अपना शहर चुनें

States

14 दिन की हिरासत में भेजा गया जामिया का नाबालिग 'तमंचेबाज', एग्जाम के लिए मांगी किताबें

आरोपी नाबालिग ने गुरुवार को जामिया इलाके में सरेआम फायरिंग कर हड़कंप मचा दिया था
आरोपी नाबालिग ने गुरुवार को जामिया इलाके में सरेआम फायरिंग कर हड़कंप मचा दिया था

जस्टिस जुवेनाइल बोर्ट के समक्ष पेशी के दौरान आरोपी ने कहा कि वो ग्यारहवीं का स्टूडेंट है इसलिए एग्जाम की तैयारियों के लिए उसे पुस्तकें चाहिए. मजिस्ट्रेट ने उसकी मांग को मंजूर करते हुए उसे किताबें मुहैया करवाने को बोला है. उन्होंने उससे ट्यूशन के लिए भी पूछा जिसका उसने कोई जवाब नही दिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गुरुवार को दिल्ली (Delhi) के जामिया (Jamia) इलाके में फायरिंग कर हड़कंप मचा देने वाले नाबालिग युवा को शुक्रवार को जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट (Juvenile Justice Board) में पेश किया. जहां से उसे 14 दिन की प्रोटेक्टिव कस्टडी (Protective Custody) में भेज दिया गया है. पेशी के दौरान आरोपी ने कहा कि वो ग्यारहवीं का स्टूडेंट है इसलिए एग्जाम की तैयारियों के लिए उसे पुस्तकें चाहिए. मजिस्ट्रेट ने उसकी मांग को मंजूर करते हुए उसे किताबें मुहैया करवाने को बोला है. उन्होंने उससे ट्यूशन के लिए भी पूछा जिसका उसने कोई जवाब नही दिया.

वहीं जांच में पता चला है कि नाबालिग आरोपी ने 10 हजार रुपये में गांव के ही एक शख्स से देसी तमंचा खरीदा था. पूछताछ में उसने बताया कि वो जनवरी 2018 में मारे गए चंदन गुप्ता और पिछले वर्ष लखनऊ में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari Murder Case) की हत्या से आहत था. साथ ही वो कश्मीरी पंडितों के उत्पीड़न की सोशल मीडिया पोस्ट भी पढ़ता था, उससे भी वो आहत था. रामलीला में भाग लेता था. इसकी सेवा कुटीर में कॉउंसलिंग होगी.

प्रदर्शन से पहले सिरफिरे नाबालिग ने किया था हंगामा
बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और NRC के विरोध में गुरुवार को जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र यहां से राजघाट तक प्रदर्शन मार्च करना चाहते थे. इस दौरान वहां छात्रों की जुटी भीड़ पर एक नाबालिग ने देसी तमंचा निकाल कर फायरिंग कर दी थी. सिरफिरे के तमंचे से निकली गोली से शादाब नाम का जामिया का एक छात्र घायल हुआ था. उस पर फायरिंग करने से पहले आरोपी लड़का फेसबुक पर लाइव था. इस दौरान उसने कई वीडियो भी पोस्ट की थीं. तमंचा लहराने के दौरान उसने 'वंदे मातरम', 'ये लो आजादी' और 'वंदे मातरम' के नारे भी लगाए. इस घटना के बाद पूरे इलाके में अफरा-तफरी मच गई थी.
यह भी पढ़ें :-



कोरोनावायरस: चीन से आज रात लौटेंगे 300 छात्र, सेना ने बनाए विशेष वार्ड

तय समय में फांसी देने के लिए दिशा-निर्देश बनाने वाली याचिका पर विचार करेगा SC

'बजट' की प्रिंटिंग में थे तैनात, पिता के निधन के बाद घर न जाकर पेश की मिसाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज