लाइव टीवी

BJP की EC से मांग- शाहीन बाग धरने में होने वाला खर्च AAP के खाते में जोड़ा जाए
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: January 30, 2020, 10:32 PM IST
BJP की EC से मांग- शाहीन बाग धरने में होने वाला खर्च AAP के खाते में जोड़ा जाए
शाहीन बाग में महिलाएं बीते कई दिनों से नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं.

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और देश में प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के खिलाफ एक महीने से ज्यादा वक्त से प्रदर्शनकारी दक्षिण-पूर्व दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठे हुए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) और मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) सहित बीजेपी (BJP) नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को चुनाव आयोग से मुलाकात की और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) पर शाहीन बाग (Shaheen Bagh) सहित दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों को प्रायोजित करने का आरोप लगाया.

बीजेपी ने इन विरोध प्रदर्शनों पर हो रहे खर्च को आप उम्मीदवारों के खर्चों में जोड़ने की मांग की. बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव ने कहा कि पार्टी ने आम आदमी पार्टी के नेताओं के बयान सहित कई सबूत सौंपे हैं जिससे साबित होता है कि इन प्रदर्शनों के पीछे दिल्ली की सत्तारूढ़ पार्टी है.

इस प्रतिनिधिमंडल में बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी भी शामिल थीं. प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से मामले पर संज्ञान लेने का अनुरोध किया. यादव ने कहा कि चुनाव आयोग ने उन्हें इस मामले पर गौर करने का भरोसा दिया है.

एक महीने से ज्यादा समय से जारी है शाहीन बाग में प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और देश में प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) के खिलाफ एक महीने से ज्यादा वक्त से प्रदर्शनकारी दक्षिण-पूर्व दिल्ली के शाहीनबाग में धरने पर बैठे हुए हैं. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक सरकार सीएए और एनआरसी को खत्म करने का फैसला नहीं करती है, तब तक वे अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे.

8 फरवरी को मतदान, 11 फरवरी को काउंटिंग
गौरतलब है कि दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए एक ही चरण में आठ फरवरी को चुनाव होगा और परिणाम 11 फरवरी को घोषित किए जाएंगे.दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग में चुनाव को लेकर इंतजामों का किया आकलन
दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग में निर्बाध चुनाव आयोजित कराने के लिए इंतजामों का आकलन किया है जहां नये नागरिकता कानून के विरोध में पिछले एक महीने से प्रदर्शन चल रहा है. अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. विशेष आयुक्त (खुफिया) प्रवीर रंजन ने बताया कि इस क्षेत्र में निर्बाध चुनाव सुनिश्चित करने के लिए उच्च स्तर पर आकलन किया गया.

'लोगों ने पुलिस का सहयोग किया'
उन्होंने बताया कि मुख्य चुनाव अधिकारी और निर्वाचन आयोग ने स्थिति की समीक्षा की. चुनाव अधिकारियों के पहुंचने और सामग्री को वहां तक पहुंचाने के लिए वैकल्पिक मार्गों की योजना तैयार की गई है. अधिकारी ने कहा कि शांति बनाए रखने और मतदान के लिए अनुकूल माहौल सुनिश्चित करने के मकसद से प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत की जा रही है. उन्होंने कहा कि सड़क पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिस के साथ सहयोग किया.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि कुछ दिन पहले पिस्तौल लिए हुए एक व्यक्ति प्रदर्शन स्थल पर बने अस्थायी मंच पर चढ़ गया था. उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और उसकी पिस्तौल जब्त कर ली गई है. जिला पुलिस उसके हथियार लाइसेंस को रद्द करने की सिफारिश कर सकती है. 15 दिसंबर से सैकड़ों महिलाएं नोएडा को जोड़ने वाले कालिंदी कुंज रोड पर प्रदर्शन कर रही हैं.

ये भी पढ़ें :-

जामिया फायरिंग: प्रियंका गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, पूछा ये सवाल...

गृह मंत्रालय की अपील पर EC ने बढ़ाया दिल्ली पुलिस कमिश्नर का कार्यकाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 7:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर