• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • चुनाव की वजह से उत्तर प्रदेश सरकार को बीजेपी दे रही है क्लीन चिट : पीएल पुनिया

चुनाव की वजह से उत्तर प्रदेश सरकार को बीजेपी दे रही है क्लीन चिट : पीएल पुनिया

पीएल पुनिया ने व्यवस्था और महंगाई के मुद्दे पर यूपी सरकार को घेरा. (फाइल फोटो)

पीएल पुनिया ने व्यवस्था और महंगाई के मुद्दे पर यूपी सरकार को घेरा. (फाइल फोटो)

भाजपा सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि अमित शाह यूपी सरकार की प्रशंसा कर रहे हैं. जबकि संसद में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बताया कि देश में 9 लाख कुपोषित बच्चे हैं, इनमें से करीब 4 लाख उत्तर प्रदेश में ही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश में चुनाव नजदीक है. इसलिए राज्य सरकार को भाजपा क्लीन चिट दे रही है. यूपी को A 1 राज्य बताते हुए देश का विकसित राज्य बताया जा रहा है. पीएल पुनिया ने कहा कि विकसित राज्य का क्या पैमाना है? महिलाओं के साथ रेप और दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं. दलित अपनी बारात में घोड़ी पर चढ़ नहीं सकता है, गोली तक चलती है. भाजपा से जुड़े बदमाशों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालत जंगलराज जैसी है.

भाजपा सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि अमित शाह यूपी सरकार की प्रशंसा कर रहे हैं. जबकि संसद में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बताया कि देश में 9 लाख कुपोषित बच्चे हैं, इनमें से करीब 4 लाख उत्तर प्रदेश में ही है. यह सर्टिफिकेट केंद्र सरकार का है या कहें कि भाजपा के मंत्री ही ग्राउंड रिपोर्ट दे रहे हैं. वहीं, हवाबाजी में गृह मंत्री कुछ भी कहते रहें.

पीएल पुनिया ने कहा कि जनहित और कोरोना को कैसे राज्य सरकार ने नियंत्रित किया, सब जानते हैं. राज्य सरकार ने आदेश दिया था कि टेस्ट कम करें. जनहित जमीन पर नजर नहीं आता है, भले ही कागजों में नजर आता हो. असल मे यूपी फेल प्रदेश है. उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव जीतने का पूरा प्रयास करेगी, मगर जनता ने मन बना लिया है. मंहगाई बड़ी है, अपराध बढ़े हैं, पेट्रोल डीजल के दामों से लेकर खाने का तेल, फल, सब्जी महंगे हो गए हैं, ऐसे में लोग भाजपा को कैसे वोट देंगे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज