लाइव टीवी

CAA Protest: बेल पर रिहा हिंसा आरोपियों को पाठशाला में दी गई CAA, NRC की जानकारी  
Delhi-Ncr News in Hindi

Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: January 19, 2020, 5:35 PM IST
CAA Protest: बेल पर रिहा हिंसा आरोपियों को पाठशाला में दी गई CAA, NRC की जानकारी  
दिल्ली के जामिया, सीलमपुर, जाफराबाद, सीमापुरी, नंदनगरी और दरियागंज इलाके में सीएए विरोधी प्रदर्शन में हुई हिंसा में करीब 100 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए थे. (प्रतीकात्मक फोटो)

इस पाठशाला में एसआईटी (SIT) के सभी 8 सदस्यों ने दिल्ली के सीमापुरी हिंसा (Seemapuri Violence) में गिरफ्तार हुए करीब उन 14 उपद्रवियों की पाठशाला ली जो जमानत पर बाहर हैं. पाठशाला में पहले सीएए (CAA) एक्ट की एक-एक प्रति सभी 14 आरोपियों को दी गई और उस पर उनके साइन भी करवाए गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 5:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में सीएए विरोधी प्रदर्शन (Anti CAA Protest) के दौरान हुई हिंसा की जांच कर रही दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच की एसआईटी (SIT) ने कोर्ट के आदेशानुसार रविवार को नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (National Register of Citizens) को लेकर एक अनोखी पाठशाला लगाई. यह पाठशाला सीमापुरी थाने में लगाई गई थी. डीसीपी राजेव देव, एसीपी संदीप लांबा ने इसके लिए एक टीम बनाई. उनकी टीम में इंस्पेक्टर गुरमीत सिंह, सब इंस्पेक्टर सुरेंद्र शर्मा और शेष 6 अफसर शामिल थे.

जमानत पर बाहर आए 14 उपद्रवियों को दी गई क्लास
इसके बाद रविवार को आयोजित इस पाठशाला में एसआईटी के सभी 8 सदस्यों ने दिल्ली के सीमापुरी हिंसा में गिरफ्तार हुए करीब उन 14 उपद्रवियों की पाठशाला ली जो जमानत पर बाहर हैं. पाठशाला में पहले CAA एक्ट की एक-एक प्रति सभी 14 आरोपियों को दी गई और उस पर उनके साइन भी करवाए गए.

45 मिनट तक चलाई गई पाठशाला



इसके बाद एसआईटी ने कोर्ट के आदेशानुसार बकायदा सभी 14 आरोपियों को करीब 45 मिनट तक यह समझाया कि दरअसल CAA और NRC है क्या? इससे आपको कोई नुकसान नहीं है. किन-किन लोगों के लिए यह बनाया गया है जैसी तमाम चीजों को बारीकी से समझाया गया और जो भ्रम और डर नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को लेकर फैल रहा है उसकी हकीकत भी एक्ट के हिसाब से बताई गई.

पाठशाला में मौलवी और अन्य बुद्धिजीवी लोगों को भी किया गया शामिल
इस पाठशाला में इलाके के मौलवी और कुछ अन्य बुद्धिजीवी लोगों को भी शामिल किया गया था. इस तरह से दिल्ली हिंसा में जो जो भी आरोपी जमानत पर बाहर आएंगे, सभी को बारी-बारी से यह पाठशाला दी जाएगी. बता दें कि दिल्ली के जामिया, सीलमपुर, जाफराबाद, सीमापुरी, नंदनगरी और दरियागंज इलाके में हाल में हुई हिंसा में करीब 100 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए थे, इसमें से अधिकांश लोग जमानत पर बाहर आ गए हैं. यह पहल इसलिए की गई है कि जमानत पर बाहर आए आरोपियों को CAA और NRC के बारे में बताया जाए.

ये भी पढे़ं - 

दिल्ली: सोशल मीडिया की 'जंग' में उतरे मनोज तिवारी-'रिंकिया' ने खोली AAP की पोल

दिल्ली के द्वारका से संदिग्ध हथियार आपूर्तिकर्ता राहुल गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,135,668

     
  • कुल केस

    1,577,445

    +59,485
  • ठीक हुए

    348,111

     
  • मृत्यु

    93,666

    +5,211
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर