भाजपा सांसद मनोज तिवारी का केजरीवाल सरकार पर हमला, बोले- रिश्वत को आपस में लड़ रहे मंत्री!

 दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुये.

दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुये.

BJP Delhi MP मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है. भ्रष्ट्राचार के खिलाफ आंदोलन कर सत्ता में आई केजरीवाल सरकार के मंत्री और पदाधिकारी अब रिश्वत के लिए आपस में लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अब कोई गंभीरता से नहीं लेता है. आत्मनिर्भर बजट सबके लिए सुखद और अचंभित करने वाला है. कोरोना काल में भी मोदी सरकार ने कोई नया कर नहीं लगायाा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2021, 11:15 PM IST
  • Share this:






नई दिल्ली. दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने वर्तमान केंद्रीय बजट वर्ष 2021-22 को गेम चेंजर बताया है. पिछली यू.पी.ए. की मनमोहन सरकार के 10 साल के कार्यकाल के दौरान एक भी बजट ऐसा नहीं था जिससे वर्तमान बजट की तुलना की जा सके.



‘आत्मनिर्भर बजट’ अभियान के तहत प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुये सासंद तिवारी ने कहा कि लोगों ने पहली बार ऐसा बजट देखा है जो अर्थव्यवस्था को न केवल नई दिशा देने वाला है बल्कि कोरोना काल में मंद पड़ चुकी अर्थव्यवस्था को पूर्नजीवित करने में सहायक है. तिवारी ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान विषम परिस्थितियां बनी, लेकिन मोदी सरकार (Modi Government) ने जिस तरह का कर मुक्त बजट प्रस्तुत किया है, उससे विशेषज्ञ भी हैरान और परेशान हैं.






इस महामारी के संकट को देख कर सबकी सोच थी कि इस बार बिना भारी कर के बजट नहीं आएगा, लेकिन आत्मनिर्भर बजट सबके लिए सुखद और अचंभित करने वाला है. कोरोना काल में भी मोदी सरकार ने कोई नया कर नहीं लगाया.




सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि यह पहला ऐसा बजट है जिसमें आयकर विभाग में अफसरशाही पर भी लगाम लगाई गई है. आयकर विभाग ने अब 50 लाख रुपये तक रिटर्न की स्क्रूटनी को छह साल की जगह तीन साल कर दी है।. तिवारी ने कहा कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को एयरपोर्ट की भांति विकसित, आधुनिक और सुरक्षायंत्रों से युक्त बनाया जा रहा है.




एक सवाल के जवाब में तिवारी ने दिल्ली सरकार पर भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि भ्रष्ट्राचार के खिलाफ आंदोलन कर सत्ता में आई केजरीवाल सरकार के मंत्री और पदाधिकारी अब रिश्वत के लिए आपस में लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अब कोई गंभीरता से नहीं लेता है.







अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज