'प्यार हुआ, इकरार हुआ...' गाने में 'रिश्वत' लेकर किया था काम, पढ़ें ऋषि कपूर की आत्मकथा
Delhi-Ncr News in Hindi

'प्यार हुआ, इकरार हुआ...' गाने में 'रिश्वत' लेकर किया था काम, पढ़ें ऋषि कपूर की आत्मकथा
अलविदा ऋषि कपूर

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) अपने परिवार के उन सदस्यों में से रहे, जिन्होंने पिता की उंगली पकड़कर चलने की उम्र से ही सिल्वर स्क्रीन को देखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2020, 12:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बॉलीवु़ड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) नहीं रहे. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री इरफान खान (Irrfan Khan) के निधन (Death) के बाद अभी शोक संदेश देने में व्यस्त थी कि इसी बीच कपूर खानदान की तीसरी पीढ़ी का यह एक्टर दुनिया से चल बसा. ऋषि कपूर अपने परिवार के उन सदस्यों में से रहे, जिन्होंने पिता की उंगली पकड़कर चलने की उम्र से ही सिल्वर स्क्रीन को देखा. उन्होंने फिल्म 'श्री 420' में भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराई थी और राजकपूर के ड्रीम प्रोजेक्ट 'मेरा नाम जोकर' में भी. 'श्री 420' के मशहूर गाने 'प्यार हुआ इकरार हुआ...' की शूटिंग से जुड़े संस्मरण के बारे में ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा 'खुल्लम खुल्ला' में भी लिखा है. इसमें उन्होंने बालसुलभ हरकत को 'रिश्वत' का नाम देते हुए बताया है कि बिना चॉकलेट लिए वह शूटिंग के लिए राजी नहीं हुए थे.

पहली बार तीनों भाई-बहन दिखे थे पर्दे पर
ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा 'खुल्लम खुल्ला' में फिल्म 'श्री 420' की शूटिंग की यादें साझा करते हुए मशहूर एक्ट्रेस नरगिस से जुड़ा एक वाकया शेयर किया है. ऋषि कपूर ने लिखा है, 'मेरे पिता ने अपनी फिल्म के गाने की एक कड़ी में हम तीनों भाई-बहन, डब्बू, ऋतु और मेरी झलक दिखाने की सोची थी. 'प्यार हुआ इकरार हुआ' गाने की लाइन- मैं न रहूंगी, तुम न रहोगे, फिर भी रहेंगी निशानियां' के बीच हम तीनों को बरसते हुए पानी में चलकर आना था. लेकिन पानी मेरी आंख में घुसकर मुझे परेशान कर रहा था.' ऋषि कपूर ने लिखा है कि इस परेशानी से तंग आकर उन्होंने फिल्म की शूटिंग करने से इनकार कर दिया.

फिर नरगिस ने दी 'रिश्वत'
फिल्म के गाने की शूटिंग में लगातार बाधा देख आखिरकार मशहूर अदाकारा नरगिस ने ऋषि कपूर के नखरे का उपाय ढूंढ लिया. ऋषि ने अपनी आत्मकथा में लिखा है, 'हर रीटेक के समय वो कैडबरी मिल्क चॉकलेट को एक बार मेरी आंखों के सामने लहरातीं. यदि मैं अपने पिता के निर्देशानुसार शूट करूं, तो वह बार मुझे मिलना था. यह उपाय कारगर हुआ, क्योंकि इसके बाद मैंने सहयोग किया.'



ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा में पिता राजकपूर और दादा पृथ्वीराज कपूर से जुड़े अनगिनत किस्से साझा किए हैं. साथ ही फिल्मों के प्रति अपने प्यार और समर्पण के बारे में भी लिखा है. आपको बता दें कि ऋषि कपूर की पत्नी नीतू सिंह भी बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस रही हैं. इन दोनों की जोड़ी के ऊपर फिल्माया गया एक गाना 'खुल्लम खुल्ला प्यार करेंगे हम दोनों' काफी पॉपुलर रहा है. संभवतः इसी गाने के बोल से इंस्पायर होकर ऋषि कपूर ने अपनी आत्मकथा का नाम 'खुल्लम खुल्ला' रखा.

ये भी पढ़ें:-

कनिका कपूर ने पुलिस में दर्ज कराया बयान, खुद को बताया निर्दोष

COVID-19 Update: UP में कोरोना संक्रमण के 81 नए मामले, आंकड़ा 2134 पहुंचा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज