Assembly Banner 2021

BJP सांसद लेखी ने कोराेना महामारी में अग्रणी रही महिलाओं का किया सम्मान, कहा-समाज को आकार देने में वर्किंग वूमेन की बड़ी भूमिका!

करोना महामारी में लोगों की सहायता करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया.

करोना महामारी में लोगों की सहायता करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया.

भाजपा सासंद मीनाक्षी लेखी ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को चिह्नित करने के लिए इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज - वूमेन लीडर्स फोरम पर आयोजित सम्मेलन की अध्यक्षता की. यह भी कहा कि भारत एक विभक्ति बिंदु पर है. देश की 120 मिलियन से अधिक युवा महिलाएं कार्यस्थल में प्रवेश कर रही हैं और समाज को आकार देने में बड़ी भूमिका निभा रही है. आकार की मदद के लिए अब महिला नेताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 7, 2021, 11:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day ) को चिह्नित करने के लिए इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज - वूमेन लीडर्स फोरम पर आयोजित सम्मेलन की अध्यक्षता की. कार्यक्रम में विभिन्न मंचों की महिलाओं ने भाग लिया.










लेखी ने विभिन महिलाएँ जिन्होंने करोना महामारी में लोगों की सहायता की उनको सम्मानित भी किया. इस अवसर पर दि‍ल्‍ली सरकार (Delhi Government) के बाल एवं कल्‍याण वि‍भाग एवं समाज कल्‍याण विभाग की ज्‍वाइंट डायरेक्‍टर IAS इरा सिंघल (IAS Era Singhal) को भी सम्‍मानि‍त क‍िया गया. वहीं नई दि‍ल्‍ली नगरपाल‍िका परि‍षद (NDMC) के सेक्रेटरी आईएएस डा. बीएम मि‍श्रा (IAS Dr. BM Mishra) को भी उनके कोरोना (Corona) काल में क‍िये गये वि‍शेष कार्यों के लि‍ये सम्‍मान‍ित कि‍या गया.

International Women's Day , Corona Virus, Covid 19, Women Empowerment, Corona Pandemic
नई दि‍ल्‍ली नगरपाल‍िका परि‍षद के सेक्रेटरी आईएएस डा. बीएम मि‍श्रा को कोरोना काल में वि‍शेष सेवाओं के लि‍ये सम्‍मान‍ित कि‍या गया.



सासंद लेखी ने यह भी कहा कि भारत एक विभक्ति बिंदु पर है. देश की 120 मिलियन से अधिक युवा महिलाएं कार्यस्थल में प्रवेश कर रही हैं और समाज को आकार देने में बड़ी भूमिका निभा रही है. आकार की मदद के लिए अब महिला नेताओं की महत्वपूर्ण भूमिका है.


महिला नेताओं के लिए समय की महत्वपूर्ण आवश्यकता को प्रौद्योगिकी के साथ-साथ नवीनतम रुझानों से भी अवगत कराना है. एआई, 5 जी, और आईओटी जैसे अन्य प्रौद्योगिकियों को उजागर करने के लिए हमने यह कार्यक्रम रखा है.


उन्होंने बताया कि ये प्रौद्योगिकियां, जबकि प्रकृति में जादुई और काल्पनिक हैं, दोधारी तलवार की तरह हैं. वे दुनिया को मौलिक रूप से बदलने और मौजूदा समाधानों में विफल रहे कई अंतरालों को पाटने का वादा करते हैं. जनसंख्या पैमाने पर इन समाधानों की तैनाती के साथ असमानताओं और अन्य चुनौतियों का समाधान किया जा सकता है. वास्तुविदों की मदद करने और एक जिम्मेदार एआई वातावरण बनाने के लिए जिम्मेदारी हम पर पड़ती है जहां सकारात्मक सामाजिक प्रभाव के लिए इन समाधानों का लाभ उठाया जा सकता है.


उन्होंने कहा कि महिला दिवस से बेहतर क्या दिन होगा कि इस विषय पर विशेषज्ञों और भारत की महिला नेताओं के बीच एक कॉन्फ्रेंस शुरू की जाए. इस कार्यशाला का उद्देश्य एआई और अन्य उभरती प्रौद्योगिकियों के संभावित उपयोग और वास्तविक दुनिया में उनके आवेदन को उजागर करना था.


उन्होंने कहा कि इसका अन्य उद्देश्य महिला नेताओं के बीच डिजिटल तत्परता का विस्तार करना और नए और सामान्य में प्रभावी और भविष्य की नीति बनाने, बेहतर सार्वजनिक व्यस्तताओं और मजबूत तैनाती में एआई और अन्य उभरती हुई प्रौद्योगिकियों के संभावित उपयोग को उजागर करना है.




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज