लाइव टीवी

दिल्ली चुनाव पर BJP का आंतरिक आकलन- दलितों और सिखों का नहीं मिला साथ
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: March 7, 2020, 8:36 AM IST
दिल्ली चुनाव पर BJP का आंतरिक आकलन- दलितों और सिखों का नहीं मिला साथ
दिल्ली भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रभारी और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी कुछ समय तक बैठक में उपस्थित रहे. (फाइल फोटो)

कुछ प्रत्याशियों ने टिकट घोषणा में देरी, घोषणापत्र (Manifesto) जारी करने में विलंब और जिन नेताओं को टिकट नहीं मिला, उनकी भूमिका को भी हार की वजह के रूप में रेखांकित किया.

  • Share this:
नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) में भाजपा (BJP) के प्रदर्शन को लेकर शुक्रवार को पार्टी की बैठक हुई. बीजेपी के आंतरिक आकलन (Internal Assessment) के मुताबिक, दलित और सिख समुदाय ने पार्टी को समर्थन नहीं किया. इसलिए पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा. सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में दिल्ली भाजपा प्रदेश के अध्यक्ष मनोज तिवारी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू और दिल्ली भाजपा के महासचिव (संगठन) सिद्धार्थन ने हिस्सा लिया.

दिल्ली BJP के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रभारी और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी कुछ समय तक बैठक में उपस्थित रहे. उन्होंने कहा, ‘‘इस बैठक में करीब 50 पार्टी प्रत्याशी भी शामिल हुए जिन्हें चुनाव में हार मिली थी. कई लोगों ने बैठक में रेखांकित किया कि उनके विधानसभा क्षेत्रों में दलित और सिख मतदाताओं ने समर्थन नहीं दिया.’’

कुछ प्रत्याशियों ने टिकट घोषणा में देरी हुई
सूत्रों ने बताया कि कुछ प्रत्याशियों ने टिकट घोषणा में देरी, घोषणापत्र जारी करने में विलंब और जिन नेताओं को टिकट नहीं मिला, उनकी भूमिका को भी हार की वजह के रूप में रेखांकित किया. पार्टी के एक प्रत्याशी ने बताया कि बैठक में मौजूद वरिष्ठ नेताओं ने उम्मीदवारों को भरोसा दिलाया कि उनके आकलन के आधार पर कार्रवाई योग्य रिपोर्ट तैयार पर भाजपा नेतृत्व को सौंपी जाएगी. सूत्रों ने बताया कि बैठक में शामिल नहीं होनेवाले प्रत्याशियों से पार्टी सफाई मांगेगी.



बता दें कि बीते 11 फरवरी को दिल्ली विधानसभा चुनाव की मतगणना हुई थी. आम आदमी पार्टी ने इस चुनाव में जहां 62 सीटों पर जीत दर्ज की, वहीं भारतीय जनता पार्टी को 8 सीटें मिली थी. हालांकि, 2015 के मुकाबले बीजेपी को 5 सीटों का फायदा हुआ, जबकि AAP को इतने ही सीटों का नुकसान हुआ है. इधर, कांग्रेस का लगातार दूसरी बार खाता नहीं खुल पाया था.



ये भी पढ़ें- 

दिल्ली हिंसा:लापरवाही का जिम्मेदार कौन?गृह मंत्रालय ने पुलिस से तलब की रिपोर्ट

दिल्‍ली हिंसा: केजरीवाल सरकार ने अब तक 38 लाख रुपये की मुआवजा राशि जारी की

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 7, 2020, 7:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading