लाइव टीवी
Elec-widget

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर बोले BJP सांसद- हवा को शुद्ध करने के लिए सरकार कराए यज्ञ

भाषा
Updated: November 21, 2019, 6:59 PM IST
दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर बोले BJP सांसद- हवा को शुद्ध करने के लिए सरकार कराए यज्ञ
बीजेपी सांसद बोले- प्रदूषण कम करने के लिए सरकार कराए यज्ञ (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बीजेपी (BJP) सांसद सत्यपाल सिंह (Satya Pal Singh) ने कहा जिस तरह वृक्ष लगाने पर जोर दिया जाता है, उसी तरह सरकार को वायु प्रदूषण (Air Pollution) कम करने के लिए यज्ञ का प्रयोग करना चाहिए.

  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली (Delhi) समेत देश के अन्य राज्यों में बढ़ते वायु प्रदूषण (Air Pollution) को समाप्त करने के लिए लोकसभा (Lok Sabha) सदस्यों ने गुरूवार को अनेक उपाय सुझाए. बीजेपी (BJP) के एक सदस्य ने वृक्ष लगाने के साथ ही हवा शुद्ध करने के लिए यज्ञ की परंपरा पर प्रयोग करने की बात कही, वहीं एक अन्य सदस्य ने क्लाउड सीडिंग को तात्कालिक उपाय बताया.

सदन में नियम 193 के तहत कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी द्वारा सोमवार को वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन के संबंध में शुरू की गई चर्चा को आगे बढ़ाया गया. चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने कहा कि प्रकृति को बचाने के लिए हमारी परंपराओं में अनेक चीजें शामिल हैं, जिनमें हवा को शुद्ध करने के के लिए यज्ञ भी वर्षों से किये जाते रहे हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह वृक्ष लगाने पर जोर दिया जाता है, उसी तरह सरकार को वायु प्रदूषण कम करने के लिए यज्ञ का प्रयोग करना चाहिए.

‘उज्ज्वला योजना से कम हुई प्रदूषण’
सत्यपाल सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत आठ करोड़ घरों को एलपीजी कनेक्शन दिये जाने से वायु प्रदूषण कम करने की दिशा में काम हुआ है. क्योंकि अगर इतनी बड़ी संख्या में घरों में दोनों समय अब भी चूल्हे पर लकड़ी जलाकर खाना बन रहा होता तो हवा कितनी जहरली होती, यह अनुमान लगाया जा सकता है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अक्षय ऊर्जा उत्पादन बढ़ाने की दिशा में सतत प्रयासरत है.

वहीं, बीजेपी के संजय जायसवाल ने वायु प्रदूषण कम करने के सुझाव देते हुए कहा कि जब तक स्थाई समाधान नहीं निकलता तब तक सरकार को कृत्रिम बारिश (क्लाउड सीडिंग) कराने की दिशा में काम करना चाहिए. उन्होंने प्रदूषण करने वाले उद्योगों को कम करने की सलाह दी तथा बायोगैस संयंत्र बड़ी संख्या में लगाने पर जोर दिया. जायसवाल ने लंदन शहर का उदाहरण दिया जहां 1952 में प्रदूषण चरम स्तर पर था, लेकिन आज शहर की हवा पूरी तरह साफ है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 6:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...