लाइव टीवी

क्या हरियाणा के इन विधायकों का कटेगा टिकट, सोशल मीडिया पर वायरल लिस्ट का ये है सच!

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: September 25, 2019, 10:29 AM IST
क्या हरियाणा के इन विधायकों का कटेगा टिकट, सोशल मीडिया पर वायरल लिस्ट का ये है सच!
क्या जाट समाज को साध पाएंगे बराला?

FACT CHECK: हरियाणा बीजेपी (BJP) के अध्यक्ष सुभाष बराला ने सोशल मीडिया में वायरल हो रही लिस्ट को बताया मनगढ़ंत, कहा- अभी तो प्रत्याशियों पर पहली चर्चा हुई है, लिस्ट कहां से वायरल (Viral list) हो रही है पता नहीं!

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 10:29 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) की घोषणा होने के बाद  सत्ताधारी बीजेपी (BJP) में प्रत्याशियों की लिस्ट तैयार करने का काम जारी है. बायोडाटा छांटे जा रहे हैं. इस बीच सोशल मीडिया पर 17 निवर्तमान विधायकों (MLA) के टिकट काटे जाने की चर्चा है. इसकी एक लिस्ट भी वायरल हो रही है. कुछ अख़बारों ने तो बाकायदा उन विधायकों की सूची छाप दी है. इनमें पांच महिलाएं (Women MLA) भी शामिल हैं. लेकिन इस बारे में जब हमने हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला (Subhash Barala) से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई लिस्ट नहीं बनी है. यह मनगढ़ंत है.

न्यूज़ 18 हिंदी से बातचीत में बराला ने कहा कि अभी तक तो चुनाव समिति की बैठक में सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों पर पार्टी ने चर्चा की है. केंद्रीय नेतृत्व से बात की जाएगी. केंद्रीय संसदीय बोर्ड लिस्ट को फाइनल करेगा. हमारा होमवर्क पूरा हो गया है. अभी तो सिर्फ पहली चर्चा हुई है. पुराने विधायकों के टिकट कटने की बात कहना अभी बहुत जल्दबाजी होगी. ऐसी कोई बात नहीं है. हम लोग सभी 90 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि महिलाओं को भी टिकट में पूरा प्रतिनिधित्व मिलेगा. जो भी सक्षम है उसे टिकट मिलेगा. हमने उन्हें संगठन में पूरी भागीदारी दे रखी है.

 Haryana Assembly Election 2019, बीजेपी प्रत्याशियों की लिस्ट, BJP Candidate list, Haryana Election 2019, Haryana politics, BJP, subhash barala, हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019, हरियाणा चुनाव 2019, हरियाणा की राजनीति, भाजपा, सुभाष बराला, Assembly election ticket, विधानसभा चुनाव की टिकट, Bhupinder Singh Hooda, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, बीजेपी विधायक, bjp MLA
बीजेपी का पलड़ा भारी इसलिए टिकट के लिए मारामारी! (प्रतीकात्मक फोटो)


इन निवर्तमान विधायकों का कट सकता है टिकट

सोशल मीडिया पर बीजेपी के जिन विधायकों का टिकट कटने की चर्चा है उनमें पटौदी से विमला चौधरी, कालका से लतिका शर्मा, पानीपत शहर से रोहिता रेवड़ी, बड़खल से सीमा त्रिखा, उचाना से प्रेमलता, बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा, गुहला चीका से कुलवंत बाजीगर, असंध से बख्शीश सिंह, बवानीखेड़ा से विशंभर वाल्मीकि, साढौरा से बलवंत साढौरा, लाडवा से पवन सैनी, बाढड़ा से सुखविंदर सिंह और पंचकूला से ज्ञान चंद गुप्ता शामिल हैं.

इसमें उन विधायकों के नाम भी शामिल किए जा रहे हैं जो दक्षिण हरियाणा से हैं और केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह (Rao Inderjit Singh) के काफी नजदीक रहे हैं. इनमें नारनौल से ओम प्रकाश यादव, कोसली से विक्रम ठेकेदार, गुड़गांव (गुरुग्राम) से उमेश अग्रवाल और रेवाड़ी से रणधीर कापड़ीवास के नाम शामिल हैं. विमला चौधरी भी राव गुट की समर्थक मानी जाती हैं. हालांकि, सुभाष बराला ने इस लिस्ट को सिरे से खारिज किया है.

आखिर कौन फैला रहा अफवाह!हरियाणा के वरिष्ठ पत्रकार नवीन धमीजा का कहना है कि जो वर्तमान विधायक हैं वो पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हैं. उन्होंने पार्टी और जनता के लिए काम कर के चुनाव जीता था. ऐसे में मुझे लगता है कि उनका कोई न कोई विरोधी इस तरह की लिस्ट वायरल करवा रहा है. खास तौर से दूसरी पार्टियों के नेता जो चुनाव लड़ने की इच्छा से बीजेपी में आए हैं वो इस तरह की गतिविधियों से पुराने कार्यकर्ताओं को हतोत्साहित कर रहे हैं. इससे पार्टी का नुकसान होगा. मुझे नहीं लगता कि जब पार्टी अति आत्मविश्वास से लबरेज है तो किसी पुराने विधायक का टिकट कटेगा.

 Haryana Assembly Election 2019, बीजेपी प्रत्याशियों की लिस्ट, BJP Candidate list, Haryana Election 2019, Haryana politics, BJP, subhash barala, हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019, हरियाणा चुनाव 2019, हरियाणा की राजनीति, भाजपा, सुभाष बराला, Assembly election ticket, विधानसभा चुनाव की टिकट, Bhupinder Singh Hooda, भूपेंद्र सिंह हुड्डा, बीजेपी विधायक, bjp MLA
बीजेपी के बढ़े जनाधार ने बढ़ाई दावेदारों की संख्या


कांग्रेस में गुटबाजी और बढ़ गई है: बराला
कांग्रेस में भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) के आने से क्या कोई फर्क पड़ेगा? बराला कहते हैं कि कांग्रेस ने अशोक तंवर और किरण चौधरी को रिप्लेस किया है. वो दोनों चुनाव हारे हुए हैं. हुड्डा का भी पूरा परिवार हारा हुआ है. कांग्रेस का जो मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया था वो बढ़ा नहीं बल्कि उसमें गुटबाजी और बढ़ गई है. क्या जाटों और दलितों का ध्रुवीकरण कांग्रेस करवा पाएगी? इस सवाल के जवाब में बराला ने कहा कि मोदी और मनोहर सरकार ने जातिवाद को तोड़ दिया है. जातिवाद, परिवार और क्षेत्रवाद की राजनीति की हरियाणा में जगह नहीं है. यहां पारदर्शी और जवाबदेह सरकार चाहिए. अब गठजोड़ जातिवाद से नहीं बल्कि काम के आधार पर होगा. काम के आधार पर जनता ने बीजेपी से गठजोड़ कर लिया है.

ये भी पढ़ें:

विधानसभा चुनाव में मंत्रियों, सांसदों के बेटा-बेटियों को नहीं मिलेगी टिकट!

मोदी सरकार की इन योजनाओं में नंबर हुआ मनोहर का हरियाणा!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 24, 2019, 2:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर