लाइव टीवी

दिल्ली कैंट में बोले अमित शाह- 11 तारीख को सरकार बनते ही दायर हो जाएगी कन्हैया और शरजील पर चार्जशीट
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 6:34 PM IST
दिल्ली कैंट में बोले अमित शाह- 11 तारीख को सरकार बनते ही दायर हो जाएगी कन्हैया और शरजील पर चार्जशीट
दिल्ली में प्रचार कर रहे हैं गृहमंत्री अमित शाह (फाइल फोटो)

गृह मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार कन्हैया और उमर खालिद के खिलाफ चार्जशीट की अनुमति नहीं दे रही, लेकिन 11 तारीख को सरकार बनते ही शाम 6 बजे तक चार्जशीट दायर हो जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 6:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के दंगल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह जोरशोर से बीजेपी (BJP) का प्रचार (Election Campaign) कर रहे हैं. मंगलवार को लगातार दूसरे दिन जहां एक तरफ पीएम मोदी की दिल्ली में द्वारिका में चुनावी रैली हुई वहीं दिल्ली कैंट सभा में गृह मंत्री ने जनता को संबोधित किया. यहां गृह मंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार कन्हैया और उमर खालिद के खिलाफ चार्जशीट की अनुमति नहीं दे रही, लेकिन 11 तारीख को सरकार बनते ही शाम 6 बजे तक चार्जशीट दायर हो जाएगी. गृह मंत्री ने कहा कि शरजिल इमाम को गिरफ्तार करने के लिये केजरीवाल ने ट्वीट किया, हमने अगले दिन गिरफ्तार किया और जेल में डाल दिया. मैं दस दिन से बोल रहा हूं लेकिन अब तक केस चलाने की इजाजत नहीं मिली. दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनते ही एक घंटे के अंदर केस चलाने की इजाजत मिलेगी.

शाहीनबाग में फैसला हो चुका है...
उन्होंने कहा कि सीएए भी नहीं रहेगा और सरकार भी नहीं रहेगी. यह मस्जिद का मामला नहीं है कि कोर्ट का फैसला हुआ और हम मान गए. शाहीनबाग में फैसला हो चुका है. फैसला हम कर चुके है, अब इसको हिंदुस्तान मानेगा. गृह मंत्री ने दिल्ली कैंट सभा में केजरीवाल की बीजेपी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करने की चुनौती पर जवाब देते हुए कहा कि केजरीवाल जी ने आज टीवी पर कहा की आपके सीएम के उम्मीदवार कौन हैं वो चर्चा करेंगे. सीएम प्रत्याशी की ज़रूरत नहीं. मैं कहता हूं दिल्ली कैंट के उम्मीदवार मनीष सिंह विकास के मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार हैं. दिल्ली की हर जनता हमारा मुख्यमंत्री उम्मीदवार है. बीजेपी व्यक्ति केन्द्रित पार्टी नहीं, दिल्लीं की हर जनता बीजेपी का सीएम उम्मीदवार है.

अपने वोटबैंक से डरते थे...
वहीं उन्होंने कांग्रेस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि राहुल बाबा, केजरीवाल एंड कंपनी इसलिए अनुच्छेद 370 नहीं हटाना चाहते थे, क्योंकि ये अपने वोटबैंक से डरते थे. हम वोटबैंक से नहीं डरते, देश का जो भला हो, उसे हम डंके की चोट पर करते हैं. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में एक ओर शाहीन बाग का समर्थन करने वाली राहुल गांधी, केजरीवाल एंड कंपनी की टोली है. दूसरी ओर नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में काम करने वाली देशभक्तों की टोली है.

(इनपुट- नीरज)

ये भी पढ़े: 

केजरीवाल के हनुमान चालीसा पढ़ने पर बोले कपिल मिश्रा- अब ओवैसी की बारी

जामिया हिंसा: केंद्र ने HC से कहा- अहम मोड़ पर जांच, अब 29 अप्रैल को सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 6:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर