होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

क्या आपको राष्ट्रगान गाने के लिए विवश किया जा सकता है? क्यों HC ने दिल्ली पुलिस को लगाई फटकार?

क्या आपको राष्ट्रगान गाने के लिए विवश किया जा सकता है? क्यों HC ने दिल्ली पुलिस को लगाई फटकार?

National Anthem: आम आदमी के मौलिक अधिकार को लेकर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं.

National Anthem: आम आदमी के मौलिक अधिकार को लेकर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं.

दिल्ली दंगों (Delhi Riots-2020) के दौरान फैजान (Faizan) नाम के एक शख्स का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल (Viral) हुआ था. फैजान का यह वायरल वीडियो राष्ट्रगान गाने ( National Anthem) के लिए मजबूर करने का था. फैजान को पीटा भी जा रहा था और पीटने वाले दिल्ली पुलिस के ही कुछ पुलिसकर्मी थे. इस घटना के बाद ही फैजान की मौत हो गई थी. फैजान की मौत के बाद उसकी मां (Mother) किस्मतुन ने दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) में आरोप लगाया कि बेटे को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर किया गया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दिल्ली दंगों (Delhi Riots-2020) के दौरान फैजान (Faizan) नाम के एक शख्स का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से वायरल (Viral) हुआ था. फैजान का यह वायरल वीडियो राष्ट्रगान गाने ( National Anthem) के लिए मजबूर करने का था. फैजान को पीटा भी जा रहा था और पीटने वाले दिल्ली पुलिस के ही कुछ पुलिसकर्मी थे. इस घटना के बाद फैजान की मौत हो गई थी. फैजान की मौत के बाद उनकी मां (Mother) किस्मतुन ने दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) में आरोप लगाया कि बेटे को राष्ट्रगान गाने के लिए मजबूर किया गया. दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार को फैजान की मां की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया कि आप डर या किसी के प्रभाव के बिना आगे की जांच करें.

फैजान की मां ने कोर्ट में याचिका दायर की है, जिसमें विशेष जांच दल के माध्यम से अपने बेटे की मौत के मामले की जांच कराने का निर्देश देने की मांग की है. फैजान की मां ने अपनी याचिका में दावा किया था कि उनके बेटे को अवैध रूप से हिरासत में लिया गया और स्वास्थ्य संबंधी देखभाल से वंचित रखा गया. इसके बाद 26 फरवरी को मेरे बेटे की मौत हो गई.

Delhi riots case, Delhi Riot, umar khalid arrested, Umar Khalid bail plea, delhi police, Delhi News Alert, delhi court, tahir hussain, delhi news Update, दिल्ली दंगे, उमर खालिद, दिल्ली की अदालत, दिल्ली दंगों की सुनवाई, दिल्ली दंगे न्यूज़ अपडेट

पीड़ित पक्ष की वकील वृंदा ग्रोवर ने न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता द्वारा पारित एक पूर्व आदेश का उल्लेख किया. (Photo-File)

राष्ट्रगान गाने को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट क्यों सख्त?
पीड़ित पक्ष की वकील वृंदा ग्रोवर ने न्यायमूर्ति मुक्ता गुप्ता द्वारा पारित एक पूर्व आदेश का उल्लेख किया, जिसमें कोर्ट ने मृतक की हिरासत से पहले तैयारी, एमएलसी में चोटों की संख्या में वृद्धि के संबंध में भ्रम और विसंगतियों को लेकर पुलिस से सवाल पूछा था. उस मामले में एमएलसी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दिखाई देने वाली चोटों में अंतर था. इसी पर कोर्ट ने पूछा कि इस तरह के केस में दस्तावेज संरक्षित रखे जाते हैं?

ये भी पढ़ें: होली के मौके पर इन राज्यों में व्हिस्की, बीयर, वाइन के साथ देशी शराब भी हुई अब और सस्ती

ऐसे में एक बार फिर से आम आदमी के मौलिक अधिकार को लेकर कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं. फरवरी 2020 में दिल्ली दंगों में राष्ट्रगान गाते हुए फैजान ने दम तोड़ दिया था. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या किसी शख्स से राष्ट्रगान जबरदस्ती गवाया जा सकता है? शायद आने वाले दिनों में फैजान केस से स्थिति बहुत कुछ साफ हो जाएगी.

Tags: DELHI HIGH COURT, Delhi police, Delhi riots, Delhi riots case

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर