• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • आज Ghaziabad में घर के करीब लगवा सकते हैं कोरोना वैक्‍सीन, 80000 से अधिक वैक्‍सीन लगाई जाएंगी

आज Ghaziabad में घर के करीब लगवा सकते हैं कोरोना वैक्‍सीन, 80000 से अधिक वैक्‍सीन लगाई जाएंगी

देर शाम तक लगेगी वैक्‍सीन, सांकेतिक फोटो

देर शाम तक लगेगी वैक्‍सीन, सांकेतिक फोटो

Ghaziabad health department ने आज जिले में 80000 से अधिक वैक्‍सीनेशन का लक्ष्‍य रखा है. धर्मशाला, स्कूल, मंदिर और सामुदायिक भवनों में भी वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं, लोग घरों के आसपास वैक्‍सीन लगवा सकते हैं.

  • Share this:

    गाजियाबाद. आज जिले में कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) घर के करीब लगवाई जा सकती है. इसके लिए आपको रजिस्‍ट्रेशन कराने की जरूरत भी नहीं है. आप किसी भी क्‍लस्‍टर सेंटर पर जाकर वाक इन वैक्‍सीनेशन करवा सकते हैं. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग (health department) ने 80000 से अधिक वैक्‍सीन एक दिन में लगाने का लक्ष्‍य रखा है. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के कर्मचारियों को निर्देश हैं कि पूरी वैक्‍सीन लगा कर सेंटर बंद किए जाएंगे.
    जिले के वैक्‍सीनेशन प्रभारी डा. नीरज अग्रवाल ने बताया कि 168 केन्‍द्रों पर वैक्‍सीन लगवाई जा रही है. इसमें क्‍लस्‍टर सेंटर भी शामिल हैं. इसके लिए 300 टीम तैनात की गई हैं. हालांकि 30000 हजार लोगों ने ऑन लाइन स्‍लाट बुक करा रखा है, लेकिन 50000 से अधिक लोगों को वॉक इन वैक्‍सीन लगाई जाएगी. इसके लिए 76000 हजार वैक्‍सीन की डोज मुख्‍यालय से आ चुकी हैं जबकि 10000 हजार डोज पहले की बची हैं.

    डा. नीरज अग्रवाल ने बताया कि वैक्‍सीनेशन में तैनात कर्मचारियों को निर्देश दिए गए हैं कि आज 80000 वैक्‍सीनेशन लगाकर ड्यूटी खत्‍म करेंगे. इसके लिए उन्‍हें भले ही देर शाम तक सेंटरों पर क्‍यों न रुकना पड़े. एक भी डोज नहीं बचनी चाहिए. सभी सेंटरों पर वैक्‍सीन पहुंचा दी गई.
    स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि वैक्सीन के दुष्प्रभाव नहीं होने के चलते कहीं भी टीकाकरण किया जा सकता है. इसी वजह से जिले में क्‍लस्‍टर के तहत धर्मशाला, स्कूल, मंदिर और सामुदायिक भवनों में भी वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं. टीकाकरण के लिए तीन मेडिकल कालेज के प्रशिक्षु नर्स, प्राइवेट अस्पताल का स्टॉफ और एनजीओ की मदद ली जा रही है. लोगों तक टीकाकरण की जानकारी पहुंचाने के लिए आशा, क्षेत्रीय एएनएम, मेडिकल स्टॉफ नगरीय क्षेत्र में पार्षद और ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम प्रधानों से संपर्क किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज