लाइव टीवी

CAA Protest: जानिए जाफराबाद से चांदबाग तक कैसे फैलता गया विरोध-प्रदर्शन!
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 24, 2020, 2:10 PM IST
CAA Protest: जानिए जाफराबाद से चांदबाग तक कैसे फैलता गया विरोध-प्रदर्शन!
दिल्ली के कई इलाकों में सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है. (फाइल फोटो)

CAA Protest : शाहीन बाग (Shaheen Bagh) के बाद इंद्रलोक, चांदबाग, जाफराबाद, खुरेजी और सुंदरनगरी में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 2:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh Protest) के अलावा इंद्रलोक, चांदबाग, जाफराबाद, खुरेजी और सुंदरनगरी जैसे इलाकों में प्रदर्शन हुए हैं. आलम यह है कि दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है. दो महीने से भी ज्‍यादा समय से शाहीन बाग में चल रहे विरोध-प्रदर्शन का हल निकालने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने वार्ताकार भी नियुक्त किया है. प्रदर्शनकारियों में ज्‍यादातर महिलाएं हैं.

जाफराबाद में धरने पर बैठी महिलाएं
इस दौरान शनिवार रात को दिल्ली के जाफराबाद इलाके में भी महिलाएं सड़क पर उतर गईं. वो यहां के मेट्रो स्टेशन के समीप धरना दे रही हैं. इस दौरान सड़क जाम हो गया है. इसी दौरान चांदबाग में भी रविवार सुबह 11 बजे वजीराबाद-गाजियाबाद रोड को बंद कर दिया गया. खुरेजी में भी महिलाएं सड़क पर आ गईं.

चंद्रशेखर ने किया था मार्च का आह्वान



भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर ने चांदबाग से राजघाट तक मार्च का आह्वान किया था. रविवार को भारत बंद का भी आह्वान किया गया था. इसलिए चांदबाग में धरने पर बैठी महिलाएं और पुरुष राजघाट तक मार्च निकालना चाहते थे. वो सुबह 11 बजे सड़क पर उतर गए. प्रदर्शनकारियों का दावा था कि इतने दिन से महिलाएं धरने पर बैठी हैं, लेकिन केंद्र सरकार CAA को लेकर पीछे हटने को तैयार नहीं है. इसलिए सड़क पर आना आंदोलन का दूसरा चरण है.

आवाजादी बंद हो जाएगी तो सरकार को समझ में आएगा
चांदबाग में युवाओं की अगुआई कर रहे सलमान सिद्दिकी खुद को आरडब्लूए फेडरेशन ऑफ दिल्ली का उपाध्यक्ष बता रहे थे. उन्होंने कहा कि सड़क पर इसलिए उतरे हैं, क्योंकि हम सीएए-एनआरसी और आरक्षण को लेकर भीम आर्मी के भारत बंद का समर्थन कर रहे हैं. महिलाएं 45 दिन से धरने पर हैं. आवाजाही बंद हो जाएगी तो सरकार को समझ में आएगा.

सरकार अहंकार से है चूर
प्राइवेट जॉब करने वाली रूही यहां महिलाओं का नेतृत्व कर रही हैं. उन्होंने नवभारत टाइम्स से बातचीत में कहा कि सरकार अहंकार में चूर है. उन्होंने कहा कि सर्दियों में मां-बहन सड़कों पर हैं, लेकिन सरकार को कोई फर्क नहीं पड़ रहा है. वो सवाल पूछती हैं कि तीन तलाक के मुद्दे पर सरकार हमारे साथ थी लेकिन अब वो कहां है? उनका कहना है कि ये लंबी लड़ाई है ये सबको समझ में आ रहा है, इसलिए हम लड़ने को तैयार हैं.

ये भी पढ़ें:- 

Pro CAA Protest: मौजपुर के प्रदर्शनकारी बोले- जाफराबाद का रास्ता खुलवाओ

अब जाफराबाद में CAA प्रोटेस्ट, कपिल मिश्रा बोले- इसे शाहीन बाग नहीं बनने देंगे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर