बुराड़ी के Haunted हाउस को डेढ़ साल बाद मिला किराएदार, कहा- हवन कर करूंगा प्रवेश

यदि किराएदार मोहन सिंह बुराड़ी के इस घर में रहना शुरू कर देते हैं तो वह घर डेढ़ साल बाद गुलजार हो जाएगा. (बुराड़ी के इस घर का फाइल फोटो)
यदि किराएदार मोहन सिंह बुराड़ी के इस घर में रहना शुरू कर देते हैं तो वह घर डेढ़ साल बाद गुलजार हो जाएगा. (बुराड़ी के इस घर का फाइल फोटो)

अफवाहों और डरावनी बातों के चलते करीब डेढ़ साल से यह घर खाली पड़ा था, लेकिन अब एक शख्स ने हिम्मत दिखाते हुए इसे किराए पर लेने का फैसला कर लिया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 28, 2019, 5:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के बुराड़ी (Burari) के एक घर में एक जुलाई, 2018 के दिन 11 लोगों ने सामूहिक आत्महत्या (Mass Suicide) कर ली थी. परिवार के 10 सदस्य फांसी से लटके पाए गए थे, वहीं 77 साल की एक बुजुर्ग महिला का मृत शरीर दूसरे कमरे में बेड पर पड़ा मिला था. अफवाहों और डरावनी बातों के चलते करीब डेढ़ साल से यह घर खाली पड़ा था, लेकिन अब एक शख्स ने हिम्मत दिखाते हुए इसे किराए पर लेने का फैसला कर लिया है. जिसने इस घर को किराए पर लेने की हिम्मत दिखाई है, उस शख्स का नाम मोहन सिंह कश्यप (Mohan Singh Kashyap) है. उनकी इस बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर पैथलॉजी लैब बनाने और पहले मंजिल पर परिवार के साथ रहने की योजना है. अब यदि मोहन सिंह उस घर में रहना शुरू कर देते हैं तो वह घर डेढ़ साल बाद फिर से गुलजार हो जाएगा.

उस घर के बारे में फैली डरावनी बातें जानते हैं नए किराएदार

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार इसे किराए पर लेने वाले मोहन सिंह बताते हैं कि वो उस घर के बारे में फैली डरावनी बातें जानते हैं. उन्होंने बताया कि सपरिवार प्रवेश करने से पहले वो उस घर में हवन करवाएंगे. माना जाता है कि हवन करने से घर शुद्ध हो जाता है और वहां नकारात्मकता समाप्त हो जाती है. परिवार को उस घर में रहने में कोई दिक्कत तो नहीं है, इस सवाल पर मोहन ने बताया कि मेरे बच्चे इस घर में पहले से आते-जाते रहे हैं, वो यहां ट्यूशन पढ़ते थे. खास बात है कि मोहन का परिवार बुराड़ी के इस इलाके से पहले से परिचित हैं क्योंकि मोहन की दुकान फिलहाल उस घर के पास ही है. उनके बच्चे भी पास के ही स्कूल में पढ़ते हैं.



अभी बुराड़ी से कुछ दूर भजनपुरा में रहते हैं मोहन प्रकाश
अभी मोहन सिंह कश्यप बुराड़ी से कुछ किलोमीटर दूर भजनपुरा में रहते हैं. वो लंबे समय से दुकान के पास ही घर लेने की सोच रहे थे, यही सोचकर उन्होंने यह घर किराये पर लिया है. इस घर का मालिकाना हक मृत परिवार के रिश्तेदार दिनेश चूंडावत पर है. कोई किराएदार के रूप में वहां रहने आ रहा है, इस बात पर उन्होंने खुशी जताई है.

ये भी पढ़ें - 

मेरठ जोन के ADG की सफाई- Viral Video आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग के समय का
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज