Home /News /delhi-ncr /

BSES की बारिश में बेहतर बिजली आपूर्ति करने की तैयारी, ये बनाया मॉनसून एक्शन प्लान

BSES की बारिश में बेहतर बिजली आपूर्ति करने की तैयारी, ये बनाया मॉनसून एक्शन प्लान

निजी बिजली कंपनी बीएसईएस और बीआरपीएल ने बारिश के मौसम में बिजली की निर्बाध आपूर्ति करने की तैयारी कर ली है. (File Photo)

निजी बिजली कंपनी बीएसईएस और बीआरपीएल ने बारिश के मौसम में बिजली की निर्बाध आपूर्ति करने की तैयारी कर ली है. (File Photo)

BSES Delhi Monsoon Plan:दिल्ली की निजी बिजली कंपनी बीएसईएस (BSES) और बीआरपीएल (BRPL) ने बारिश के मौसम में बिजली की निर्बाध आपूर्ति करने की तैयारी कर ली है. साथ ही उपभोक्ताओं को बारिश के मौसम में करंट से बचने के लिए कुछ खास टिप्स भी दिए हैं.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. दिल्ली में मॉनसून (Monsoon) आने में अब कुछ ही वक्त बचा है. ऐसे में दिल्ली की निजी बिजली कंपनी बीएसईएस (BSES) और बीआरपीएल (BRPL) ने बारिश के मौसम में बिजली की निर्बाध आपूर्ति करने की तैयारी कर ली है. साथ ही उपभोक्ताओं को बारिश के मौसम में करंट से बचने के लिए कुछ खास टिप्स भी दिए हैं.

    मॉनसून संबंधी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए, बारिश के दिनों में अपने 45 लाख से अधिक उपभोक्ताओं को बेहतर व सुरक्षित बिजली आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए रिलायंस इंफ्रास्ट्र्क्चर के नेतृत्व वाली बिजली वितरण कंपनी बीएसईएस ने तैयारी पूरी कर ली है.



    ये भी पढ़ें : Weather Alert: गर्मी से झुलसती दिल्‍ली को राहत मिलने की उम्‍मीद, आज से बारिश के आसार

    सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए ट्रांसफार्मरों के इर्द-गिर्द  लगाई गई हैं जालियां
    मॉनसून एक्शन प्लान के तहत, निचले इलाकों में लगे ट्रांसफार्मरों के फाउंडेशन को ऊंचा करके उन्हें सुरक्षित स्तर पर लाया गया है. स्विचगियर्स के ऊपर छतें लगाई गई हैं, ताकि जलभराव के कारण स्विचगियर्स में नमी और सीपेज न आने पाए. जहां भी संभव हो पेड़ों की शाखाओं की छंटाई का काम किया गया है, ताकि बिजली की तारें उनमें न उलझें. मॉनसून में लोगों की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए ट्रांसफार्मरों के इर्द-गिर्द जालियां लगाई गई हैं. इसके अलावा, ट्रेंचों की सफाई का काम भी किया गया है.

    बिजली के पोल, स्ट्रीटलाइटों से दूर रहने की सलाह
    मॉनसून में जगह-जगह पानी जमा होने से बिजली संबंधी दुर्घटनाओं की आशंका बढ़ जाती है. रिलायंस इंफ्रास्ट्र्क्चर के नेतृत्व वाली बिजली वितरण कंपनी बीएसईएस (BSES) ने अपने उपभोक्ताओं से अनुरोध किया है कि बारिश के दिनों में वे बिजली के पोल, सब-स्टेशनों, ट्रांसफॉर्मरों और स्ट्रीटलाइटों से दूर रहें. साथ ही, अपने बच्चों को भी बताएं कि इन उपकरणों के इर्द-गिर्द न खेलें, चाहे उपकरणों के चारों ओर जालियां ही क्यों न लगी हों.

    ये भी पढ़ें : दिल्ली में बढ़े CNG के दाम, जानें- अब आपको कितने रुपये ज्यादा चुकाने होंगे?

    बिजली के झटकों व करंट से संबंधित शिकायतों के लिए बीएसईएस के बीवाईपीएल उपभोक्ता 19122 पर और बीआरपीएल उपभोक्ता 19123 पर फोन कर सकते हैं. बीएसईएस ने आरडब्ल्यूए और आम नागरिकों से अनुरोध किया है कि यदि उन्हें कहीं करंट की आशंका महसूस हो, तो तुरंत उपरोक्त नंबरों पर फोन करें.

    बीएसईएस ने उपभोक्ताओं को सलाह दी है कि न सिर्फ बाहर, बल्कि घर में भी मॉनसून के दौरान करंट से सावधान रहें. स्विच गीला हो, तो उसे न छुएं. घर में एक टेस्टर रखें और स्विच को छूने से पहले टेस्टर से चेक करें कि कहीं लीकेज तो नहीं हो. शक होने पर अपने इलेक्ट्रि्शियन को कॉल करें. याद रखें, बारिश के दिनों में स्विचों में करंट आने का खतरा बना रहता है. किसी लाइसेंसधारी इलेक्ट्रि्कल कांट्रेक्टर से उपभोक्ता अपने घर की आंतरिक वायरिंग भी चेक करवा लें.

    ये भी पढ़ें : Yamuna Pollution News: यमुना को गंदा करने वाली 12 सीईटीपी पर लगा 12 करोड़ रुपये से अधिक का जुर्माना

    अनप्लांड डिगिंग, रोड कटिंग, आदि के कारण भी करंट फैलने का खतरा पैदा हो सकता है. इसलिए, लोगों व एजेंसियों को सलाह दी जा रही है कि जमीन, रोड आदि की खुदाई करने से पहले वे बीएसईएस को सूचित करें. लोगों की सेफ्टी के लिए यह आवश्यक है.

    बीएसईएस कॉन्टैक्ट डिटेल्स:
    कॉल सेंटर19122- बीआरपीएल, 19123- बीवाईपीएल

    बीएसईएस मोबाइल ऐप गूगल ऐप या ऐप स्टोर से डाउनलोड करें

    वॉट्सऐप
    बीवाईपीएल- HI लिखकर उसे 8745999808 भेज देंबीआरपीएल- HI लिखकर उसे 9999919123 भेज दें

    Tags: Monsoon, Monsoon Update, Power consumers

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर