ड वैक्सीन उपलब्ध है. लेकिन इन सेंटरों पर लोग वैक्सीनेशन के लिए नहीं पहुंच रहे हैं.

गुप्ता ने ग्राउंड जीरो पर दिल्ली सरकार के सेक्टर 9 रोहिणी में स्थित कोविशील्ड टीकाकरण केंद्र का दौरा किया. 30 मई को इस टीकाकरण केंद्र पर 400 कोविशील्ड की डोज उपलब्ध थी. लेकिन मात्र 55 लोग आये. 31 मई को 400 कोविशील्ड डोज़ उपलब्ध थीं. लेकिन 70 लोग आये. इस केंद्रों  पर 45 वर्ष आयु से अधिक आयु के लोगों के लिए कोविशील्ड उपलब्ध है.

इससे पहले 29 मई को गुप्ता प्रशांत विहार वैक्सीनेशन सेंटर पर जायजा लेने के लिए पहुंचे थे. टीकाकरण अधिकारी से बातचीत करने से पता चला था कि केंद्र पर 100 कोविशील्ड की डोज उपलब्ध थी और मात्र एक व्यक्ति ने पहली डोज लगवाई है. जब इस सेंटर की अधिकारी से रिपोर्ट मांगी तो पता लगा कि 28 मई को भी 110 डोज केंद्र पर उपलब्ध थीं जबकि मात्र 16 लोगों ने वैक्सीन लगवाई थी और चार खराब हो गई थी.
ज्ञात रहे कि दिल्ली में इस समय 45 आयु से अधिक कोविशील्ड के लगभग 180 केंद्रों पर वेक्सीन उपलब्ध है, लेकिन बहुत कम संख्या में लोग टीकाकरण के लिए आ रहे है.

गुप्ता ने कहा कि इससे स्पष्ट प्रतीत होता है कि लोगों में कोविशील्ड के प्रति विश्वास की कमी है. यदि ऐसा है तो गुप्ता ने दिल्ली सरकार से सवाल किया है कि सरकार हाथ पर हाथ पर रख कर क्यों बैठी है ?क्यों नहीं इस सम्बंध में लोगों की दुविधा दूर करने के लिए कदम उठाये जा रहे? मामले की गम्भीरता को देखते हुए गुप्ता ने उप-राज्यपाल अनिल बैजल से हस्तक्षेप की माँग की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज