'बीजेपी घमंड के घोड़े पर सवार होकर प्रदेश को बार-बार जलवाने का काम कर रही है'
Delhi-Ncr News in Hindi

'बीजेपी घमंड के घोड़े पर सवार होकर प्रदेश को बार-बार जलवाने का काम कर रही है'
दीपेंद्र सिंह हुड्डा, सांसद, रोहतक लोकसभा

लोकसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि बीजेपी ने प्रदेश में अशांति का माहौल कई बार तैयार करने की कोशिश की.

  • Share this:
लोकसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि बीजेपी ने प्रदेश में अशांति का माहौल कई बार तैयार करने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि पद्मावत फिल्म से भी पहले बीजेपी सरकार ने प्रदेश में कई मसलों पर अशांति का माहौल तैयार किया है. दरअसल, बीजेपी घमंड के घोड़े पर सवार होकर प्रदेश को बार-बार जलवाने का काम कर रही है.

उन्होंने कहा कि पद्मावत फिल्म का मामला हो या फिर कोई और मामला हो सूबे में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नजर नहीं आ रही है. लोग हिंसा पर उतारू हैं. आगजनी व तोड़फोड़ की घटनाएं इस सरकार की नाकामी की वजह से बढ़ी हैं. सांसद ने पद्मावत फिल्म की रिलीज का मसला हो या फिर जाट आंदोलन से लेकर संत गुरमीत बाबा राम रहीम का मामला हो, इशारों-इशारों में सरकार को ही फेल बता दिया.

सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा बीते शुक्रवार को नूंह जिले के सुल्तानपुर गांव में पूर्व गृह राज्य मंत्री मरहूम सरदार खान की पत्नी एवं कांग्रेस नेता एजाज खान की माता रसुलबी के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए सुल्तानपुर (काटपुरी) गांव पहुंचे थे.



पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के सांसद पुत्र दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सवाल के जवाब में कहा कि राहुल गांधी की ताजपोशी के बाद अलवर का लोकसभा उपचुनाव ही नहीं राजस्थान के अजमेर लोकसभा उपचुनाव को भी कांग्रेस बड़े आसानी से जीत रही है. राजस्थान उपचुनाव में कांग्रेस की लहर चल रही है. हरियाणा के कई बड़े कांग्रेस नेताओं ने अलवर-अजमेर में पार्टी उम्मीदवार के लिए प्रचार किया है.
उन्होंने कहा कि कांग्रेस की अब लहर चल पड़ी है. भाजपा को चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ेगा. सांसद ने कहा कि कांग्रेस नेता एजाज खान की माता रसुलबी को अल्लाह जन्नत में आला मुकाम हासिल हों. इस दुःख की घड़ी में वे पीड़ित परिवार के साथ हैं. एजाज अहमद के परिवार से उनका विशेष लगाव है. परिवार का दुःख बांटने के लिए वे सुल्तानपुर गांव में आये हैं.

सांसद दीपेंद्र हुड्डा को दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे आना था, लेकिन वो देर शाम करीब आठ बजे पहुंचे. दीपेन्द्र को सुनने के लिए पारा आठ डिग्री होने और देर शाम होने के बावजूद भी भीड़ डटी रही. इससे पहले बड़कली चौक पर भी दीपेंद्र हुड्डा कुछ समय के लिए रुके. उनके साथ पूर्व परिवहन मंत्री आफ़ताब अहमद ,पूर्व सीपीएस राव दान सिंह सहित कई कांग्रेस नेता मौजूद थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज