Bois Locker Room: फर्जी ID से चैट करने वाली नाबालिग छात्रा समेत 22 के मोबाइल की होगी जांच
Delhi-Ncr News in Hindi

Bois Locker Room: फर्जी ID से चैट करने वाली नाबालिग छात्रा समेत 22 के मोबाइल की होगी जांच
नाबालिग लड़की ने लड़के के नाम से फेक प्रोफाइल बनाकर अपने दोस्त से की थी अश्लील चैट. (प्रतीकात्मक इमेज)

'ब्वायज लॉकर रूम' (Bois Locker Room) मामले में दिल्ली पुलिस उस नाबालिग लड़की के मोबाइल फोन की जांच कर रही है, जिसके अश्लील चैट (Obscene Chat) का स्क्रीनशॉट वायरल हुआ था.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंस्‍टाग्राम के 'ब्वायज लॉकर रूम' (Bois Locker Room) चैट विवाद मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi News) की जांच अहम मोड़ तक पहुंच गई है. पुलिस उस नाबालिग लड़की के मोबाइल फोन की जांच कर रही है, जिसके ब्वॉयज लॉकर रूम के साथ की गई अश्लील चैट (Obscene Chat) का स्क्रीनशॉट वायरल हुआ था. इसके साथ ही दिल्ली पुलिस की साइबर सेल कुल 22 लोगों के फोन की भी जांच कर रही है. पुलिस इस बात की गहनता से छानबीन कर रही है कि चैट इस नेटवर्क में किन-किन लोगों के पास गई थी और किस-किस ने इसे फॉरवर्ड कर वायरल करने में अपना योगदान दिया.

दो महीने बाद सोशल मीडिया पर हुआ था वायरल
दिल्ली पुलिस अब तक इस बिंदु पर पहुंच चुकी है कि रेप वाला यह चैट पहले छात्रों के एक ग्रुप में वायरल हुआ था. इसके करीब दो महीने बाद यह सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. यह चैट ब्वॉयज लॉकर रूम के साथ ही वायरल हो गया था. नाबालिग लड़की का लड़के के नाम से फेक प्रोफाइल बनाकर अपने दोस्त से की गई इस अश्लील चैट का मामला सामने आते ही प्रशासन में सनसनी फैल गई थी.

फोन की होगी फॉरेंसिक जांच
पुलिस ने अश्लील वाली चैट करने वाले दोनों नाबालिगों से कड़ाई से पूछताछ की. इसके बाद इन दोनों नाबालिगों ने जिस मोबाइल से चैट किया था, पुलिस ने उसे जब्त कर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है. इस चैट नेटवर्क की जड़ तक पहुंचने के लिए पुलिस ने अब तक 22 डिवाइस की जांच की है. इसमें से कुछ को फॉरेंसिक जांच के लिए भी भेजा गया है.



मामला क्या है?
ब्वॉयज लॉकर रूम नाम से अश्लील चैट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने मामले की जांच शुरू कर दी. जब ग्रुप के छात्रों से पूछताछ और तकनीकी जांच की गई तो इसमें से रेप वाला चैट इस ग्रुप के बाहर का मिला. इसके बाद पुलिस को पता चला कि यह चैट फेक आईडी से एक नाबालिग लड़की ने अपने नाबालिग दोस्त के साथ की है.

इस तरह सामने आया था मामला
दरअसल, साउथ दिल्ली की एक लड़की ने इस ग्रुप के संबंध में एक स्क्रीनशॉट शेयर किया था. उसके बाद इसकी जानकारी मिली. उसने जानकारी दी थी कि ये 17 से 18 साल के लड़कों का एक ग्रुप है. इस ग्रुप का नाम 'ब्वायज लॉकर रूम' है. जहां कम उम्र की लड़कियों की फोटोज को छेड़छाड़ कर ऑब्जेक्शनल बनाया जा रहा है. इस मामले में दिल्‍ली महिला आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति मालिवाल ने भी कड़ी आपत्ति जताई थी.

ये भी पढ़ें - 

COVID-19 UP: अब तक 82 मौतें, इलाज करा रहे से अधिक हुए स्वस्थ; कुल केस 3664

COVID-19 पॉजिटिव सेना के जवान ने अस्पताल में की आत्महत्या, मिला सुसाइड नोट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज